39वी नन्नी परी का पुष्प बिछाकर ढ़ोल-नगाड़ों से किया स्वागत

भिण्ड.ShashikantGoyal/ @www.rubarunews.com>> कैप्स संगठन द्वारा बुधवार को 39वीं नन्नी परी का स्वागत किया गया। यह कार्यक्रम शहर के हनुमान बजरिया मेेंं संगठन के सदस्यों द्वारा बड़े ही हर्षोउल्लास के साथ नन्ही परी का गृह प्रवेश कराया। 20 मई को जिला अस्पताल भिण्ड में बच्ची ने जन्म दिया था और 26 मई को कन्या का प्रथम गृह आगमन हुआ।  श्रीमती आनंदीश्री रामलखन बघेल कि पुत्र वधु श्रीमती पूजा-पुष्पेंद्र बघेल को जब  पुत्री के रूप में जब कन्या का जन्म हुआ तो उन्होंने कैम्प संगठन की अनवरत जारी मुहिम नन्हीं परी स्वागत महोत्सव को बड़े ही धूमधाम से करने का निश्चय किया। कोरोना गाइड लाइन को ध्यान में रखते हुए समिति सदस्यों के माध्यम से नन्हीं परी का  जिला अस्पताल के मुख्य द्वार से लेकर घर तक  बैंड-बाजों सहित ढोल और पुष्पवर्षा के साथ प्रथम गृह आगमन किया गया। बैंड बाजों के साथ कन्या को घर लाया गया, इसके साथ ही घर पर कन्या का पारंपरिक रूप से  स्वागत किया गया, बिटिया के स्वागत हेतु पूरे घर को पुष्प और गुब्बारों से सजाया गया।

 

घर पर कन्या की बुआ और दादी द्वारा पद चिह्नों की छाप ली गयी और माता-पिता के साथ कन्या का पुष्पमाला के साथ प्रथम गृह प्रवेश कराया गया। कन्या के इस तरह के गृह आगमन से परिवारीजन और नगर वासी अत्यंत उत्साहित थे। बिटिया के दादा, रामलखन बघेल ने कहा कन्या सदैव पूज्यनीय ही होती है। आज समाज में बदलाव की महक आ रही है, लोग बालक और बालिकाओं के विभेद को त्यागकर समान रूप से अपना रहे हैं। संगठन की इस पहल में यह कार्यक्रम हमारा एक छोटा सा योगदान है। यह ईश्वर का आशीर्वाद ही है,जो हमारे घर कन्या का जन्म हुआ और कन्या के रूप में लक्ष्मी माता का आगमन हुआ। इस अवसर पर सदस्य बबलू सिंधी, नीरज भदौरिया और तिलक सिंह भदौरिया एवं परिवारीजन उपस्थित रहे।