देव दर्शन यात्रा के बहाने वसुंधरा राजे का केशवराय पाटन में बड़ा शक्ति प्रदर्शन……

बूंदी.KrishnakantRathore/ @www.rubarunews.com – वसुंधरा राजे ने अपने जन्म दिवस के अवसर पर बूंदी जिले के केशवरायपाटन में देव दर्शन यात्रा के बहाने बड़ा शक्ति प्रदर्शन करते हुए भारतीय जनता पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व को यह संदेश दे दिया कि राजस्थान की राजनीति में अब भी उनकी पकड़ कमजोर नहीं है। 2023 में होने वाले विधानसभा चुनावों के पहले पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने भगवान केशवराय के दरबार में चंबल नदी के तट पर एक बार फिर से हुंकार भरी है। राजे ने कहा कि वह ना रुकेगी ना झुकेगी और प्रदेश की जनता की सेवा करती रहेगी। उन्होंने अपने विरोधियों को संदेश देने के साथ ही कांग्रेस पर भी जमकर निशाना साधा। राजे ने कहा- राजनीति के लिए मेहनत करनी पड़ती है, तपना पड़ता है। चाहे कितना ही बड़ा दिमाग हो, लेकिन दिल नहीं है तो राजनीति नहीं कर सकते।

मैंने मेरी मां विजया राजे सिंधिया से राजनीति सीखी है।

मंच से इशारों ही इशारों में उन नेताओं को भी जवाब दिया, जो बीजेपी में अपने आपको सीएम का दावेदार बताने में लगे हैं। उन्होंने अपने कार्यकाल में किए गए कामों को गिनाया। पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया की कार्यकर्ताओं व भाजपा नेताओं के बीच लोकप्रियता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि उनके जन्म दिवस के अवसर पर देव दर्शन यात्रा की शुरुआत के मौके पर 9 सांसद, 37 विधायक, 100 पूर्व विधायक सहित राजस्थान के अधिकतर जिलों के भाजपा जिला
अध्यक्ष मौजूद रहे।

कर्ज माफी को लेकर कांग्रेस पर निशाना..…..
जनसभा को संबोधित करते हुए वसुंधरा राजे ने कांग्रेस सरकार पर जमकर निशाना साधा। राजे ने कहा कि राजस्थान में जब कांग्रेस सरकार आई थी तो उन्होंने 10 दिन के अंदर किसानों का कर्जा माफ करने की बात कही थी। अफसोस अभी तक कर्जमाफी नहीं हुई है। उन्होंने जनता से पूछा कि क्या आपका कर्ज माफ हुआ? राजे के इस सवाल के जवाब में लोगों ने नहीं में जवाब दिया। 2003 में बीजेपी को राजस्थान में पहली बार रिकॉर्ड मत और 120 सीटें मिली थीं। साल 2013 में रिकॉर्ड 163 सीटें हमें मिली थीं। 3 का आंकड़ा बीजेपी के लिए शुभ है। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि हमें 2023 में 2003 और
2013 से भी ज्यादा वोट मिलेंगे।

राजे को लेकर कार्यकर्ताओं में दिखा उत्साह..
राजे के जन्मदिन पर आयोजित सभा में उनको सुनने के लिए लोगों में गजब का उत्साह दिखा। प्रदेशभर से बड़ी संख्या में पार्टी कार्यकर्ता, समर्थक और आम लोग राजे को सुनने के लिए यहां पहुंचे थे। उत्साहित लोगों ने वसुंधरा राजे के समर्थन में जमकर नारे लगाए। सभा के बाद राजे चंबल घाट पहुंचीं, जहां नदी के किनारे पूजा-अर्चना करते हुए दीपदान किया। इसके बाद राजे ने चंबल को 500 मीटर की चुनरी ओढ़ाई।
वसुंधरा राजे ने मंगलवार सुबह केशवरायपाटन मंदिर पहुंचकर पूजा- अर्चना की थी। पूर्व मुख्यमंत्री राजे पट बंद होने से 1 मिनट पहले मंदिर में प्रवेश कर पाई थीं। इसके बाद राजे ने विधि-विधान से पूजा अर्चना करते हुए प्रदेश में सुख- समृद्धि और खुशहाली की कामना की।

बूंदी से रुपेश शर्मा की अगुवाई में पहूँचे हजारों कार्यकर्ता..
केशवरायपाटन में आयोजित हुई देव दर्शन यात्रा की तैयारियों को लेकर पूर्व प्रदेश कार्यसमिति सदस्य भाजपा नेता रुपेश शर्मा बूंदी विधानसभा क्षेत्र में कई दिनों से जुटे हुए थे भाजपा नेता रुपेश शर्मा ने गांव गांव पहुंच कर कार्यकर्ताओं से पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया के जन्म दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में भाग लेने केशवरायपाटन पहुंचने की अपील की थी और बूंदी विधानसभा क्षेत्र के भाजपा कार्यकर्ताओं ने भी भाजपा नेता रुपेश शर्मा की बात को खाली नहीं जाने दिया। कार्यकर्ताओं ने रुपेश शर्मा की बात का मान रखते हुए सैकड़ों वाहनों से हजारों की संख्या में कार्यक्रम में पहुंच अपनी उपस्थिति दर्ज कराई। बूंदी जिले के भाजपा जिलाध्यक्ष छीतर लाल राणा सहित विधायक अशोक डोगरा ने इस इस कार्यक्रम से दूरी बनाए रखी
लेकिन बूंदी नगर परिषद के नेता प्रतिपक्ष मुके श माधवानी के शवरायपाटन में आयोजित कार्यक्रम में शामिल होते दिखे।

शक्ति प्रदर्शन में शामिल हुए 9 भाजपा सांसद…..
मुख्यमंत्री बसुंधरा राजे के जन्म दिवस पर आयोजित शक्ति प्रदर्शन में राजस्थान के 9 सांसदों ने शामिल होकर केंद्रीय नेतृत्व को चुनौती दी है। केशोरायपाटन में आयोजित देव दर्शन यात्रा में सांसद अर्जुन लाल मीणा, दुष्यंत सिंह, मनोज राजोरिया, राहुल कस्वां, रामचरण बोहर , सुखबीर जौनपुरिया, भागीरथ चौधरी, रामकुमार वर्मा, रंजीता कोली मौजूद रहे।

पाटन में उमड़ा जनसैलाब, कई किलोमीटर लंबा लगा रहा जाम..….
वसुंधरा राजे को सुनने केशवराय पाटन में जनसैलाब उमड़ पड़ा। भीड़ इतनी थी की पुलिस व आयोजकों के पसीने छूट गए फिर भी भीड़ नियंत्रित नहीं हो पाई। यहां वसुंधरा राजे को सुनने आई भीड़ का एक बड़ा हिस्सा सड़क पर जाम में ही फंसा रह गया। सैकड़ों बसें कई किलोमीटर लंबे जाम में फंसने के कारण हजारों कार्यकर्ता कार्यक्रम स्थल पर पहुंच भी नहीं सके लेकिन फिर भी कार्यक्रम स्थल की स्थिति यह थी कि बहां पैर रखने की ठोर नहीं थी, भाजपा पदाधिकारियों ने कार्यक्रम में एक लाख से अधिक कार्यकर्ताओं के पहुंचने का दावा किया है।

कार्यक्रम में शामिल हुए 37 विधायक, 3 ने निवास पर दी बधाई….
केशवरायपाटन में आयोजित कार्यक्रम में 34 भाजपा विधायक एवं 3 निर्दलीय विधायकों ने भाग लिया वहीं 3 भाजपा विधायकों ने  पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के निवास पर जयपुर में ही मुलाकात कर उन्हें जन्मदिवस की शुभकामनाएं प्रेषित की | कार्यक्रम में भाजपा विधायक कैलाश मीणा, हरेन्द्र निनामा, गोपीचंद मीणा, शंकर रावत, पूराराम, संतोष बावरी, कालीचरण सराफ, अशोक लाहोटी, अनिता भदेल, चंद्रकांता मेघवाल, विठ्ठल अवस्थी, नरेंद्र नागर, कालू लाल मेघवाल, कल्पना देवी राजे, धर्मेंद्र मोची, गुरदीप शाहपीणी, अर्जुन जीनगर, पुष्पेंद्र सिंह राणावत, शोभा चौहान, शोभा कुशवाहा, समाराम गरासिया, कैलाश मेघवाल, निर्मल कुमावत, झाबर सिंह सांखला, गोपीचंद मीणा जहाजपुर, कन्हैयालाल चौधरी, बिहारी लाल बिश्नोई, जोराराम कुमावत, छगन सिंह राजपुरोहित, अविनाश गहलोत, गोपाल खंडेलवाल, गोविंद रानीपुरिया, संजय शर्मा और प्रताप सिंह सिंघवी तथा 3 निर्दलीय विधायक ओमप्रकाश हुड़ला, खुशवीर सिंह जोजावर व सुरेश टांक मौजूद रहे। तीन भाजपा विधायकों दीप्ति माहेश्वरी, मंजीत धर्मपाल एवं सूर्यकांता व्यास ने वसुंधरा राजे को जयपुर स्थित आवास पर जाकर बधाई दी ।

100 पूर्व विधायकों सहित अधिकतर कोटा बून्दी को छोड कर अन्य जिलाध्यक्षों ने भी लिया भाग…..
पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया का भाजपा के कद्दावर नेताओं में भारी क्रेज नजर आया। कार्यक्रम में बड़ी संख्या में सांसदों व विधायकों के साथ ही करीब 100 पूर्व विधायकों सहित अधिकतर भाजपा जिलाध्यक्षों ने भी भाग लिया। कार्यक्रम में भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष एवं पूर्व विधायक अशोक परनामी, नैनवां के पूर्व विधायक प्रभुलाल करसोलिया, राजपाल सिंह शेखावत, श्रीचंद कृपलानी, डॉ.रोहिताश्च शरमा, बाबूलाल बैरवा, यूनुस खान, भवानी सिंह राजावत, प्रह्मद गुंजल, विद्याशंकर नंदवाना, रामचंद्र सुनारीवाल, राव राजेन्द्र सिंह, रणधीर सिंह भिंडर समेत कई नेता शामिल रहे। नैनवां प्रधान पदम नगर एवं हिंडोली प्रधान कृष्णा माहेश्वरी भी कार्यक्रम में मौजूद रही।