कूनो नेशनल पार्क एवं स्वसहायता समूह का उन्मुखीकरण सह सम्मेलन की तैयारियां पूर्ण

. श्योपुर.Desk/ @www.rubarunews.com>>प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 17 सितंबर 2022 को कूनो नेशनल पार्क एवं स्वसहायता समूह का उन्मुखीकरण सह सम्मेलन कराहल में पधार रहे है। उनके कार्यक्रम की सभी तैयारियां कूनों एवं कराहल में पूर्ण कर ली गई है।
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के मुख्य आतिथ्य में आयोजित कार्यक्रमों में राज्यपाल मप्र मंगुभाई पटेल, मुख्यंत्री शिवराज सिंह चौहान, केन्द्रीय नागरिक विमानन एवं इस्पात मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया, केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री  नरेन्द्र सिंह तोमर, वन मंत्री  कुंवर विजय शाह, राज्यमंत्री इस्पात एवं ग्रामीण विकास  फग्गन सिंह कुलस्ते, पंचायत और ग्रामीण विकास मंत्री  महेन्द्र सिंह सिसौदिया, जनजातीय कार्य एवं अनुसूचित जाति कल्याण सुश्री मीना सिंह, राज्य मंत्री उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण (स्वतंत्र प्रभार) तथा नर्मदा घाटी विकास एवं जिले के प्रभारी मंत्री भारत सिंह कुशवाह, राज्यमंत्री पंचायत एवं ग्रामीण विकास रामखेलवान पटेल, सांसद बीडी शर्मा शामिल रहेगे।
कलेक्टर शिवम वर्मा ने प्रधानमंत्री के कूनों नेशनल पार्क एवं कराहल में आयोजित स्वसहायता समूह के सम्मेलन की तैयारी पूर्ण ली गई है। इसी प्रकार कराहल  कार्यक्रम के लिए समुचित बैठक व्यवस्था एवं कार्यक्रम स्थल पर अलग-अलग इनक्लोजर बनाये गये है। सभा स्थल पर सभी आपातकालीन सेवाएं सुनिश्चित की जा चुकी है। पेयजल के उचित प्रबंध किये जा चुके है तथा पार्किग आदि की व्यवस्थाएं सुनिश्चित कर ली गई है।
मध्यप्रदेश के कूनो राष्ट्रीय उद्यान में नामीबिया से चीते लाकर उन्हें बसाने का कार्य निर्धारित मानकों के अनुसार पूर्ण होने जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी श्योपुर जिले के कूनो राष्ट्रीय उद्यान में इस कार्य का शुभारंभ 17 सितम्बर 2022 को करेंगे। इस कार्यक्रम को पूरी गरिमा और उत्साह के साथ सम्पन्न करने के लिए सभी आवश्यक तैयारियाँ पूर्ण कर ली गई है। श्योपुर जिले के कूनो राष्ट्रीय उद्यान में चीता प्रबंधन की अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर प्रचलित तकनीक के अनुसार बसाने का कार्य पूर्ण होने जा रहा है।
सर्वेक्षण में चीतों के लिये कूनो पाया गया सबसे अनुकूल
परियोजना के एकीकृत प्रबंधन में कूनो के राष्ट्रीय उद्यान के 750 वर्ग किलोमीटर में लगभग दो दर्जन चीतों के रहवास के लिए अनुकूल है। इसके अतिरिक्त करीब 3 हजार वर्ग किलोमीटर वन क्षेत्र दो जिलों श्योपुर और शिवपुरी में चीतों के स्वंच्छद विचरण के लिए उपयुक्त हैं। प्रधानमंत्री श्री मोदी दो बाड़ों में चीते विमुक्त करेंगे। पहले बाड़े में दो नर चीते छोड़े जाएंगे। दूसरे बाड़े में एक मादा चीता को छोड़ा जाएगा। वन विभाग के अधिकारियों के दल ने नामीबिया की चीता प्रबंधन तकनीक का प्रशिक्षण प्राप्त कर चुके है।
कूनो राष्ट्रीय उद्यान पानी की व्यवस्था के साथ आवश्यक सिविल कार्य भी पूरे किए गए हैं। कूनो में वन्य-प्राणियों का घनत्व बढ़ाने के लिए नरसिंहगढ़ से चीतल लाकर छोड़े गए हैं। विशेषज्ञों के अनुसार क्षेत्र में शिकार का घनत्व चीतों के लिए पर्याप्त है। नर चीते दो या दो से अधिक के समूह में साथ रहते हैं। सबसे पहले चीतों को दो-तीन सप्ताह के लिए छोटे-छोटे पृथक बाड़ों में रखा जाएगा। एक माह के बाद इन्हें बड़े बाड़ों में स्थानांतरित किया जाएगा। विशेषज्ञों द्वारा बड़े बाडों में चीतों के अनुकूलन संबंधी आंकलन के बाद पहले नर चीतों को और उसके पश्चात मादा चीतों को खुले जंगल में छोड़ा जाएगा।
स्वसहायता समूहों की बहनों के सम्मेलन एवं प्रशिक्षण केन्द्रों के लोकार्पण की तैयारियां पूर्ण
श्योपुर जिले के कराहल में म.प्र. राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन से जुड़ी स्व-सहायता समूह की बहनों के उन्मुखीकरण और सह सम्मेलन एवं विशेष पिछडी जनजातीय समूह कौशल विकास प्रशिक्षण केन्द्रो के लोकार्पण कार्यक्रम की तैयारियां पूर्ण की जा चुकी है। इसमें हिस्सा ले रही बहनों के लिए आवश्यक व्यवस्थाएँ सुनिश्चित कर ली गई है। प्रदेश में 3 लाख 86 हजार स्व-सहायता समूह कार्य कर रहे हैं, इनसे 43 लाख से अधिक परिवार जुड़े हैं। समूहों द्वारा सब्जी उत्पादन, दुग्ध उत्पादन, अगरबत्ती, हैण्डवॉश, साबुन निर्माण, कृषि और पशुपालन आधारित आजीविका गतिविधियाँ, आजीविका पोषण वाटिका के संचालन के कार्य किए जा रहे हैं। प्रधानमंत्री श्री मोदी समूह की सदस्य बहनों की उद्यमशीलता की जानकारी प्राप्त करेंगे।
संचालित होंगी कल्याणकारी गतिविधियाँ
प्रधानमंत्री के जन्म-दिवस 17 सितम्बर पर श्योपुर में दो प्रमुख कार्यक्रमों में प्रधानमंत्री श्री मोदी शामिल हो रहे हैं। शेष जिलों में विभिन्न विभाग जन-कल्याणकारी गतिविधि कर इस अवसर को प्रसन्नता व्यक्त करने का माध्यम बनाएँ। प्रदेश में 17 सितम्बर से 31 अक्टूबर तक हितग्राहियों को योजनाओं से लाभान्वित करने का अभियान चलाया जावेगा। प्रधानमंत्री जी के जन्म-दिवस से प्रारंभ हो रहे अभियान के लिए विभागों के अधिकारी और मैदानी अमले को जिला प्रशासन श्योपुर द्वारा दायित्व सौपे जा चुके है।
हेलीपेड से मंच तक डबल बेरीकेटिंग की गई फायर ब्रिगेड, एम्बुलेंस, मेडिकल टीमें आदि की व्यवस्थाएं की जा चुकी है। कार्यक्रमों की जानकारी के लिए जिला स्तर पर नियंत्रण कक्ष बनाया गया है, जिसका दूरभाष नंबर 07530-222631 निर्धारित है। दोनो कार्यक्रमो के लिए कार्यपालिक मजिस्टेªट तैनात कर दिये गये है। साथ ही आने-जाने के लिए रूट निर्धारित कर दिया गया है।
पुलिस अधीक्षक आलोक कुमार सिंह ने बताया कि प्रधानमंत्री  के कूनो नेशनल पार्क एवं कराहल सम्मेलन के लिए सुरक्षा व्यवस्था कर ली गई है। प्रोटोकॉल अनुसार पुलिस अधिकारियों को तैनात कर दिये गये है।