पत्रकार शुभकरण पांडे को फंसाया गया है , न्यायिक जांच की मांग

भोपाल .Desk/ @www.rubarunews.com— वरिष्ठ पत्रकार एवं एम पी वर्किंग जर्नलिस्ट यूनियन भोपाल के अध्यक्ष शुभकरण पांडे के विरुद्ध एक साजिश के तहत टीटी नगर थाने में प्रकरण दर्ज किया गया ।प्रकरण की जांच की मांग को लेकर माननीय गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा जी एवं डीजीपी महोदय भोपाल डीआईजी एसपी दक्षिण से एक प्रतिनिधिमंडल संभागीय महासचिव श्री हरीश कांसेकर के नेतृत्व में मिला और मांग की हैं कि संपूर्ण प्रकरण की निष्पक्ष जांच की जाए श्री शुभकरण पांडे के अनुसार महिला द्वारा मनगढ़ंत कहानी बनाकर तथाकथित बिल्डर अपने आप को कुछ कहने वाले नेता सब मिलकर एक साजिश के तहत उन्हें फंसाया गया है श्री शुभकरण पांडे ने पत्रकार मित्रों से कहा है कि आपकी कलम निष्पक्षता के साथ चलना चाहिए लेकिन बड़े दुख के साथ कहना पड़ रहा है की पुलिस की डीसीआर को देखकर किसी व्यक्ति के मान मर्यादा को तार-तार किया गया उनकी प्रतिष्ठा को धूमिल की गई बिना सत्यता जाने ।
माननीय सुप्रीम कोर्ट ने स्पष्ट कहा है कि जब तक न्यायालय किसी को सजाना सुना दे तब तक उसकी फोटो छापना न्याय संगत नहीं है उसके चरित्र का हनन है यह अवमानना की श्रेणी में आता है उन पत्रकारों को भी धन्यवाद देता हूं जिन्होंने मेरी फोटो छाप कर अपने आप को अपनी बहादुरी का परिचय दिया है उन्हें भी प्रणाम करता हूं उन समाचार पत्रों के संपादकों को भी कि उनके द्वारा न्याय का गला घोट दिया है कानून पर और न्याय पर विश्वास है।
एम पी वर्किंग जर्नलिस्ट यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष राधावल्लभ शारदा ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मांग की है कि जनसमपर्क विभाग के मुखिया होने के नाते उन्हें स्व प्रेरणा से प्रकरण की जांच के आदेश देना चाहिए ।
भोपाल के मिडिया संस्थानों में काम करने वाले साथियों को चेताया है कि आज शुभकरण पांडे है कल कोई और इसी तरह झूठे मामले में फंसाया जा सकता है ।
एक अन्य मामले में एक पत्रकार को कछुआ पालने पर फंसाया गया है , भोपाल शहर में अनेकों ऐसे लोग मिल जाएंगे जो कछुआ ,वदक , कुत्ते , बिल्ली ,मोर जैसे जानवरो को पाले हुए हैं वन विभाग के अधिकारियों को एक तरफा कार्यवाही एक घिनोनी कार्यवाही हैं ।एम पी वर्किंग जर्नलिस्ट यूनियन दोनों प्रकरणों की घोर निन्दा करता है ।