पर्यावरण संरक्षण के लिये काम करेगा जीकेसी का गो ग्रीन क्लब : राजीव रंजन प्रसाद

    पटना, भागलपुर.Desk/ @www.rubarunews.com- ग्लोबल कायस्थ कॉन्फ्रेंस (जीकेसी) के सौजन्य से गो ग्रीन अभियान के तहत पर्यावरण एवं पारिस्थितिकी संतुलन के लिए भागलपुर के द ब्लू इंटरनेशनल स्कूल में पेटिंग कंपटीशन का आयोजन वर्चुअल किया गया, जिसमें उत्तीर्ण प्रतिभागियों की घोषणा कर दी गयी है।

जीकेसी के गो ग्रीन अभियान की शुरूआत जीकेसी की प्रबंध न्यासी श्रीमती रागिनी रंजन के मार्गदर्शन में समाज में जागरूकता लाने के उद्देश्य से किया जा रहा है। इसी के तहत पेटिंग कंपटीशन का आयोजन वर्चुअल किया गया। कार्यक्रम का संचालन गो ग्रीन अभियान की सह प्रभारी एवं द ब्लू बेल इंटरनेशनल स्कूल की प्राचार्य श्वेता सुमन ने किया। उनके निर्देशन में पेटिंग कंपटीशन में उत्तीर्ण हुए छात्र-छात्राओं के बीच प्रमाण पत्र की घोषणा वर्चुअल कर दी गयी है। इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में जीकेसी के ग्लोबल राष्ट्रीय अध्यक्ष राजीव रंजन प्रसाद और जीकेसी की न्यास प्रबंधक एवं “गो ग्रीन “की राष्ट्रीय प्रभारी श्रीमती रागिनी रंजन ने अपनी उपस्थिति से बच्चों का उत्साहवर्धन किया।

वर्चुअल कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के तौर पर जीकेसी जीकेसी डिजिटल-तकनीकी प्रकोष्ठ के ग्लोबल अध्यक्ष आनंद सिन्हा मौजूद थे। उन्होंने बच्चों को जागरूक करने के लिए कई ऊपयोगी उपायों को साझा किया साथ ही साथ आज के समय में टेक्नोलॉजी के महत्व पर चर्चा की और इसका प्रयोग समझदारी से करने की सलाह दी।मौके पर ज्यूरी सदस्य के तौर पर शामिल जीकेसी कला-संस्कृ़ति प्रकोष्ठ के वरिष्ठ राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रेम कुमार ने सभी प्रतिभागियों के उत्साहवर्धन किया और विद्यालय की सहभागिता की प्रशंसा की।

राजीव रंजन प्रसाद ने श्रीमती श्वेता सुमन की इस पहल का स्वागत करते हुये कहा कि उनके नेतत्व में पर्यावरण संरक्षण को नयी दिशा मिलेगी। उन्होंने ब्लू बेल इंटरनेशनल स्कूल के सभी बच्चों को हार्दिक बधाई एवं शुभकामना दी है। उन्होंने कहा कि आज के बच्चे कल का भविष्य हैं। स्कूल वह संस्थान है जहां बच्चों के चरित्र से लेकर भविष्य तक का निर्माण होता है।इस समय पूरी दुनिया पर्यावरण की समस्या से जूझ रही है।पर्यावरण प्रबंधन का एक महत्त्वपूर्ण पक्ष पर्यावरण शिक्षा है।यह शिक्षा मात्र विद्यालयों एवं विश्वविद्यालयों तक ही सीमित न होकर जन-जन को देना आवश्यक है।

श्रीमती रागिनी रंजन ने कहा श्रीमती श्वेता सुमन की पहल पर आयोजित कार्यक्रम सराहनीय है। उन्होंने कहा कि प्रत्येक विद्यालय में वृक्षारोपण कार्यक्रम चलाया जाना चाहिए। उन्होंने कहा पर्यावरण की सुरक्षा और संरक्षण का ध्यान रखना हमारा परम दायित्व बनता है। सभी को अपने स्तर पर पर्यावरण बचाने पर योगदान देना चाहिए। जहां जरूरी हो वहां पौधे लगाएं। आज पर्यावरण एक जरूरी सवाल ही नहीं बल्कि ज्वलंत मुद्दा बना हुआ है लेकिन आज लोगों में इसे लेकर कोई जागरूकता नहीं है। लोगों को पर्यावरण शिक्षा दिये जाने की जरूरत है। पर्यावरण शिक्षा वह माध्यम है जिसके द्वारा पर्यावरण तथा जीवन की गुणवत्ता की रक्षा की जा सकती है।

इस अवसर पर प्राचार्य श्वेता सुमन ,निदेशक आसिफ निसार, सारे शिक्षक गण ,अभिभावक एवं बच्चों को इस शानदार भागीदारी के लिए शुभकामनाएं दी गयी। आसिफ निसार को ग्रीन एम्बेसडर के खिताब से नवाजा गया और प्राचार्य श्वेता सुमन एवं सह प्रभारी ने अपने विद्यालय से “गो ग्रीन क्लब की शुरुआत करने की घोषणा की गयी,जिसके माध्यम से बच्चों को जागरूक करने एवं पर्यावरण संतुलन बनाये रखने जैसे उद्देश्यों को पूरा करने के लिए यह क्लब सक्रिय रहेगा। यह कार्यक्रम सिर्फ विद्यालय ही नही बल्कि अलग-अलग जगहों पर भी चलाये जाएंगे, जिससे समाज को जागरूक कर सकें और नई पीढ़ी को इस अभियान से जोड़ सकें ,जिससे हम वर्तमान और भविष्य को इस संकट से उबार पाएंगे।

श्वेता सुमन ने कहा मैंने विद्यालय की प्राचार्या एवं गो ग्रीन की राष्ट्रीय सह प्रभारी होने के नाते ग्रीन क्लब की शुरुआत की, जिसमें बच्चों को पर्यावरण के लिए जागरूक बनाने का संकल्प लिया गया।इस क्लब की संरक्षक हमारी राष्ट्रीय प्रभारी  रागिनी रंजन  होंगी। इस अवसर पर आनंद सिन्हा  का महत्वपूर्ण मार्गदर्शन मिला। में सभी ज्यूरी मेंबर्स का तहे दिल से शुक्रिया अदा करती हूँ, कि उन्होंने बच्चों के हुनर को प्रोत्साहित किया। आशा है इस तरह के आयोजनों से हम अपने उद्देश्यों को अवश्य प्राप्त करेंगे।