संस्कृतभारती दतिया मध्यभारतम् के आरोग्यमित्रम् अभियान के अंतर्गत वेविनार सम्पन्न

आयुर्वेद परामर्श ऑनलाइन वेविनार आयोजित

दतिया@rubarunews.com>>>>>>>>>>>>>> संस्कृतभारती दतिया मध्यभारतम् के आरोग्य मित्रम् अभियान के अंतर्गत स्वस्थ्य रहने के लिए आयुर्वेद वैद्य से ऑनलाइन परामर्श में मुख्य वैद्यकीय परामर्श प्रो. के.के. सिजौरिया पूर्व अधिष्ठाता चिकित्सा वि देलही विश्वविद्यालय, नई दिल्ली द्वारा वक्तव्य दिया गया।

आयोजित परामर्श ऑनलाइन गूगलमीट एप के माध्यम से देते हुए वैद्यकीय परामर्शदाता प्रो. के.के. सिजौरिया ने पंचमहाभूतों का सविस्तार वर्णन करते हुए चार प्रकार की व्याधियों को विश्लेषित किया साथ ही शरीर और मन को स्वस्थ्य रखने के अनेकानेक उपाय बताए। वर्तमान में कोविड-19 संक्रमण महामारी को उन्होंने जनकोध्वंश बताया जिसके फैलने का प्रमुख कारण पंचतत्व प्रदूषण से रोग प्रतिरोधक क्षमता में कमीं आना बताया। कोरोना से बचे रहने के लिए शासन प्रशासन के दिशा निर्देशों का पालन करने, मास्क का उपयोग, हाथों को धोने के साथ ही सामाजिक दूरी बनाए रखने की सलाह देते हुए जठराग्नि चिकित्सा को मजबूत करने की व्यापक जानकारी दी।

उनके द्वारा ऋतु अनुसार भोजन करना, योग व्यायाम करना एवं सप्त द्रव्यों को घी में मिश्रित कर धूपन कर्म करने, कैमिकल सेनेटाइजर का उपयोग न करने का परामर्श दिया। चाय के स्थान पर त्रिकटु काढ़ा सेवन, भाप लेने की प्रक्रिया बताई।

भोज्य पदार्थों में भुने चने, अंकुरित दालें, आँवला सेवन, नीबू अदरक, लहसुन का सेवन करने से इम्युनिटी पावर वृद्धि के स्रोत बताए। सत्तू, मूंग की दाल, तिल का तेल, बकरी का दूध व गाय का घी सेवन करना सर्वोत्तम बताया। संक्रमण से बचाव हेतु नाक में अणु तेल, आखों में अंजन, सिर में बादाम तेल सेवन करते हुए शारिरिक व्यायाम करने पर जोर दिया। नकारत्मकता से बचने के लिए धर्म शास्त्रों का अध्ययन व सकारात्मक लेख पढ़ने की बात कही। वेविनार में सम्मिलित सभी से टीका लगवाने की अपील भी गई।

वेविनार का आयोजन संस्कृतभारती दतिया द्वारा किया गया। संस्कृतभारती दतिया के प्रचारप्रमुख मदन मोहन व्यास द्वारा या माता संस्कृति मूलः, सुर वाणी जन वाणी करुतुम, जयतु सस्कृतं, जयतु भारत प्रस्तुत करते गीतगान एवं अतिथियों का किया। ध्येयमन्त्र नगर अध्यक्ष ऋषिराज मिश्रा द्वारा प्रस्तुत किया गया।

कार्यक्रम की अध्यक्षता अनिल तिवारी संस्कृतभारती जिला अध्यक्ष दतिया ने की। संचालन डा. हरेन्द्र कुमार भार्गव ग्वालियरविभाग सहसंयोजक ने किया। अन्त में कल्याणमन्त्र का वाचन अशोक श्रीवास्तव जिला सम्पर्कप्रमुख ने किया। परामर्श के दौरान एएम सक्सेना सेवा निवृत्त प्राचार्य डाइट व रामजीशरण राय सामाजिक कार्यकर्ता ने प्रो. सिजौरिया से स्वास्थ्य संबंधी प्रश्न किए जिनके सरल व सहज ढंग से उत्तर मिले।

वेविनार में संस्कृतभारती मध्यभारत के प्रान्तसंघठनमंत्री नीरज दीक्षित, प्रान्तमन्त्री डॉ दिवाकर शर्मा, रामबाबू शर्मा राजेश लिटौरिया, दीपक दुबे, अभिराम शर्मा, बीएम दुबे, बृजमोहन शर्मा, दिवाकर शर्मा, धर्मेन्द्र अग्रवाल, डॉ भानु खरे, गजेन्द्र पांडेय, कविता समाधिया, केतन उपाध्याय, रामजीशरण राय, सरदार सिंह गुर्जर, बलवीर पाँचाल, अशोक शाक्य, जितेन्द्र सविता, मोहिनी गोस्वामी, राजेन्द्र पाराशर, रेखा शर्मा, संतोष राठौर, संतोष शर्मा, नवल किशोर त्यागी, कुंजबिहारी मिश्रा सहित संस्कृतभारती परिवार के पदाधिकारियों व सदस्यों ने सहभागिता की। उक्त जानकारी संस्कृतभारती, ग्वालियरविभाग के सहसंयोजक डा. हरेन्द्र कुमार भार्गव ने दी।