कोविड से बचाव हेतु सावधानी ही सुरक्षा है, मास्क पहने, सोशल डिसटेंसिंग का पालन करें : मंत्री भदौरिया

भिण्ड.ShashikantGoyal/ @www.rubarunews.com>> रोको-टोको अभियान लगातार चलाया जाये, मास्क पहनने लोगों को प्रेरित करें, मास्क न लगाने वालों पर सख्ती की जाये, सोशल डिसटेंसिंग का पालन कराये। भविष्य की चुनौतियों को स्वीकार करते हुये हमें बेहतर पुख्ता इंतजाम करने होंगे। यह निर्देश मध्यप्रदेश शासन के नगरीय आवास एवं विकास विभाग के राज्यमंत्री ओपीएस भदौरिया एवं लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव एवं भिण्ड जिले के प्रभारी सचिव मलय श्रीवास्तव ने दिये। मंत्री ओपीएस भदौरिया एवं अतिरिक्त मुख्य सचिव श्रीवास्तव रविवार को जिला पंचायत के सभाकक्ष में कोरोना की तैयारियों को लेकर समीक्षा कर रहे थे।

इस अवसर पर चंबल कमिश्नर आशीष सक्सेना, आईजी चंबल रेंज मनोज शर्मा, कलेक्टर डॉ सतीश कुमार एस, पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार सिंह, एडीएम भिण्ड प्रवीण कुमार फूलपगारें, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जेके जैन, जिले के समस्त एसडीएम, कोरोना से जुडे संबंधित अधिकारी और सीएमएचओ, सिविल सर्जन, बीएमओ एवं अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

मंत्री ओपीएस भदौरिया एवं अतिरिक्त मुख्य सचिव एवं भिण्ड जिले के प्रभारी सचिव मलय श्रीवास्तव ने कहा कि कोरोना के केस लगातार बढ़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि विशेषकर शहरी क्षेत्र में कोविड के मरीज निकल रहे हैं। इसलिये हॉट्स्पाट से आने वाले लोगों का कोविड टेस्ट अनिवार्य रूप से किया जाये। जो लोग ट्रेवल हिस्ट्री करके आ रहे हैं वे नजदीकी स्वास्थ केंद्र पर पहुँच अपना स्वास्थ परीक्षण अनिवार्य रूप से करायें। उन्होंने कहाँ की वाहर से आ रहे व्यक्तियों को  चिन्हित करें और होम क्वारंटाइन भी करें। उन्होंने कहा कि जिले में अभी 120 बेड उपलब्ध हैं। उन्होंने कहा कि जिले में पर्याप्त ऑक्सीजन की सुविधा उपलब्ध रहे, यह सुनिश्चित किया जाये। यदि आवश्यकता हो तो जिले में अतिरिक्त फीवर क्लीनिक चालू किये जायें। भविष्य की चुनौती को देखते हुये किसी भी कार्य में कोताही न बरतें। रेलवे स्टेशन, बस स्टेण्ड, मार्केट आदि स्थानों पर बडे बडे होर्डिंग आदि लगवायें जिसमें मेरा मास्क मेरी सुरक्षा इस प्रकार के नारे आदि लिखवायें। उन्होंने कहा प्रशासन, समाजिक संस्था, आमजन मिलकर इस संक्रमण को रोकने जन जागरुकता लायें एवं अभियान चला कर लोगों को मास्क पहनने, सोशल डिसटेंसिंग का पालन करने प्रेरित करें, उल्लंघन करने वालों पर जुर्माना लगायें। अनुभाग स्तर पर, थाना स्तर पर, पंचायत स्तर पर, रोको टोको अभियान चलाये तथा लापरवाह लोगों पर जुर्माना भी करें।

चंबल कमिश्नर आशीष सक्सेना ने कहा कि होम आइसोलेशन वाले व्यक्तियों से दिन में दो बार डॉक्टर वीडियो कॉलिंग से चर्चा करें। ज्यादा पढे लिखे लोग हैं उन्हें वर्चुअल मीटिंग के माध्यम से उनके स्वास्थ्य की जानकारी लें। जिले के समस्त पटवारी, पंचायत सचिव, आंगनवाडी कार्यकर्ता, आशा, एएनएम, कोतवार को रजिस्टर संधारित करना होगा जो व्यक्ति बाहर से आता है उसका कोविड टेस्ट कराना और उसे 14 दिन के लिये होम क्वारेंटाइन रहने की सलाह दें। यह सब कार्य पब्लिक के सहयोग से करें। बाहर से आने वालों की सूचना गांव, गली मोहल्ले में होनी चाहिये। बैठक में कलेक्टर डॉ सतीश कुमार एस ने भी अभी तक की तैयारियों से अवगत कराया। शेष जो भी निर्देश अतिरिक्त मुख्य सचिव ने दिये उनका आने वाले दिनों में कड़ाई से पालन करने का आश्वासन भी दिया।