महिला सशक्तिकरण हमारा सामूहिक दायित्व – नागर

बून्दी.KrishnaKantRathore/ @www.rubarunews.com – केशवराव बलिराम हेडगेवार शिक्षक प्रशिक्षण महाविद्यालय व उमंग संस्थान के संयुक्त तत्वावधान में शनिवार को दौलतपुरा में एक दिवसीय महिला सशक्तिकरण सेमिनार का आयोजन किया गया, जिसमें महिला अधिकारिता विभाग बूंदी के सहायक निदेशक भेरू प्रकाश नागर मुख्य अतिथि रहे। सेमिनार में फ्री बीइंग मी अंतर्राष्ट्रीय व्यक्तित्व उन्नयन कार्यक्रम के जिला समन्वयक सर्वेश तिवारी व कामकाजी महिलाओं की समस्याओं पर शोधार्थी उमंग संस्थान अध्यक्ष सविता लॉरी मुख्य वक्ता थी। संभागीय को संबोधित करते हुए नागर ने कहा कि चिरकाल से महिलाओं कि समाज व राष्ट्र निर्माण में निर्विवाद भूमिका रही है। आधुनिक परिप्रेक्ष्य में जहां महिला सशक्तिकरण के क्षेत्र में नवाचारो की महती आवश्यकता है, वही महिला सशक्तिकरण एक सामूहिक दायित्व है, व्यापक जनचेतना के द्वारा ही प्रशस्त किया जा सकता है।
मुख्य वक्ता के रूप में बोलते हुए सर्वेश तिवारी ने परिचर्चा में विभिन्न दृष्टांतो द्वारा महिलाओं की सशक्त भूमिका का परिचय करवाते हुए महिलाओं की भूमिका के प्रति समाज मे समुचित सकारात्मक चिंतन व वातावरण निर्माण की आवश्यकता पर बल दिया। शोधार्थी लौरी ने इस अवसर पर कामकाजी महिलाओं की समस्याओं के परिप्रेस्क्ष्य में बाल विवाह, कन्याभ्रूण हत्या, लिंग परीक्षण व अन्य अपराधों पर चिंता प्रकट की। इस मौके पर प्रबंधन समिति के नरेन्द्र सिंह राणावत और विजय बहादुर हाडा, महिला अधिकारिता के रविराज मिश्रण मंचासीन रहे।

इससे पूर्व महिला अधिकारिता विभाग द्वारा सखी वन स्टॉप सेंटर काउंसलर मोना शर्मा के नेतृत्व में बेटी बचाओ बेटी पढाओं विषयक सेमिनार में महिला सुरक्षा व परामर्श, बाल विवाह, कन्या भ्रूण हत्या व घूंघट को ना कहें पर जनचेतना कार्यक्रमो का आयोजन किया गया।

आयोजन में छात्राध्यापक आकाश बैरवा, दशरथ सिंह, देवकरण गुर्जर, हरिप्रसाद, राशि माहेश्वरी तथा विजेता महिला सशक्तिकरण, महिला एक्शन प्लान स्वयं की समझ, लैंगिक जागरूकता, लैंगिक समानता पर शोधपत्र प्रस्तुत किये तो रामवती सैनी महिला सशक्तिकरण पर प्रेरणागीत की प्रस्तुति दी। सेमिनार का संचालन शिक्षा प्राध्यापक कृष्ण कान्त राठौर तथा शाब्दिक स्वागत आराधना शर्मा ने किया और नरेन्द्र सिंह राणावत और विजय बहादुर हाडा ने आभार जताया। इस अवसर पर सीमा शर्मा, राकेश मीणा, आतिश वर्मा, देवी लाल बैरागी,नन्दकिशोर श्रृंगी सहित सभी छात्राध्यापक-छात्राध्यापिकाऐं मौजूद रहे।