जनप्रतिनिधियों के मुद्दों को गंभीरता से लें, परिणाम तक ले जाएं- खेल राज्यमंत्री

          बून्दी.KrishnakantRathore/ @www.rubarunews.com-  युवा मामले एवं खेल राज्य मंत्री श्री अशोक चांदना ने कहा कि जनप्रतिनिधियों के उठाए मुद्दांे को गंभीरता से लिया जाए और त्वरित कार्रवाई हो। पूर्ण हो चुके कार्यो का समय पर भुगतान हो। पेयजल समस्या से ग्रस्त क्षेत्रों के प्रस्ताव बनाए जाएं तथा त्वरित कार्रवाई हो। वंचित ग्रामीणांे को यथाशीघ्र विद्युत कनेक्शन दिए जाएं। अधिकारी बैठक को गंभीरता से लें और अनिवार्यतः उपस्थित हों।
श्री चांदना शुक्रवार को आयोजित बूंदी जिला परिषद की प्रथम बैठक में सम्मिलित हुए। बैठक की अध्यक्षता जिला प्रमुख श्रीमती चन्द्रावती कंवर ने की। बैठक के आरंभ में जिले में कोरोना महामारी से मृत हुए लोगों को श्रृद्धांजलि स्वरूप दो मिनट का मौन रखकर श्रृद्धांजलि दी गई।

राज्यमंत्री श्री चांदना ने कहा कि वन क्षेत्र में आ रहे ग्रामीण क्षेत्रों में विद्युत के प्रस्ताव बनाकर भेजे जाएं। इस साल के अंत तक सभी को बिजली दें। धान रोपाई के समय विद्युत आपूर्ति एक घंटा अतिशीघ्र बढाकर 8 घंटे करने के निर्देश दिए। उन्होंने अवैध खनन की शिकायतों को गंभीरता से लिया और कहा कि तीनों विधान सभा क्षेत्र में तीनों विधायक मौका सर्वे कर दोषी के खिलाफ कार्रवाई करवाएंगे। कानून व्यवस्था की स्थिति पर असंतोष व्यक्त करते हुए निर्देश दिए कि व्यवस्था में सुधार हो। उन्होंने परिवहन अधिकारी एंव पुलिस को निर्देश दिए कि हेलमेट के नाम पर तथा बेवजह वाहनों को रोककर वसूली नहीं की जाए।

राज्यमंत्री की पहल पर जल जीवन मिशन में 10 प्रतिशत जन भागीदारी के मुद्दे पर सदन की सर्वसम्मति से इसे संशोधित करने के लिए राज्य सरकार के माध्यम से केन्द्र सरकार को अनुरोध पत्र भेजने का प्रस्ताव लिया गया। योजनान्तर्गत कार्य जारी रखने के भी निर्देश दिए। साथ ही पेयजल गुणवत्ता प्रभावित क्षेत्रों के प्रस्ताव शीघ्र बनाकर यथोचित कार्रवाई के निर्देश दिए।
बैठक में अनुपस्थित अधिकारियों के विरूद्ध निंदा प्रस्ताव लिया जाकर इसे डीओपी भिजवाने के निर्देश दिए। साथ ही निर्देश दिए कि जिला परिषद की बैठक में जिला, उपखण्ड एवं ब्लाॅक स्तरीय अधिकारी अनिवार्यतः उपस्थित हो। उन्होंने निर्देश दिए कि बैठक की निरंतरता रखी जाएगी तथा मुद्दों को चरणबद्ध तरीके से परिणाम तक ले जाएंगे।

बैठक में बूंदी विधायक अशोक डोगरा ने डाबी में अवैध खनन की शिकायत की तथा डाबी में थानाधिकारी लगाने की मांग रखी। केशोरायपाटन विधायक चन्द्रकांता मेघवाल ने भी क्षेत्र में अवैध खनन, अवैध वसूली, पेयजल, विद्युत आदि की समस्याएं प्रमुखता से उठाई। उन्होंने मांग की कि ब्लड बैंक का विस्तार हो। अन्य जनप्रतिनिधियों ने भी अपने-अपने क्षेत्र की पानी, बिजली,सडक आदि समस्याए उठाकर निराकरण की मांग रखी। जिस पर राज्य मंत्री ने आश्वस्त किया कि समस्याओं का समाधान शीघ्र होगा। बैठक में उपजिला प्रमुख बंशीलाल मीणा, पंचायत समिति प्रधान एवं जिला परिषद सदस्य मौजूद रहे।
बैठक में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, कोविड-19 प्रबंधन, नरेगा, वन अधिकार सहित अन्य मुद्दे उठाए गए। जिला कलक्टर आशीष गुप्ता ने विभिन्न मुद्दों पर अधिकारियों को आवश्यक निर्र्देश दिए। जिला परिषद सीईओ मुरलीधर प्रतिहार ने बिन्दुवार एजेंडा रखा।