कोरोना की संभावित तीसरी लहर को देखते हुए बच्चों के लिए दतिया में 20 विस्तरों के आईसीयू का काम शुरू

दतिया @rubarunews.com>>>>>>>>>>> चिकित्सा महाविद्यालय दतिया ने जिले में कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर से निपटने की तैयारियां शुरू कर दी है। तीसरी लहर से निपटने हेतु 20 विस्तरों की व्यवसथा बच्चो के लिए की गई है। जिसमें 14 बैड बच्चों के लिए और 6 बैड नवजात शिशुओं के उपचार के लिए रखे गए है।

प्रदेश के गृह मंत्री डाॅ. नरोत्तम मिश्रा के अथक प्रयासों से काॅलेज की स्थापना के समय से ही दतिया में स्वास्थ्य व्यवस्थाओं में निरंतर सुधार एवं विस्तार हो रहा है। डाॅ. मिश्रा के प्रयासों से ही कोविड अस्पताल में लिक्विड आॅक्सीजन टैंक स्थापित हुआ है। मेडीकल काॅलेज के आॅक्सीजन प्रभारी डाॅ. राजेश गुप्ता ने बताया कि कलेक्टर संजय कुमार, पुलिस अधीक्षक अमन सिंह राठौर और मेडीकल काॅलेज के डीन डाॅ. राजेश गौर सतत् नेतृत्व में इस टीम वर्क से आॅक्सीजन टैंक के माध्यम से आॅक्सीजन की सतत् आपूर्ति सुनिश्चित की गई है।

आॅक्सीजन की अनवरत उपलब्धता को देखते हुए दतिया ही नहीं अपितु टीकमगढ़, निवाड़ी, श्योपुर, सागर, छतरपुर, ग्वालियर, भोपाल और दिल्ली से भी मरीज दतिया कोविड अस्पताल में भर्ती होकर अपना उपचार कराकर स्वस्थ्य होकर घर वापस पहुंचे। उन्होंने बताया कि अस्पताल में अस्पताल में 12 मीट्रिक टन का एलएमओ प्लांट एवं पर्याप्त संख्या में आॅक्सीजन के भरे सिलेण्ड़र उपलब्ध है।

कोविड मरीजों के लिए आवश्यकतानुसार आॅक्सीजन कंसंट्रेटरस, एचएचएनसी, एनआरबीएम मास्क और हवा की शुद्धता बनाए रखने के लिए जगह-जगह एयर प्यूरीफायर रखे गए है। इसके अतिरिक्त आॅक्सीजन बनाने के लिए अलग से शासन द्वारा पीएसए प्लांट बनाया जा रहा है। जो वातावरण की हवा से ही आॅक्सीजन बनाएगा।