सावन माह शुरु होते ही इन्द्र देव दिखा रहे रूद्र रूप, चंहुओर शहर में बाढ़ जैसे हालात

भिण्ड.ShashikantGoyal/ @www.rubarunews.com>> सावन माह शुरु होते ही इन्द्र देव भगवान ने अपना रूद्ररूप दिखाना शुरु कर दिया है दो दिन से लगातार बरसात होने से शहर में चहुओर जल भराव की स्थिति बन  रही है और लोग घरों में कैद हो गये है। नाले-नालियों की सफाई के लिए नगरीय प्रशासन द्वारा कई दावे किये जा रहे थे, जो फैल होते नजर आ रहे हैं। जिलेभर में पिछले 24 घंटे से अच्छी बारिश हो रही है। यह बारिश ने जिला प्रशासनिक अफसरों की व्यवस्थाओं की पोल खोल कर रख दी। शहर के तीन दर्जन कॉलोनी व मोहल्ले, गली-कूचे जलमग्न हो गये है। इन लोगों के घरों में बारिश का पानी हिलोरें मार रहा है। लोगों के घरों को जलमग्न होता देख जिला प्रशासन के हाथ पैर फूल गए है। हर छोटे-बड़े कस्बे, नगर और गांव में पिछले 24 घंटे से हो रही बारिश ने सभी जगह तबाही मचाकर रख दी है। जल निकासी के लिए कहीं भी प्रबंध नहीं है नाले-नालियां उफान मा रहे हैं बरसात का पानी लोगों के घरों मं घुस रहा है तो अफसर अब आनन-फानन में जेसीबी चलवाकर नाले-नालियों का मलवा निकालने मेंं जुट गये है, फिर भी जल भराव से शहर में निजात नहीं मिल रही है।

 

अच्छी बारिश से किसानों के चेहरे पर दिख रहा सकून

बारिश की सुहानी बूंदों में बच्चे और बडे अटखेलियां करते नजर आ रहे है। वहीं, सबसे ज्यादा सकून किसानों के चेहरे पर दिखाई दे रहा है। अच्छी बारिश से उन्हें अच्छी फसल पैदावार की उम्मीद जागती दिख रही है। बारिश के चलते लोगों ने छतरी, रैन कोट को निकाल लिया है। बारिश की वजह से शहर की अधिकांश सडकें पानी से लबालब हो रही है।

सरकारी परिसर भी हुए जलमग्न

शहर के कलेक्ट्रेट कार्यालय, पुलिस अधीक्षक कार्यालय, पुलिस लाइन, पीडब्ल्यूडी कार्यालय, नगर पालिका, जल संसाधन विभाग, जिला अस्पताल, कॉर्टनजीन, शासकीय क्रमांक स्कूल नं.1 व 2, जिला पंचायत भवन, डाइट कॉलेज, आईटीआई, बिजली घर वार्टर वक्स आदि इसके अलावा ग्रामीण क्षेत्र में शासकीय प्राथमिक, माध्यमिक सहित स्वास्थ्य केन्द्र के अलावा आगनबाड़ी केन्द्र आदि दो दिन मेंं लबालब हो गये। सरकारी कर्मचारियों को जलमग्न परिसर से होकर गुजरना पड़ रहा है, जब सरकारी विभागों में ही बरसात का पानी हिलोर मार रहा है तो अन्य जगह कैसे हालात होंगे, इससे अंदाजा लगाया जा सकता है।

 

शहर के कॉटन जीन में अफसरों ने किया निरीक्षण

जलभराव की खबरों को लेकर जिला प्रशासन के अफसरों की नींद टूटी। सुबह करीब साढे दस बजे नगर पालिका के अफसरों के साथ कलेक्टर डॉ सतीश कुमार एस जलभराव की स्थिति देखने के लिए निकले। उन्होंने, नगर पालिका अफसरों को सख्त निर्देश जारी किए। मौके पर जेसीबी मशीन बुलाकर जल निकासी के लिए रास्ते खुलवाए। इस दौरान नवादा भी डूब हुआ दिखा।

बुधवार को जिलेभर में हुई वर्षा

भिण्ड में 120 मिमी

अटेर में 183 मिमी

मेहगांव में 110 मिमी

गोहद में 16 मिमी

लहार में 22 मिमी

रौन में 45 मिमी

मिहोना में 40 मिमी

मौ में 60 मिमी

गोरमी में 48 वर्षा दर्ज की गई है।