विद्यार्थियों को टीसी देने की शिकायत पर बाल कल्याण समिति ने लिया संज्ञान

बून्दी।KrishnakantRathore/ @www.rubarunews.com>> राजकीय स्वामी विवेकानन्द मार्डन स्कूल बरूधंन में बालिका राधिका सैनी कक्षा 10 वीं की शिकायत पर बाल कल्याण समिति राजकीय स्वामी विवेकानन्द मार्डन स्कूल बरूधंन में बालिका की शिकायत की वास्तविकता जानने के लिए विद्यालय में पहुंची।
बाल कल्याण समिति की अध्यक्ष सीमा पोद्दार ने बताया कि बालिका ने शिकायत की है कि विद्यालय प्रशासन ने टेलीफोन कर उसके बीमार होने की स्थिति में अवकाश पर रहने के दौरान स्कूल में बुलाया एवं टी.सी. ले जाने के लिए प्रार्थना पत्र लिखवाया। बालिका ने कहा कि वह कक्षा 6 से विद्यालय में पढ़ी है एवं अभी उसी विद्यालय में पढ़ना चाहती है। बालिका ने शिकायत में बताया कि उसे डराया धमकाया गया एवं जबरन टीसी दी गई।
बाल कल्याण समिति की जांच में विद्यालय प्रशासन ने स्वीकार किया कि उन्होंने 1 अप्रेल से 6 सितम्बर के मध्य 14 बालक-बालिकाओं को टी.सी. जारी की है। इस प्रकार 5 महिने में कक्षा 10 सीबीएसई में परीक्षा में बैठने वाले विद्यार्थियों को टी.सी.देना नियम विरूद्ध है। जबकि उनका कक्षा 9 वीं में ही सीबीएसई में नामांकन होता है। बाल कल्याण समिति ने पाया कि विद्यालय प्रशासन से 5 महिने में बोर्ड परीक्षाओं में बैठने वाले 14 बालक-बालिकाओं को टी.सी. देने के बाद उनकी वर्तमान शैक्षणिक स्थिति का भी फॉलोअप नहीं किया गया है। इस सन्दर्भ में बाल कल्याण समिति ने बालिका राधिका सैनी को पुनः प्रवेश देने तथा 14 बालकों को टी.सी. देने का कारण बताने एवं उनकी वर्तमान शैक्षणिक स्थिति 3 दिवस में पूर्ण तथ्यात्मक रिपोर्ट के साथ प्रस्तुत करने के लिए निर्देश दिए हैं।
बाल कल्याण समिति जांच दल में अध्यक्ष सीमा पोद्दार, सदस्य छुट्टन लाल शर्मा व सदस्य रोहित कुमार एवं घनश्याम दुबे मौजूद रहे।