सीएम हेल्पलाइन शिकायतों का निराकरण करें,अन्यथा होगी कार्यवाही : कलेक्टर

भिण्ड.ShashikantGoyal/ @www.rubarunews.com>> कलेक्टर डॉ सतीश कुमार एस ने 12 अधिकारियों को सीएम हेल्पलाइन में संतुष्टिपूर्ण निराकरण न करने पर कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश संवंधित अधिकारी को दिये। कलेक्टर ने यह निर्देश समय सीमा पत्रों की बैठक के दौरान दिए।

बैठक में एडीएम भिण्ड प्रवीण फुलपगारें, सीईओ जिला पंचायत जेके जैन, एसडीएम भिण्ड-अटेर उदय सिंह सिकरवार, लहार आरए प्रजापति, डिप्टी कलेक्टर विजय राय सहित अन्य जिला अधिकारी उपस्थित थे।

कलेक्टर डॉ सतीश कुमार एस ने सीएम हेल्पलाइन अंतर्गत प्राप्त शिकायतों की विभागवार विस्तृत समीक्षा कर शिकायतों का संतुष्टिपूर्ण निराकरण करने वाले अधिकारियों को बधाई दी। साथ ही संतुष्टिपूर्ण निराकरण न करने पर 12 अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश संवंधित अधिकारी को दिए। जिसमें तहसीलदार गोहद रामजीलाल वर्मा, तहसीलदार भिण्ड प्रमोद गर्ग, तहसीलदार मौ महेन्द्र गुप्ता, सीएमओ गोहद रामप्रकाश जगनेरिया, जेएसओ रौन अजय अस्ठाना, जेएसओ नील मुदगल, जेई एमपीईबी एमसी गुप्ता, पीएचई सहायक यंत्री भिण्ड सत्येंद्र सिंह यादव, सीडीपीओ श्रीमती वीना मिश्रा, सीएमओ मिहोना द्वारका प्रसाद मिश्रा, सहायक यंत्री पीएचई केसी झा, बीएमओ अटेर जेएस राजपूत शामिल है।

बैठक में कलेक्टर ने समय सीमा अंतर्गत प्राप्त पत्रों एवं जनसुनवाई में प्राप्त आवेदनो की भी विस्तृत समीक्षा की। उन्होंने समस्त अधिकारियों को समय सीमा में प्राप्त आवेदनो का समय सीमा अंतर्गत निराकृत करने के निर्देश दिए। उन्होंने महिला एवं बाल विकास अधिकारी अब्दुल गफ्फार को समय सीमा अंतर्गत प्राप्त आवेदन का निराकरण न करने पर कारण बताओ नोटिस जारी करने निर्देश दिए। कलेक्टर ने सभी अधिकारियों को शासन की योजनाओं का लाभ आमजन को बिना किसी परेशानी मिले इस ओर विशेष ध्यान दें। उन्होंने कहा कि अधिकारियों को अपनी कार्य प्रणाली में करना होगा बदलाब जनता की सेवा हेतु है कार्यरत पूर्ण रूप से इस ओर करें कार्य।

कलेक्टर डॉ सतीश कुमार एस ने कोविड के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए सभी अधिकारियों को निर्देशित किया कि इस ओर विशेष ध्यान दें एवं आमजन को मास्क पहनने सोशल डिसटेंसिंग का पालन करने की समझाईश दें। साथ ही उन्होंने समस्त एसडीएम एवं जिला अधिकारियों को रोको टोका अभियान चलाकर बिना मास्क के व्यक्तियों पर जुर्माना करने, जिले के शहरी क्षेत्रों के बाजारों में सोशल डिसटेंसिंग का पालन कराने, दुकानो के आगे गोले बनवाने साथ ही यदि कोई दुकानदार नियमो का पालन नही करता है तो उसके विरुद्ध कार्यवाही करने के निर्देश भी बैठक में दिए।