मां और बच्चों की अच्छी सेहत के लिए जिले भर मे मनाया गया मातृ, शिशु स्वास्थ्य एवं पोषण दिवस

बून्दी.KrishnakantRathore/ @www.rubarunews.com-मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ0 महेन्द्र कुमार त्रिपाठी ने बताया की गुरूवार को जिले मे मातृ शिशु स्वास्थ्य एवं पोषण दिवस का आयोजन किया गया। मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य दिवस पर पर गभर्वती महिलाओ का ई-संजीवनी ऐप के जरिए आॅनलाईन परामशर् करवाया गया। डाॅ0 त्रिपाठी ने बताया कि मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य को सुदृढ मनाने के लिए एमसीएचएन डे मनाया जाता है जिसमे गभर्वती महिलाओ की प्रसव पूवर् जाॅच व टीकाकरण कराया जाता है और उनके स्वास्थ्य की सम्पूणर् जाॅच करके उचित परामशर् व दवाईयां दी जाती है। गभर्वती महिलाओ को गभर्धारण के दौरान खान पान व पौष्टिक आहार लेने के बारे मे सलाह भी दी जाती है। डाॅ0 त्रिपाठी ने बताया जिला स्तरीय, खण्ड स्तरीय टीमो द्वारा टीकाकरण सत्र का निरीक्षण किया गया। टीम द्वारा टीकाकरण सत्र के निरीक्षण के दौरान गभर्वती महिलाओ एवं बच्चो को दिए जाने वाले टीको कि विस्तृत जानकारी प्राप्त की एवं आरसीएच रजिस्टर का निरीक्षण किया तथा लाभाथिर्यो से टीकाकरण के बारे मे फीडबेक लिया एवं जानकारी प्राप्त कि उन्होने ड्यूलिस्ट का भी अवलोकन किया। डाॅ0 त्रिपाठी ने निदेर्श दिए है कि जिले मे कोई भी गभर्वती महिला एवं बच्चा टीको से छूटना नही चाहिए। कोरोना महामारी के कारण यदि कोई टीकाकरण से छूट गया है तो उनका लिस्ट बनाकर टीकाकरण करना सुनिश्चित करे। कोविड-19 के संक्रमण से बचाव के लिए वैक्सीनेशन, सोशल डिस्टेसिंग, मास्क उवं सेनेटाइजेशन का पालन करते हुए एमसीएचएन डे आयोजित किए जाये।  जिले में कोराना संक्रमण की रोकथाम एवं उपचार गतिविधियों के अलावा मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य सेवाओं पर भी विशेष ध्यान दिया जा रहा है। इसी के तहत आज जिले में मातृ, शिशु स्वास्थ्य एवं पोषण दिवस का आयोजन किया गया। इसके तहत आज गभर्वती महिलाओं की एएनसी जांच, आवश्यक टीके एवं निःशुल्क दवाइयां दी गई तथा उन्हें उचित खान-पान एवं पोषण संबंधी जानकारी भी दी गई। नवजात शिशुओं को भी टीके लगाए गए एवं आवश्यक ड्रॉप्स पिलाई गई। सीएमएचओ डॉ. त्रिपाठी ने बताया कि जिले में आज गुरूवार को आंगनबाड़ी केन्द्रों, सब सेंटर, पीएचसी और सीएचसी पर कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क और अन्य सावधानियों का पालन कर मातृ, शिशु स्वास्थ्य एवं पोषण दिवस (एमसीएचएन डे) आयोजित किया गया। उन्होंने बताया कि गभर्वती महिलाओं और जन्म से 5 वषर् तक के बच्चों को नियमित टीकाकरण कायर्क्रम के तहत विभिन्न जानलेवा बीमारियों से बचाव के टीके लगाए गए। साथ ही गभर्वती महिलाओं की प्रसव पूवर् एएनसी जांचें भी कर गई। डॉ0 त्रिपाठी ने बताया कि आज जिले में एमसीएचएन के सैशन लगाए गए, जिनमें बच्चों का टीकाकरण किया गया एवं महिलाओं को आवश्यक टीके लगाए गए। उन्होंने कहा कि समस्त जिला एवं खण्ड स्तरीय अधिकारियों ने एमसीएचएन डे की मोनिटरिंग भी की।