श्रीमद् भागवत कथा यज्ञ 2 जनवरी से, भव्य कलश यात्रा से होगा शुभारम्भ

कोटा.KrishnakantRathore/ @www.rubarunews.com- शिक्षा नगरी कोटा में नए वर्ष के शुभारम्भ पर भक्ति रस की बयार बहेगी। किशोरपुरा स्थित छप्पन भोग परिसर में बिरला व अग्रवाल परिवार की ओर से 2 जनवरी 2023 से 7 दिवसीय श्रीमद् भागवत कथा यज्ञ का आयोजन किया जाएगा। 2 जनवरी को भव्य कलश यात्रा के साथ कथा का शुभारम्भ होगा। प्रात: 10 बजे बैंड व गाजे-बाजे के साथ भागवत जी का नगर भ्रमण के साथ कलश यात्रा निकाली जाएगी। कलश यात्रा दादाबाड़ी शास्त्री नगर स्थित सनातन धर्म मंदिर से प्रारम्भ होकर छप्पनभोग परिसर पहुंचेगी। कलश यात्रा में सैकड़ों महिलाएं सम्मलित होगी। वरिष्ठ डॉ. अमिता बिरला व अपर्णा अग्रवाल ने बताया कि परम पूज्य ब्रह्म्मलीन श्री अखण्डानन्द जी सरस्वती महाराज के आशीर्वाद से व्यास पीठ पर विराजमान श्री स्वामी श्री गिरिशानंद जी सरस्वती महाराज अपनी ओजस्वी, ललित एवं रसमयी अमृतवाणी में भागवत कथा का रसपान कराएंगे। कथा में स्वामी श्री मुक्तानंद जी पुरी महाराज का भी सानिध्य प्राप्त होगा। प्रथम दिवस गणेशादि पूजन, कथा महात्म्य एवं नारद चरित्रादि से श्रद्धालुओं का परिचय करवाया जाएगा। डॉ. अमिता बिरला व अपर्णा अग्रवाल ने सभी धर्मप्रमियों को कथा में पधारने का आग्रह करते हुए कहा कि श्रीमद्भागवत में जीवन की हर समस्या का निवारण है। श्रीमद्भागवत कथा हमें सत्य के मार्ग पर चलने की सीख देती है। सभी धर्म प्रमी बंधु इस महाकथा ज्ञान यज्ञ में सपरिवार पधारकर मंगलकारी कथा का श्रवण कर अपने जीवन को धन्य करें।

श्रद्धालु करेंगे राम चरित्र, कृष्ण लीलाओं का रसास्वादन
कथा के दौरान श्रद्धालु 3 जनवरी को कपिलोपाख्यान एवं ध्रुव चरित्र, 4 जनवरी को जड़भरत चरित्र एवं प्रहलाद चरित्र, 5 जनवरी को बलि-वामन प्रसंग एवं राम चरित्र, श्रीकृष्ण जन्म, नन्दोत्सव, 6 जनवरी को श्रीकृष्ण की बाल लीलाएं एवं गोवर्धन पूजा, छप्पनभोग, 7 जनवरी को महारासलीला श्रीकृष्ण मथुरा गमन एवं उद्धव चरित्र, रूक्मणि विवाह, 8 जनवरी को सुदामा चरित्र एवं शुकदेव विदाई प्रसंग का श्रवण करेंगे। 8 जनवरी को श्रीमद् भागवत् हवन, पूर्णाहुति व महाप्रसादी का वितरण किया जाएगा।