नकली नोट बनाकर तस्करी करने वाला गिरोह गिरफ्तार, दो फरार, एसपी ने किया मामले का खुलासा, जेल से रिहा होकर शुुरु किया था काम

-10 लाख रुपये की नकली करेंसी सहित नोट छापने वाला प्रिंटर, मोबाइल बरामद, महानगरों में खपाते थे नकली नोट, इसके अलावा रेत के कारोबार में गलाते नोट

10 सेकंड में बनाते 2 हजार का एक नोट, गुजरात में खपाए जाने थे 5 लाख रुपये और 50 हजार में हुई थी डीलिंग

भिण्ड। नकली नोट बनाकर तस्करी करने वाला गिरोह पुलिस के हाथ लगा है, जिनके पास से एक प्रिंटर, मोबाइल सहित नकली नोट बनाने की सामग्री बरामद की गई है यह गिरोह नकली नोट अमायन थाना क्षेत्र के ग्राम मडैयन में फैक्ट्री लगाकर बना रहे थे, जिसकी सूचना पुलिस को लगते ही घेराबंदी कर तीन आरोपियों को दबोच लिया और दो भागने में सफल हो गये। पुलिस कंट्रोल रूम में शुक्रवार दोपहर 1.30 बजे आयोजित पे्रसवार्ता के दौरान एसपी शैलेन्द्रङ्क्षसह चौहान ने नकली नोट बनाने वाले तस्कर गिरोह का खुलासा करते हुए पत्रकारों को बताया कि पकड़े गये आरोपी मात्र दस सेकंड में दो हजार का नकली नोट बनाकर तैयार कर लेते थे, आरोपियों ने दस लाख के नोट बना लिए थे। इसे गुजरात में खपाने की तैयारियां की जा रही थी। 50 हजार में 5 लाख के नकली नोट देने का सौदा तय कर लिया था। इससे पहले भिंड पुलिस की स्पेशल टीम ने तीन आरोपियों को दबोच लिया। गिरोह का मास्टरमाइंड और एक अन्य आरोपी अभी पुलिस गिरफ्त से बाहर है जिसे जल्द पकडऩे का पुलिस दावा कर रही है। नकली नोट बनाने वाले गिरोह को पकडऩे में अह्म भूमिका अमायन थाना प्रभारी दीपेन्द्र यादव, सायबर सैल प्रभारी शिवप्रताप सिंह की रही।

पुलिस अधीक्षक शैलेंद्र सिंह चौहान ने आगे बताया कि गिरोह का मास्टमाइंड सत्यवीर राजपूत है। उसने गुजरात से नकली नोट बनाना सीखा था। प्रिटिंग मशीन और कागज भी वहीं से लाते थे। आरोपियों ने गांव में ही मशीन लगा ली थी। नोट का डिजाइन तैयार कर लिया था। प्रिंटर की मदद से नकली नोट प्रिंट करते थे। वह पहले भी इस मामले में जेल में बंद था। 8 महीने के बाद जमानत पर रिहा होकर फिर काम शुरू कर दिया। वे रेत कारोबार में नकली नोट खपाते थे। गड्डियों में एक-दो नोट फंसाते थे। आरोपी 2000 और 200 का नोट ही बनाते थे। 500 का नोट नहीं बना पा रहे थे।

तीन साल में तीसरी बडी कार्रवाई

भिंड में पिछले तीन साल में यह तीसरी बडी कार्रवाई है। इसे पहले एसटीएफ ने दो आरोपियों को एक साल पहले पकडा था। पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर छापामार कार्रवाई की। गांव मेहरा बुजुर्ग में रहने वाले ईसू रजक के घर में नकली नोट तैयार किए जाते थे। यहां कप्यूटर से लेकर प्रिंटिंग मशीन तक लगाई गई थी। छापे में दस लाख नकदी व नकली नोट तैयार करने वाली सामग्री मिली है। पकडे गए आरोपियों में ईसू रजक, राजू सिकरवार निवासी साडा भारौली, लला राजपूत निवासी लालपुरा मेहरा शामिल है।

5 लाख के नकली नोट, 50 हजार रुपये में हुई थी डीलिंग

इस मामले में पुलिस को दो आरोपी सत्यवीर व विनोद की तलाश है। बताया जाता है कि सत्यवीर राजपूत निवासी सहायपुरा और विनोद निवासी साडा, ये दोनों गुजरात गए हैं। गुजरात में किसी से आरोपी की डीलिंग हो चुकी है। 50 हजार रुपए में पांच लाख की डीलिंग हो चुकी थी। इसलिए इतनी बडी मात्रा में नकली नोटों को तैयार किया गया था।

आरोपी प्रिन्टर से तैयार करते थे दो-दो हजार रूपये के नकली नोट

आरोपी ईश कुमार रजक पुत्र ईशू रजक निवासी ग्राम मेहरा लहार, राजू सिकरवार पुत्र गोविन्द सिंह सिकरवार ग्राम राजगढ का पुरा सड़ा मेहगाँव भारौली, एवं विजयपाल उर्फ लला राजपूत पुत्र बहादुर सिंह राजपूत निवासी ग्राम लालपुरा, लहार व दो फरार आरोपी मिलकर घर पर ही प्रिन्टर से स्कैन कर कम्प्यूटर से नकली नोट बनाने का कारोबार लंबे अर्से से कर रहे थे, प्रिन्टरों में कलरों का प्रयोग इस प्रकार से करते थे कि नकली नोट भी ओरजीनल की भांति देखने में प्रतीत होते थे, पूर्व से आरोपियों के विरूद्ध मौ थाने में पहले से ही नकली नोट बनाने का मामला पंजीबद्ध है।

तीस हजार असली में पचास हजार की नकली खेप देते थे आरोपी

आरोपीगणों से प्राथमिक पूछताछ में पता चला है कि नकली नोट को असली बनाने का ग्रामीणों को झाँसा देते थे कि तीस हजार रूपये औरजीनल दे जाओ और पचास हजार रूपये नकली ले जाओ, जिसमें कई लोग फँस चुके हैं, आरोपीगणों से तमाम बिन्दुओं पर पूछताछ जारी है।

गुजरात तक फैला था आरोपीगणों का नेटवर्क

आरोपीगणों ने बताया है कि हम यहां से नकली नोट छापकर गुजरात ले जाते थे, और वहां एक नंबर में चलाकर कमाई करते थे, जल्द करोड़पति बनने की चाहत में यह सब कारोबार हम मिलकर सभी लोग अंजाम दे रहे थे, लेकिन पुलिस ने हमारे इस कारोबार को चकनाचूर कर दिया।

पुलिस ने तीनों आरोपियों से यह किया जब्त

पुलिस ने आरोपीगणों से नकली नोट करीब 10 लाख पाँच हजार रूपये जब्त किये हैं तथा एक मोबाइल रेडमी कंपनी का व एक कलर प्रिन्टर ऐपसोन कंपनी का, पेपर कटर, नकली नोट का सफेद कागज व स्केल जब्त की है।