हमारे लिए एक ही पृथ्वी है, इसे हम मिलकर घर की तरह सुंदर बनाएं – कलेक्टर

बूंदी.KrishnakantRathore/ @www.rubarunews.com-विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर रविवार को खेल संकुल से बून्दी ने सिंगल यूज प्लास्टिक के विरुद्ध भारी संख्या में एक साथ “पर्यावरण के लिए दौड़” लगाई। जिलास्तरीय आयोजन में बच्चे से लेकर युवा व वरिष्ठ नागरिक महिला पुरुषों ने जोश व उमंग के साथ सुबह पांच बजे से ही एकत्र होकर इस जनचेतना आयोजन को भव्यता प्रदान की, जनमानस को एक जुलाई से प्रतिबंधित होने जा रहे सिंगल यूज प्लास्टिक के विरुध्द जागरूक करने के लिए इस दौड़ का आयोजन क्षेत्रीय प्रदूषण नियंत्रण मंडल के तत्वावधान में किया गया।

आयोजन की मुख्य अतिथि जिला कलेक्टर रेणु जयपाल रही, विशिष्ट अतिथि डीएफओ सोनल जोरिहार, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण सचिव अपर जिला व सेशन न्यायाधीश सुनील कुमार यादव, एडीएम करतार सिंह, जिला खेल अधिकारी वाई.बी. सिंह व नेहरू युवा केन्द्र के जिला युवा अधिकारी कशिश जेठवानी रहे। मुख्य अतिथि के रुप में बोलते हुए जयपाल ने कहा कि हमारे पास एक ही पृथ्वी का विकल्प है, हमें पर्यावरण संरक्षण के प्रति अपना दायित्व निभाना चाहिए। हम पृथ्वी को घर की तरह सवारें, हरा भरा बनाने में योगदान दें, पर्यावरण से ही मानव की स्वस्थता व खुशहाली जुड़ी है। विशिष्ट अतिथि जोरिहार ने पर्यावरण दिवस के आयोजन को सराहनीय बताते हुए कहां कि अपने दैनिक जीवन में हम पर्यावरण हितैषी आदतों को आत्मसात करें , दूसरों को भी प्रेरित करें व पर्यावरण संरक्षण की दिशा में अपना महत्वपूर्ण योगदान दें। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव यादव ने पॉलिथीन उपयोग के खतरों पर प्रकाश डालते हुए कहा कि इस पर नियंत्रण के लिए अब हमें सजग होना होगा, उन्होंने आयोजन को सार्थक व महत्वपूर्ण बताया। एडीएम करतार सिंह ने मानव क्रियाकलाप व उसके प्रकृति पर प्रभाव के साथ मानव जीवन के लिए संरक्षित पर्यावरण के महत्व पर प्रकाश डाला।विभाग की रीजनल ऑफिसर निधि खंडेलवाल ने स्वागत उद्बोधन में सिंगल यूज प्लास्टिक के खतरों की जानकारी देते हुए बताया कि 1 जुलाई से इसका उपयोग प्रतिबंधित होने जा रहा है अतः अभी से इसके विरुद्ध हम सबके द्वारा स्वयं अमल करते हुए, व्यापक जनचेतना का वातावरण निर्मित किया जाए। खेल अधिकारी वाईबी सिंह ने आभार प्रकट किया। रैली का संचालन व समन्वय सामाजिक कार्यकर्ता सर्वेश तिवारी ने किया।

सुबह जल्दी ही मैदान में जुटे स्कूली विद्यार्थी, पुलिस के जवान, स्काउट गाइड, एनएसएस, एनसीसी, खिलाड़ी,प्रकृति प्रेमी समाजसेवी, वृद्ध व युवा महिला व पुरुष प्रतिभागियों से खचाखच भरे प्रतिभागियों के समूह का उत्साह देखने लायक था, धावकों को जिला कलेक्टर जयपाल ने हरी झंडी दिखाकर खेल संकुल से रवाना किया। स्वयं कलक्टर जयपाल व प्रशासनिक पदाधिकारीगण भी दौड़ में शामिल हुए । सिंगल यूज प्लास्टिक को ना कहे सन्देश की टी शर्ट पहने यह दौड़ सर्किट हाउस, अहिंसा सर्किल, रानी जी की बावड़ी, लंका गेट होते हुए वापस खेल संकुल पहुंची, जहां अतिथियों द्वारा विजेताओं को पुरस्कृत किया । संभागियों को प्रमाण पत्र व कपड़े के बने थैलो का वितरण किया गया।

यह रहे विजेता

प्रतियोगिता दौड़ में बहुत कम समय में दौड़ को पूरा कर कैलाश चंद मीणा ने प्रथम स्थान प्राप्त किया। वहीं लक्ष्मण मीणा द्वितीय तथा शिव शंकर प्रजापत तृतीय स्थान पर रहे। महिला वर्ग में शिल्पा मीणा अव्वल रही द्वितीय स्थान केंद्रीय विद्यालय की छात्रा स्वस्ति मेघवाल ने तथा तृतीय स्थान कोटा कॉलेज की प्रथम वर्ष छात्रा हिमानी वर्मा ने प्राप्त किया। सभी विजेताओं को अतिथियों ने रीजनल प्रदूषण नियंत्रण मंडल के द्वारा प्रदत्त शील्ड ट्रॉफी व प्रमाण पत्र द्वारा सम्मानित किया ।

उमंग संस्थान के सचिव कृष्णकांत राठौर, समन्वयक सर्वेश तिवारी, प्रभारी कुश जिंदल, गुरमीत सिंह,जय सिंह सोलंकी,नंदकिशोर सैनी व अनिल मेहरा तथा प्रदूषण नियंत्रण मंडल के पर्यावरण अभियंता जितेंद्र चतुर्वेदी, राहुल शर्मा, दिलीप कुमार मीणा व अक्षय जांगिड़ सहित यातायात पुलिस, मेडिकल टीम,नेहरू युवा केन्द्र दल ने रैली आयोजन व व्यवस्थाओं में विशेष सहयोग प्रदान किया।