सगे भाईयो में बटवारे में चली गोली, भांजी के लगने से मौत, पुलिस जांच में जुटी

भिण्ड.ShashikantGoyal/ @www.rubarunews.com>> भारौली थाना क्षेत्रान्तर्गत एक अजीब मामला सामने आया है जहां भाईयोंं बंटवारे में गोली चलने से एक 10 वर्षीय बच्ची की मौत हो गई, जिसके बाद पंचायत में पंचों ने फैसला सुनाकर शव को दफना दिया और हत्यारों को पंचायत में सजा भानजी की हत्या और सजा 45 दिन समाज और गांव से बाहर रहेंगे। पाप धोने के लिए गंगा स्नान, फिर कन्या भोज और भंडारा देंगे। इसके बाद ही समाज में शामिल होंगे। हत्या के मामले में यह फैसला सुनाया है समाज के ठेकेदारों ने। एक दर्जन से ज्यादा गांव से समाज के 100 से ज्यादा लोग फैसला देने के लिए जुटे। वे पुलिस भी बन गए और जज भी। घटना के कुछ दिनों बाद मामला पुलिस तक पुलिस तक पहुंच गया और सच्चाई सामने आ गई। हत्या करने वाले आरोपी गांव से फरार हो गये हैं, फिलहाल पुलिस पूरे मामले की पड़ताल करने में जुटी हुई।

पुलिस के अनुसार भारौली थाने के सीताराम का पुरा गांव का है। विगत 7 मई 2021 को रामलखन कुशवाहा की मौत हो गई थी। 20 मई को राम लखन की तेरहवीं थी। तेरहवीं में मुरैना के डिरौली गांव से अट्टो देवी अपनी 10 वर्षीय बेटी के साथ मायके आई थीं। 21 मई की सुबह किसी बात पर मृतक राम लखन कुशवाह के बेटे मोनू सिंह और बुद्वे सिंह में झगड़ा हुआ। झगड़े के दौरान लाइसेंसी बंदूक से किसी ने गोली चला दीए जो अट्टो की बेटी को जा लगी। गोली लगने से मासूम की मौके पर ही मौत हो गई। वारदात को छिपाने लिए दोनों भाइयों ने अपनी बहन अट्टो बाई को मनाया और भानजी के शव को दफना दिया। गांव के किसी व्यक्ति ने भी पुलिस को सूचना नहीं दी।

पुलिस को गुमराह कर बंदूक थाने में कराई जमा

इसके बाद बंदूक को गलत जानकारी देकर थाने में जमा करवा दिया गया। सोमवार को वारदात के 18वें दिन सीताराम का पुरा में आरोपितों के घर समाज विशेष के लोगों की पंचायत हुई। इस पंचायत में भिंडए कटना पुराए बराय पुराए सरमन सिंह का पुराए सिकहाटाए नदरौलीए अकोड़ाए सीताराम का पुरा समेत एक दर्जन गांव के लोग इक_े हुएए जिनकी संख्या करीब 100 रही होगी। समाज की पंचायत में इस वारदात की घोर निंदा की गई। इसके बाद समाज के पंचों ने भी पुलिस को सूचना देना उचित न समझाते हुए स्वयं के स्तर पर निर्णय सुना दिया।

 

पंचायत ने माना दोनों भाइयों से हुई भानजी की हत्या

पंचायत में सुनाए गए निर्णय के मुताबिक बुद्वे और मोनू के हाथों से भानजी की मौत हुई हैए इसलिए इनसे पाप हुआ है। इस पाप को खत्म करने के लिए दो भाई तीन पात यानी 45 दिन घर से बाहर रहेंगे। 45 दिन की अवधि पूरी करने के बाद दोनों भाई गंगा स्नान करके आएंगे। इसके बाद गांव में भंडारा किया जाएगा और कन्या भोज का आयोजन किया जाएगा। पंचायत में शामिल समाज कुछ लोगों का मत था कि यह निर्णय गलत है।आरोपियों को कानून समाज दी जानी चाहिए।

 

पुलिस को लगी खबर, दोनों भाई परिवार सहित फरार

यह घटना की सूचना भारौली पुलिस को भी लग गई। घटना के देर रात पुलिस ने दोनों भाइयों के घर पर दबिश दी। दोनों भाई परिवार सहित फरार हो गए। थाना प्रभारी का कहना है कि पुलिस पूरे मामले की प?ताल में जुटी है।

इनका कहना है:

पंचायत लगने और भानजी की मौत पर निर्णय सुनाने की जानकारी लगी है। पुलिस मृतक बालिका का शव बरामद करेगी। आरोपियों पर कार्रवाई की जाएगी।

-मोतीलाल कुशवाहा, डीएसपी हेडक्वार्टर भिण्ड