जानें कोरोना का टीके  का पंजीयन और लगवाने तक की क्या होगी प्रक्रिया 

नईदिल्ली।Desk/ @w ww.rubarunews.com-भारत सरकार से  कोरोना वायरस के टीका  मंजूरी मिल चुकी है। अब शीघ्र ही कुछ दिनों  बाद राजधानी में कोरोना टीका लगना प्रारम्भ  हो जाएगा। लेकिन उससे पहले आपको हर वह चरण जानना जरूरी है जोकि टीकाकरण की पूरी प्रक्रिया से आपको पहले ही अवगत करा देगा। जाने पंजीयन से लेकर टीका लगने तक की जानकारी
पंजीयन से लेकर टीका लगने और दो डोज पूरी होने के बाद सर्टिफिकेट मिलने तक ही पूरी प्रक्रिया डिजिटल आधारित है।    तीन कमरों का टीका बूथ, तीन कमरों का टीका बूथ होगा जिसके हर कमरे में अलग टीम और अलग ही उसका कार्य होगा। टीकाकरण की प्रक्रिया को आसान शब्दों में समझाते हैं पंजीयन      हार्ट, किडनी, कैंसर, मधुमेह, रक्तचाप या किसी भी बीमारी से ग्रस्त हैं। या फिर  आयु 50 और उससे अधिक वर्ष की है तो सबसे पहले कोविन वेबसाइट पर जाकर  पंजीयन करना होगा। इस दौरान नाम, पता, फोन नंबर इत्यादि भरना होगा। ओटीपी आधारित इस सेवा में आपका फोन सर्वर से लिंक होगा।
पंजीयन होने के बाद मोबाईल  पर पंजीयन की पुष्टि का मेसेज  मिलेगा,  इसके बाद  आवेदन जिला प्रशासन की टीम के पास जाएगा। ऑनलाइन ही समीक्षा होगी और उसके बाद टीम की ओर से एक मैसेज मिलेगा जिसमें टीका कब, कहां और कितने बजे लगना है? इसकी जानकारी मिलेगी।
सत्यापन
इस तरह जिला प्रशासन अपॉइंटमेंट की एक सूची बनाएगा जिसकी तीन प्रति टीका बूथ, जिला प्रशासन और भंडारण कक्ष में होंगी।
उपयुक्त समय और स्थान पर पहुंचने के बाद सबसे पहले आपको अपने हाथ सैनिटाइज करने होंगे। इसके बाद प्रवेश द्वार पर थर्मल स्क्रीनिंग के जरिए शरीर का तापमान जांच कराना होगा। यहां प्रवेश द्वार पर ही टीम क्रमांक 1 होगी जिसके पास अपॉइनमेंट सूची होगी। यहां ध्यान रखना है कि आपसे किसी पहचान पत्र के बारे में पूछा जाएगा। वोटर कार्ड, आधार कार्ड, वाहन लाइसेंस, पेनकार्ड, पासपोर्ट, मनरेगा कार्ड, राशन कार्ड, पेंशन कार्ड या किसी भी तरह का फोटो पहचान पत्र दिखाना होगा जिससे सूची में मौजूद आपके नाम की पहचान हो सके।
बिना पहचान पत्र  प्रवेश नहीं दिया जाएगा। इसके अलावा  अगर आप अपॉइनमेंट के वक्त टीका बूथ पर नहीं पहुंचते हैं या उस वक्त कहीं बाहर होते हैं तो आपकी अनुपस्थिति में परिवार के किसी और सदस्य को टीका नहीं मिलेगा।
क्या होगी टीका लगने की प्रक्रिया
प्रवेश द्वार पर सूची से मिलान के बाद आपको अंदर इंतजार कक्ष में बैठने के लिए कहा जाएगा। यहां से आप टीका कक्ष जाएंगे जहां मौजूद डॉक्टरों की टीम आपको टीका लगाएगी।
टीका कक्ष पहुंचने के बाद आपका वजन, लंबाई इत्यादि की जांच भी हो सकती है। टीका लगाने के बाद आप निगरानी कक्ष में जाएंगे। यहां आधा घंटे तक आपको निगरानी में रहना होगा। ताकि यह पता चले कि टीका लेने के बाद आपको कोई शारीरिक रुप से दिक्कत तो नहीं है।
अगर दिक्कत होती है तो तत्काल आपको नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र शिफ्ट किया जाएगा। अगर नहीं होती है तो आप अपने घर जा सकते हैं।
क्या है अगले चरण की प्रक्रिया
पहली डोज लगने के बाद आपको फोन पर मैसेज आएगा। इस मैसेज में आपको अगली डोज कब, कैसे और कहां लगनी है? यह जानकारी दी जाएगी।
तय समय पर दूसरी डोज लेने के लिए जब आप टीका बूथ पर पहुंचेंगे तो पहले की भांति पूरी प्रक्रिया का पालन करना होगा।
दो डोज लगने के बाद जबतक आप घर पहुंचेंगे, आपके फोन पर एक मैसेज पहुंच जाएगा जिसमें एक लिंक दिया जाएगा। इस लिंक पर क्लिक करने के बाद आप फोटो युक्त सर्टिफिकेट हासिल कर सकते हैं।
  
कोरोना टीका की पूरी डोज लेने के बाद सार्वजनिक तौर पर आपको एक सर्टिफिकेट मिलेगा जिसपर आपका नाम, पता, शहर और फोटो होगा। इसी के नीचे आपका फोन नंबर भी लिखा होगा। साथ ही यह भी कि पहली डोज आपने किस तारीख को और कहां ली है। इस दौरान आपको कौन सा टीका और उसका बैच नंबर मिला है, उसकी जानकारी भी होगी। इसी तरह दूसरी या तीसरी डोज की जानकारी भी होगी।
यह भी जानना है जरूरी
कोल्ड स्टोर से हर दिन उतनी डोज ही बूथ तक पहुंचेंगी जितने लोगों को प्रशासन ने अपॉइनमेंट दिया है।
अपॉइनमेंट सूची के आधार पर ही लाभार्थी की पहचान होगी ताकि किसी भी तरह की घपलेबाजी को रोका जा सके।
किसी भी प्रकार की परेशानी होने पर कोविन वेबसाइट पर शिकायत दर्ज करा सकते हैं। या फिर 1045 हेल्पलाइन नंबर पर फोन कर सकते हैं। यह हेल्पलाइन नंबर राष्ट्रीय स्तर पर है। दिल्ली सरकार भी एक हेल्पलाइन नंबर जारी करने वाली है।