हमें भयमुक्त वातावरण, सुरक्षा व अवसर चाहिए, एक दिवस मनाना ही पर्याप्त नहीं मेरा तो हर दिन व हर पल हो, मुझे बालिका की नहीं बेटी की पहचान दीजिए”

बूंदी.KrishnakantRathore/ @www.rubarunews.com- अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर जिले भर में बालिकाओं के प्रति सकारात्मक वातावरण निर्मित करने के उद्देश्य से विभिन्न कार्यक्रमों गतिविधियों का आयोजन किया गया । महिला अधिकारिता विभाग द्वारा उमंग संस्थान के तत्वावधान में किड्जी ग्लोबल पब्लिक स्कूल में स्कूली विद्यार्थियों के लिए भाषण व रोल प्ले प्रतियोगिताओं का आयोजन हुआ। इस अवसर पर विभाग के कार्यवाहक सहायक निदेशक जय सिंह मुख्य अतिथि थे। सिरोही से आई बालिका शक्ति प्रेरक स्वाति राठौड़ विशिष्ट अतिथि थी।

कोविड प्रोटोकॉल की पालना के साथ आयोजित प्रतियोगिताओं के मंच से भाषण प्रतियोगिता के वरिष्ठ वर्ग की विजेता हर्षिता प्रजापत ने अपनी आवाज बुलंद करते हुए कहा कि आज बालिकाओं को भयमुक्त वातावरण चाहिये, अपराधों के बढ़ते खतरों के बीच समुचित सुरक्षा चाहिए, उसके लिए एक दिवस मनाना मात्र पर्याप्त नहीं उसका तो हर दिन व हर पल हमारा होना चाहिए। वहीं उपविजेता रहीं अक्षरा गौतम ने सामाजिक भूमिका पर बोलते हुए कहा कि आज मुझे बालिका की नही बेटी की पहचान चाहिए क्योंकि बेटी शब्द में आत्मीयता का भाव व समाज को अपनी शान का दायित्वबोध होता है।

कार्यक्रम समन्वयक सर्वेश तिवारी ने बताया कि दो वर्ष के अंतराल के बाद कोरोना गाइड लाइन की पालना के साथ किड्जी ग्लोबल पब्लिक स्कूल में आयोजित प्रतियोगिताओं में विद्यार्थियों ने बड़े उत्साह से भाग लिया। वर्तमान समाज में बालिकाओं की भूमिका विषय पर आयोजित भाषण प्रतियोगिता में वरिष्ठ वर्ग में हर्षिता प्रजापत प्रथम अक्षरा गौतम द्वितीय तथा सिद्धि नामा तृतीय स्थान पर रही वहीं कनिष्ठ वर्ग में अत्रेय सारस्वत प्रथम आहना खत्री द्वितीय तथा रुशील अग्रवाल तृतीय स्थान पर रहे। इसी प्रकार रोलप्ले प्रतियोगिता में विभिन्न भूमिकाओं का आकर्षक प्रस्तुतीकरण किया गया। वरिष्ठ वर्ग में हाड़ी रानी की भूमिका में आहना खत्री प्रथम रही, सुषमा स्वराज बनकर आध्या अग्रवाल ने द्वितीय स्थान प्राप्त किया तथा इंदिरा गांधी का रोल प्ले कर भारती वर्मा तृतीय स्थान पर रही। कनिष्ठ वर्ग में सावित्री बाई समाज सुधारिका बनी गौरांशी राठौर प्रथम, त्रिशूल लिए महिसासुरमर्दिनी बनकर दृष्टि शर्मा द्वितीय तथा वीरांगना लक्ष्मीबाई के रूप में जयघोष कर आश्रिता मीणा ने प्रतियोगिता में तृतीय स्थान प्राप्त किया। सभी विजेताओं को समापन समारोह में पुरस्कार व प्रमाण पत्रों से सम्मानित किया जाएगा । इससे पूर्व मुख्य अतिथि महिला अधिकारिता विभाग के कार्यवाहक सहायक निदेशक जय सिंह ने दीप प्रज्वलन कर अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस के क्रम में आयोजित होने वाले पाक्षिक कार्यक्रमों की श्रृंखला का शुभारंभ किया व शुभकामनाएं प्रेषित की। संस्था निदेशक डॉ हीना अगवान ने अतिथियों का अभिनंदन किया व संस्थान के समन्वयक सर्वेश तिवारी ने कार्यक्रम का प्रतिवेदन प्रस्तुत किया ।

कार्यक्रम का संचालन तान्या सोनी ने किया। कार्यक्रम प्रभारी संस्थाप्रधान ज्योत्सना खत्री व संस्थान सचिव कृष्णकांत राठौर ने आभार प्रकट किया।

इस अवसर पर आयोजक मंडल के मेघा दाधीच, अक्षिता सोनी, अमन दाधीच, मेघा बिलोची, प्रियंका गौड़, मीनू शर्मा व स्तुति जैन सहित विद्यालय परिवार, उमंग संस्थान सदस्य व महिला अधिकारिता विभाग के सदस्यों ने सहभागिता की।

काव्यपाठ व अनुपयोगी वस्तुओं से सृजनात्मक निर्माण प्रतियोगिता आज

अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस कार्यक्रमों की श्रंखला में मंगलवार को स्कूली विद्यार्थियों के लिए बालिका सशक्तिकरण पर कविता पाठ का आयोजन लिटिल एंजेल सेकेंडरी स्कूल बालचंद पाड़ा में तथा अनुपयोगी वस्तुओं से सृजनात्मक निर्माण प्रतियोगिता का आयोजन श्री महावीर विद्यालय खोजा पर किया जाएगा।