एटीएम फ्राड करने वाले बदमाश गिरफ्तार

भिण्ड.ShashikantGoyal/ @www.rubarunews.com>> एटीएम से कैश निकालते समय फ्रॉड करने वाले सक्रिय बदमाशों को  एटीएम बूथ पर तैनात गार्ड की सर्तकता से पुलिस ने बदमाश को रंगे हाथों दबोच लिया गया है। फाइनेंसियल सॉफ्टवेयर एंड सिस्मट कंपनी के टेरेटरी मैनेजर दिव्य कुमार राय निवासी ओम अपार्टमेंट ग्वालियर ने बताया कि पिछले एक महीने से लहार, मिहोना से एसबीआई एटीएम बूथ से लगातार एटीएम ऐरर क्रिए करके कार्डधारी द्वारा बैंक में शिकायत की जा रही है कि उसके अकाउंट से पैसा डेबिट हो गया है, परंतु प्राप्त नहीं हुए। इस शिकायत पर एसबीआई द्वारा संबंधित बैंक को आरबीआई की गाइड लाइन क अनुसार तीन दिन में शिकायत कर्ता को रुपए वापस करना होता था। फरियादी ने बताया कि लगातार ट्रांजेक्शन फेल होने पर जब एटीएम बूथ के कैमरे की मॉनीटरिंग की गई तो पाया कि लहार में डॉ. गोविंद सिंह की कोठी के पास स्थित एटीएम मे कुछ संदिग्ध व्यक्ति एटीएम को ऑपरेट कर रहे है। एटीएम में कार्ड का उपयोग करने के बाद जैसे ही रुपए कैश डिस्पेंसर की शटर में आता है। कार्डधारक द्वारा रुपए निकाल लिए जाने के बाद शटर को होल्ड कर दिया जाता है। इस तरह से करीब आधा मिनट तक शटर होल्ड रहने से मशीन में ऐरर क्रिएट होने माना जाता है। इस तकनीकी खामी की वजह से पैसा नहीं मिला ऐसा माना जाता है। जबकि आरोपी द्वारा पहले से ही पैसा निकालकर क्रत्रिम रूप से ऐरर क्रिएट किया जाता है।

थाना प्रभारी की फील्डिंग से पकड़ा आरोपी

यह शिकायत मिलने के बाद थाना प्रभारी कुशल सिंह भदौरिया ने एटीएम की मॉनीटरिंग बड़ा दी। थाना प्रभारी द्वारा एटीएम बूथ पर तैनात सिक्योरिटी गार्ड दीपेश यादव को सर्तक रहने को कहा और इस तरह की हरकत करने पर तत्काल पुलिस को सूचना देने की बात कही। 14 सितंबर को एक व्यक्ति इसी तरह के फ्रॉड करके एटीएम से पैसा निकाल रहा था। इस फ्रॉड के बारे में पहले से ही यहां तैनात रहने वाले गार्ड दीपेश यादव ने पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर राकेश पाल पुत्र महाराज संह पाल निवासी बीसलपुरा थाना पंडोखर जिला दतिया को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस इस मामले में आरोपी से पूछताछ कर रही है।