क्षय रोग से पीडित मरीजो का निरंतर उपचार किया जावे-कलेक्टर

श्योपुर.Desk/ @www.rubarunews.com>>कलेक्टर  राकेश कुमार श्रीवास्तव की अध्यक्षता में जिला क्षय नियंत्रण समिति की एक बैठक आज कलेक्टर सभागार श्योपुर में आयोजित की गई। इस बैठक में क्षय नियंत्रण की दिशा में की गई कार्यवाहियों की समीक्षा की गई।
कलेक्टर  राकेश कुमार श्रीवास्तव ने बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि जिले में क्षय रोग से पीडित मरीजो का निरंतर उपचार करने की कार्यवाही चिकित्सक सुनिश्चित करें। साथ ही मरीजो का नियमित रूप से उपचार करने की दिशा में कदम उठावे। उन्होने कहा कि निक्षय पोषण योजना के तहत 500 रुपए की राशि, ट्रीटमेंट सपोर्टर (आशा कार्यकर्ता/आंगनवाड़ी कार्यकर्ता) को इंसेंटिव के रूप में प्रति मरीज 1000 रूपए की राशि प्रदान करने की कार्यवाही जारी रखी जावे। कलेक्टर ने कहा कि जिले के आदिवासी विकासखंड में प्रति मरीज 750 रुपए की अतिरिक्त राशि, टीबी के लक्षणों, उपचार, ड्रग सेंसटिव एवं ड्रग रेजिस्टेंट टीबी मरीजों की देखभाल अवश्य की जावे।
बैठक में जिला क्षय अधिकारी डॉ एसएन बिंदल ने पिछले तीन वर्ष में टीबी के मरीज एवं उनके उपचार एवं मरीजों को प्रति माह दी जाने वाली निक्षय पोषण योजना के तहत 500 रुपए की राशि, ट्रीटमेंट सपोर्टर (आशा कार्यकर्ता/आंगनवाड़ी कार्यकर्ता) को इंसेंटिव के रूप में प्रति मरीज 1000 रूपए की राशि, आदिवासी विकासखंड में प्रति मरीज 750 रुपए की अतिरिक्त राशि, टीबी के लक्षणों, उपचार, ड्रग सेंसटिव एवं ड्रग रेजिस्टेंट टीबी मरीजों की जानकारी दी। साथ ही जिले को 2025 तक टीबी से मुक्त करने हेतु समिति के पदाधिकारियों एवं चिकित्सको से सहयोग करने की अपील की।

बैठक में पुलिस अधीक्षक  सम्तप उपाध्याय, डिप्टी कलेक्टर विजेन्द्र सिंह यादव, सीएमएचओ डाॅ बीएल यादव, जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला बाल विकास  ओपी पाण्डेय, जिला महिला सशक्तिकरण अधिकारी  रिशु सुमन, जिला शिक्षा अधिकारी  वीएस रावत, सिविल सर्जन डाॅ आरबी गोयल, जिला क्षय अधिकारी डाॅ एसएन बिंदल, आईएमए जिला इकाई श्योपुर के सचिव डॉ संजय जैन, डीपीएम  सोमित्र बुदोलिया, जिला मीडिया प्रभारी  आरबी शाक्य, डीसीएम  अमित श्रीवास, सभी विकासखंडों के खंड चिकित्सा अधिकारी, सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों के चिकित्सा अधिकारी उपस्थित थे।