पहले दोस्तो ने साथ मे पार्टी की, पुलिस के दबिश देने पर हुआ विवाद

 

 

आरोपियों के समर्थक पुलिस पर दवाब बनाने के लिए थाने पर एकत्रित हुए, पुलिस ने खदेड़ा किया मामला दर्ज

 

गोहद प्राप्त जानकारी के अनुसार डांग पहाड़ निवासी कमल नागर व उसके साथियों ने सिरोल में जाकर पार्टी की पार्टी के दौरान पुलिस ने दबिश दे दी जिस कारण दोस्तो में विवाद हो गया उसी आपसी विवाद के चलते आरोपी कमल नागर ने अपने साथियों के साथ फरियादी मेघ सिंह पुत्र अशोक सिंह जाटव उम्र 29 साल निवासी छरेठा थाना एण्डोरी जिला भिण्ड दिनांक 04/01/2022 को समय करीबन शाम 4 बजे अपने दोस्त हर्ष वर्धन के साथ मालनपुर हनुमान चौराहा पर मोबाइल खरीदने के लिये गया था तभी वहा पर शिवा, वंश प्रताप जाटव उर्फ नगद व कमल नागर तथा एक अन्य व्यक्ति आये और पुलिस में शिकायत करने की बात को लेकर गाली गलोच करने लगे जब मैने गालियाँ देने से मना किया तो मुझे तीनो लोगो ने मिलकर हाथ मुक्को से मारपीट किया जब मेरे दोस्त हर्ष वर्धन ने बीच बचाव करना चाहा तो उसे धक्का देकर दूर कर दिया और मुझे गाड़ी में बिठालकर डांग पहाड़ पर ले जाकर नंगा करकर फिर मारपीट की और वही पर छोड़ दिया उन लोगो ने मुझे जाते समय धमकी दी कि अगर हमारे बारे में कभी भी पुलिस को खबर दी या थाने पर रिपोर्ट की तो तुझे जान से खत्म कर देंगे। दो दिन तक डर के कारण में रिपोर्ट करने नहीं आया था। दूसरी घटना में आरोपी कमल नागर व उसके साथियों द्वारा

फरियादी सुरेन्द्र जाटव पुत्र उदयसिंह जाटव उम्र 33 साल नि० छरेटा थाना एण्डोरी ने रिपोर्ट की कि मेघ सिंह ने कमल नागर के खिलाफ थाना मालनपुर मे रिपोर्ट की थी जिस पर से मेरा कमल नागर से विवाद हो गया था उसी रंजिश पर से आज दिनांक 07.01.22 के समय करीबन दिन के 01.30 बजे मै और मेघसिंह अपने दोस्त की अल्टो कार से थाना मालनपुर से गोहद अधिकारियों से मिलने जा रहे थे जैसे ही बूटी कुईया पर पहुँचे उसी समय मेरे पीछे से एक ग्रे कलर की कार ने मेरी कार के आगे लगा कर रोक लिया जिसमे कमल नागर था और तभी पीछे से दूसरी बुलैरो क्रमांक MP07CG 6040 आकर रूकी जिसमे पवन आर्य और उसका भाई जितेन्द्र निवासी बिछौली के आये और तीनों ने मुझे गाडी से उतार कर अपनी गाडी मे बिठा लिया और कमल नागर मुझे अपने गाँव डांग ले गये जहाँ पर जितेन्द्र, पवन आर्य व कमल नागर तीनों लोगों ने मुझे पटक कर नंगा कर मेरी लाठी डण्डों से मारपीट की जिससे मेरे दाहिने आँख, बांये पैर, पीछे पीठ मे जगह जगह चोटों आयीं है तीनों कह रहे थे अगर थाने मे रिपोर्ट करने गया तो जान से खत्म कर देंगे इसके बाद मै ग्राम डांग से मौका पाकर भाग आया घटना मैने अपने भाई दीपचन्द्र व महाराजसिंह को बतायी ओर थाने में आकर रिपोर्ट की। आरोपियों के समर्थकों ने पुलिस पर दवाब बनाने के लिए थाने पर एकत्रित हुए लेकिन पुलिस ने समर्थकों को खदेड़ दिया और आरोपियों पर मामला दर्ज कर लिया और मामला की जांच शुरू कर दी है।

 

वर्जन:- सिरोल में पार्टी के दौरान पुलिस ने दबिश दी जिस पर आपस मे विवाद हुआ जिसकी फरियादी की रिपोर्ट पर मामला दर्ज कर लिया और मामला की जांच शुरु कर दी है

नरेंद्र सोलंकी एसडीओपी गोहद