12 दिन चला एबीवीपी का आरोग्यम अभियानए 40  कार्यकर्ताओं ने जिले के 35 से अधिक गांव में किया स्वास्थ्य सर्वेक्षण

गोहद.ShashikantGoyal/ @www.rubarunews.com>> जैसे ही कोरोना की दूसरी लहर ने दस्तक दी तो शासन को भी नही पता था क्या करना चाहिए। ऐसे में कोरोना की दूसरी लहर ने नवयुवकों को और अधिकतर ग्रामीण क्षेत्रों में पैर पसारने शुरू कर दिये। देखने मे आया कई गांव में हालत खऱाब हो गई है। उस स्थिति को अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने समझा और ग्रामीण जनजीवन को बचाने के लिये अभाविप के कार्यकर्ता कमर कसकर कूद पडे। अभाविप के जिला संयोज़क ध्रुव शर्मा ने बताया है कि इस महामारी में जहां लोग अपनी जान बचाने को भाग रहे है वहीं विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ता योजनाबद्ध रूप से भयंकर महामारी से ग्रसित गांव में स्कैनिंग मशीन और ऑक्सीमटर आदि उपकरणों के साथ पहुंच गए।  इस दौरान कई लोगों ने अस्पताल न जाने के डर से कार्यकर्ताओं को कई लोगों ने गांव से भगाने की कोशिश परन्तु कार्यकर्ता लोगों को समझाकर माने।

12 दिनों में अभाविप के कार्यकर्ता जिले के 35 से अधिक गांव के 1200 से अधिक परिवारों में आठ हजार लोगों की स्कैनिंग करके स्वास्थ्य परीक्षण किया। गांव में जाकर पता चला कि कई लोग बीमार होने के बाद भी न तो दवाई ले रहे न ही स्वास्थ्य चेकअप करवा रहे है। इस दौरान कार्यकर्ताओं के समझाने पर उनका टेम्परेचर और ऑक्सिजन लेवल चेक किया तो बीमार पाए गए। बीमारी होने पर कार्यकर्ता उन्हें उचित सलाह के साथ साथ आंगनबा?ी और स्वास्थ्य विभाग की मदद से दवाइयां उनके घर पर ही उपलब्ध करवाते और अपना इमरजेंसी नंबर उपलब्ध करवाते थे। अभाविप के भूसेवक शर्मा बताते है 1 महीने से ही लोगों की सेवा के लिये अपने हेल्पलाइन नंबर जारी कर दिये गए है। इस दौरान उन नंबरों पर फोन के माध्यम से लोगों को 28 यूनिट रक्त उपलब्ध करायाए 31 लोगों को ऑक्सिजन सिलेंडर व बेडए अभी तक 138 लोगों को जागरूक करके वैक्सीन लगवाई तथा 103 लोगों तक भोजन के पैकेट पहुंचाए है। इसके अलावा मेहगांवए गोहदए मौए गोरमीए लहार इकाई के कार्यकर्ता प्रशासन के साथ ष्मे कोरोना वॉलंटियर्सष् के रूप में मदद कर रहे है।

संक्रमित व्यक्ति के घर पर करवाते है सेनिटाइजेशन

नगर में संक्रमित व्यक्तियों की जानकारी लगने पर कार्यकर्ताओं द्वारा उनके घरों में सैनिटाइजर का छिडकाव  भी करते है इसके अलावा नगर के पुलिस थानेए कचहरीए शासकीय कार्यालयों आदि में भी सैनिटाइजर का छि?काव किया गया।

अभी पांच दिन के लिये और बढ़ाया आरोग्यम अभियान

अभाविप के कार्यकर्ताओं ने ऑनलाइन मीटिंग के दौरान सुझाव दिये कि जब तक लॉक डाउन रहेगा तब तक हम ग्रामीण क्षेत्रों के अत्यधिक संक्रमण वाले गांव में जाकर स्वास्थ्य परीक्षण और करेंगे। इस अभियान को जिले की 6 इकाइयों में चलाया जा रहा है जिसमे भिंड के अलावा मेहगांव, गोहद, मौ, गोरम, फूप आदि प्रमुख है।