आर्गेनिक एक्सपो 2021: तीसरे दिन जैविक खेती की इंटरनेशनल पहुंच और सरकारी सुविधाओं पर चर्चा

इंदौर.Desk/ @www.rubarunews.com-   मिशन हेल्दी इंडिया के तहत देश के सबसे बड़े जैविक कृषि ज्ञान सम्मेलन का तीसरा दिन प्रमुख वक्ताओं में महत्वपूर्ण जानकारियों के साथ समाप्त हुआ। इस दौरान जैविक खेती एवं बाजार तंत्र विषय पर वैश्विक जैविक लीडर  मनोहर शोटे, जैविक खेती की समग्र अवधारणा पर युवा वैज्ञानिक  पवन टाक, कुटीर खाद प्रसंस्करण इकाई एवं आर्थिक चक्र की निर्मिति विषय पर प्रवर्तक व उद्यमी,  वरुण रहेजा जबकि जहर नहीं विषय पर तांबे जी तथा जैविक कीटरोग एवं खरपतवार नियंत्रण विषय पर कृषक व उद्यमी  रवि केलकर ने श्रोताओं को सम्बोधित करते हुए अतिआवश्यक बिंदुओं पर चर्चा की।

ज्ञान सम्मलेन की शुरुआत वैश्विक जैविक लीडर  मनोहर शोटे के सम्बोधन के साथ हुई। इस दौरान उन्होंने जैविक खेती के प्रमाणीकरण के अलग-अलग तरीकों के बारे में बताया। इसके अतिरिक्त उन्होंने इंटरनेशनल मार्केट में जैविक उत्पादों को मिलने वाली सुविधाओं का जिक्र भी किया साथ ही जैविक ग्रुप फार्मिंग और ग्रुप सर्टिफिकेशन के लिए भारत सरकार द्वारा दी जानी वाली सुविधाओं के बारे में भी बताया।

जैविक खेती की समग्र अवधारणा पर युवा वैज्ञानिक  पवन टाक ने बीज, खाद, दवाई और बाजार का निर्माण खेत पर ही करने के उपाए बताए। उन्होंने कहा अच्छा बीच, अच्छा खाद, कम्पोस्टिंग पद्धति से गुणवत्तापूर्ण और अधिक मात्रा में तैयार किया जा सकता है। इस दौरान उन्होंने अपने निजी अनुभवों को साझा करते हुए कहा कि किसान को किसी भी विकट परिस्थिति में सही समाधान ढूंढने की कोशिश करनी चाहिए।

बता दें कि आर्गेनिक एक्सपो 2021 में जैविक कम्पनियों के स्टाल तथा जैविक कृषि कर रहे किसानों के उत्पादों की प्रदर्शनी और विक्रय किया जा रहा है। जैविक कृषि ज्ञान सम्मलेन का मुख्य उद्देश्य जैविक खेती के साथ आर्गेनिक उत्पादों के अधिक प्रोडक्शन को बढ़ावा देने के लिए किसानों को प्रोत्साहित करना है। यहाँ आपको घी, तेल नमक मसाले, पूजा पाठ सामग्री से लेकर फल व सब्जियों तक, सब कुछ जैविक खेती से तैयार किया हुआ ही मिलेगा।

गौरतलब है कि एक्सपो के आगामी दिनों में गौ आधारित जैविक खेती का सजीव प्रदर्शन भी देखने को मिलेगा। जहां उन्नत किस्म के पशुओं की प्रदर्शनी, गोबर, गौमूत्र व फसल अवशेष के माध्यम से निर्मित विभिन्न प्रकार की जैविक खादों की प्रदर्शनी तथा जैविक सूक्ष्म पोषक तत्वों के निर्माण की विधि का सजीव प्रदर्शन भी होगा। इसके अतिरिक्त मेले में पहुंचने वालों के लिए जैविक सब्जी मंडी एवं फ़ूड ज़ोन भी मुख्य आकर्षण का केंद्र बने हुए हैं।

Umesh Saxena

I am the chief editor of rubarunews.com