कॉफी विद कलेक्टर’ में सफाई कर्मियों से रूबरू हुए जिला कलेक्टर

कॉफी विद कलक्टर’ में सफाई कर्मियों से रूबरू हुए जिला कलक्टर
बूंदी.KrishnakantRathore/ @www.rubarunews.com-  जिला कलेक्टर डॉ. रविन्द्र गोस्वामी ने शुक्रवार को ‘कॉफी विद कलेक्टर’ कार्यक्रम में जिले के नगर निकाय क्षेत्रों में कार्यरत सफाई कर्मियों से बातचीत कर स्वच्छता पर चर्चा की। उन्होंने नगर परिषद एवं नगर पालिकाओं से आए सफाई कार्य से जुड़े कार्मिकों के हालचाल जाने।
कार्यक्रम में नैनवां, इन्द्रगढ़, लाखेरी, काप्रेन, केशवरायपाटन एवं बूंदी नगर परिषद में सफाई कार्य की जिम्मेदारी निभा रहे कार्मिकों से जिला कलेक्टर ने बातचीत की। उन्होंने कार्मिकों से वेतन, बच्चों की पढाई लिखाई आदि के बारे मंे जानकारी ली। इस दौरान उन्होंने सफाई कार्य में आने वाली चुनौतियां के बारे में उनके अनुभव भी जाने। उन्होंने कहा कि सफाई का कार्य चुनौतियां भरा कार्य है।
सामाजिक सुरक्षा योजना का लाभ दिलाने में बने मददगार
कार्यक्रम में जिला कलेक्टर ने कहा कि सफाई कार्य के साथ ही कार्मिक सामाजिक सुरक्षा योजनाओं का पात्र लोगों को लाभ दिलाने में मददगार बने। उन्होंने कहा कि सफाई कार्य से जुड़े होने से हर घर तक तक संपर्क रहता है। ऐसे में पात्र लोगों को जल्दी इन योजनाओं से लाभ पहुंचाया जा सकता हैं। उन्होंने कहा कि वर्तमान में दिव्यांगजन के साथ ही उसके बच्चों को पेंशन का प्रावधान हैं। ऐसे पात्र व्यक्तियों तक योजना की जानकारी पहुंचाए और प्रशासन को भी अवगत कराएं, ताकि उन्हंे अतिशीघ्र राज्य सरकार की योजना का लाभ पहुुंचाया जा सके।
सांझा किए अपने अनुभव
नगर निकाय क्षेत्रों में सफाई कार्य से जुडे़ कार्मिकों ने भी खुले दिल से अपने अनुभव और कार्य में आने वाली परेशानियों को जिला कलेक्टर के समक्ष रखा। उन्होंने जिला कलक्टर को भरोसा दिलाया कि उनकी मंशा के अनुसार स्वच्छता के पायदान पर बूंदी की रैकिंग को उपर लाकर ‘बेहतरीन बूंदी’ बनाने में कोई कसर नहीं रखेंगे।
कचरा गाड़ी में डालें कचरा, तभी रहेगी सफाई
जिला कलेक्टर ने कहा कि आमजन को उनके घरों और दुकानों का कचरा टीपर में डालने के लिए प्रेरित किया जाए। यह प्रवृति ही सफाई व्यवस्था को बनाए रखने में मददगार साबित होगी। उन्होंने कहा कि नगर निकाय क्षेत्रों में इसके लिए समझाईश की जावे, ताकि कचरे की समस्या से निजात मिल सके और शहर स्वच्छ बनें।