कोरोना से लड़ने के लिए कनाडा ने विकसित किया , नाक में डालने वाला स्प्रे

कनाडा .Desk/ @www.rubarunews.com-वर्ष 2019 से चाइना से शुरू हुआ कोरोना covid19 विश्व के हर देश मे कोहराम मचा चुका है। भारत मे भी प्रत्येक दिन 4 लाख करीब मामले सामने आरहै है। कोरोना से बचने के लिए सभी डाक्टर्स अलग अलग प्रयास कर रहे हैं।

वहीँ कनाडा ki SANOTIZE कंपनी ने इजारयल और ब्रिटेन की सहायता से एक नॉजल स्प्रे यानी नाक में डालने वाला स्प्रे तैयार किया है।यह एक नाइट्रिक ऑक्साइड नेजल स्प्रे (nitric oxide nasal spray) है जिसका काम नाक में ही वायरस को खत्म करना है । कनाडा ने यह नॉजल स्प्रे के बारे में कहा की नाक से होते हुए कोरोना शरीर में प्रवेश करता है, इसलिए नेजल यह स्प्रे असरदार साबित हो सकता है।

◆आइये जानते है इस नाइट्रिक ऑक्साइड नेजल स्प्रे से जुड़ी कुछ विषश बाते
sanotize द्वारा निर्मित एब नॉजल स्प्रे को बैक्टीरिया, फंगी, हेल्मिन्थ (helminths) प्रोटोजोआ और वायरस के खिलाफ काफी असरदार माना गया था इसके बाद सितंबर 2020 में SARS-CoV-2 वायरस पर भी इसे टेस्ट किया गया। ट्रायल में 79 लोगो पर इसका परीक्षण करने के बाद पाया गया कि यह स्प्रे 24 घंटों के अंदर ही वायरल के असर को 95% तक कम कर सकता है और 72 घंटों में इसका असर 99% तक था । ब्रिटेन में पाए गए कोरोना वायरस के नए वैरिएंट से संक्रमितों पर भी यह कारगर रहा।

◆स्प्रे के ट्रायल चीफ इन्वेस्टिगेटर वायरलॉजिस्ट डॉ. स्टीफेन विंचेस्टर का कहना था कि यह स्प्रे नाक के जरिये
नाइट्रिक ऑक्साइड रिलीज करता है, जिससे की कोरोना संक्रमित के साथ या उसके पहले व बाद में भी नाक में ही वायरस को खत्म करसकता है। स्प्रे का तीसरा ट्रायल नही हुआ है पर WHO ने भी रिसर्च के बाद इसके आपातकालीन उपयोग को सहमति देदी है।

◆ CSIR यानी काउंसिल ऑफ साइंटिफिक एंड इंडस्ट्रियल रिसर्च के कोविड स्ट्रेटजी ग्रुप के चेयरमैन हैं प्रोफेसर राम विश्वकर्मा भी कहते है कि भारत में भी इस तर्ज के स्प्रे पर काम चल रहा है। भारत की बायोटेक कंपनी कोवैक्सिन के साथ साथ नेजल वैक्सीन कोरोफ्लू के ट्रायल्स पर भी जनवरी में ही काम शुरू कर चुकी है।

◆ SaNOtize के CEO डॉ. गिली रेगेव ने अपने बयान में यह दावा करते हुए कहा कि Nitric oxide नॉजल स्प्रे किसी भी तरह के वायरस को मारने में सक्षम है।
अब देखना यह होगा की यह नॉजल स्प्रे कब तक विश्व के बाकी देशो के लिए कब तक उपलब्ध होपायेगा और यह कोरोना वायरस से लड़ने में कितनी मदद करता है।