कीचड़ में धंसकर निकलने को मजबूर ग्रामीण, नही होती कोई सुनवाई

भिण्ड.ShashikantGoyal/ @www.rubarunews.com>> जिला मुख्यालय से आठ किलोमीटर दूर स्थित ग्राम पंचायत कचोगरा के मजरा रूपसहाय के पुरा का मुख्य मार्ग पर वर्षाती पानी भरने से ग्रामीणों को दलदल में धंसकर दैनिक कार्यो में मुसीबतों का सामना करना पड रहा है। ग्रामीणों का कहना है कि गांव के शासकीय प्राथमिक विद्यालय के सामने शासकीय तालाब पर दबंगो का कब्जा है जो पूर्व में गांव का पानी उस तालाब में एकत्रित हुआ करता था। दबंगो द्वारा धीरे-धीरे उस तालाब पर अतिक्रमण करना शुरू हुआ तो गांव का पानी स्कूल के सामने मुख्य सडक पर जमा होने लगा जिससे आय दिन कीचड जैसी स्थित निर्मित होने लगी। पूर्व में भी इस मामले को लेकर तात्कालीन जिलाधीश इलैया राजा टी ने गांव मे आकर शासकीय तालाब को अतिक्रमण मुक्त कराया था। अब दबंगो ने पुन: तालाब पर अतिक्रमण करना शुरू कर दिया और तालाब का रास्ता मिट्टी से बंद कर दिया। जिससे गांव व वर्षात का पानी सड़को पर जमा होने लगा। आय दिन ग्रामीणों को दलदल में धसकर दैनिक कार्यो में मुसीबतों का सामना करना पड रहा है। गाँव के मुख्य मार्ग पर दलदल जैसी मुख्य समस्या को लेकर ग्रामीणों ने जनपद सीओ से लेकर कलेक्टर सतीश कुमार से भी कई बार शिकायत कीए लेकिन इस जटिल समस्या का अभी तक कोई समाधान न हो सका। रात्रि में हार खेत जाने के लिए दलदल में धसकर गुजरना होता है जिससे  चोट लगने और बीमारियो के संक्रमण बने रहना का खतरा भी अधिक बना रहता है।