पीताम्बरा पीठ मंदिर के आसपास बालश्रम व भिक्षावृत्ति रोकने हेतु वीडियो कॉन्फ्रेंस : अध्यक्ष NCPCR

पीताम्बरा पीठ मंदिर के आसपास बालश्रम व भिक्षावृत्ति रोकने हेतु वीडियो कॉन्फ्रेंस
दतिया @rubarunews.com>>>>>>>>>> बाल अधिकार संरक्षण आयोग (NCPCR) बाल अधिकारों के सार्वभौमिकता और अखंडता के सिद्धांतों पर बल देता है तथा देश के बच्चों से जुड़े सभी नीतियों में अत्यावश्यकता की आवाज को आधिकारिक रूप से मान्यता प्रदान करता है। चाइल्ड फ्रेंडली वातावरण निर्मित करने एवं श्रम व भिक्षावृत्ति से बच्चों को दूर रखने के लिए मां पीतांबरा मंदिर के पास पास चाइल्ड फ्रेंडली स्पेस बनाने के लिए राष्ट्रीय बाल संरक्षण आयोग के निर्देशन में माइक्रोसॉफ्ट मीटिंग एनआईसी, नवीन कलेक्ट्रेट में संपन्न हुई आयोजित वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से अध्यक्ष राष्ट्रीय बाल संरक्षण आयोग द्वारा एसओपी के तहत दतिया का प्लान आगामी 15 दिवस के अंदर बनाने हेतु आव्हान किया।
वीडियो कॉन्फ्रेंस मैं प्रमुख रूप से कलेक्टर श्री संजय कुमार ने राष्ट्रीय बाल संरक्षण आयोग को आश्वस्त किया की पीओएस के अनुसार जिले में कार्य योजना तैयार कर प्रभावी कार किया जावेगा साथ ही उनके द्वारा महिला एवं बाल विकास विभाग को निर्देशित करते हुए फैसिलिटी में भिक्षावृत्ति या बालश्रम में संलग्न बच्चों को रखा जावे और उनको मध्यान भोजन मनोरंजन के साधन आवश्यकतानुसार खेल व प्रशिक्षण और कौशल विकास के अवसर मुहैया कराए जाएं साथ ही पीतांबरा पीठ मंदिर के आसपास भिक्षावृत्ति में संलग्न बच्चों को जिले के प्रशासनिक अधिकारियों का मासिक रोस्टर बनाया जाएगा वे मंदिर के आसपास भिक्षावृत्ति व करने वाले बच्चों पहचान करेंगे वह हर आवश्यक कार्यवाही करेंगे यह भी निर्देशित किया गया।
वीडियो कांफ्रेंस में उपस्थित पुलिस अधीक्षक अमन सिंह राठौर द्वारा पुलिस विभाग में पदस्थ स्थानों पर बाल कल्याण अधिकारियों को प्रभावी रूप से प्रशिक्षित किया जाएगा ताकि वे बच्चों के हित को ध्यान में रखते हुए उनके प्रति उचित कार्रवाई करेंगे।
 जिला कार्यक्रम अधिकारी अरविंद उपाध्याय द्वारा 15 दिन के अंदर कलेक्टर महोदय द्वारा निर्देशित कार्य योजना को बनाकर राष्ट्रीय बाल संरक्षण आयोग को प्रेषित किया जाएगा। जिसमें रेस्क्यू ऑपरेशन मॉनिटरिंग बच्चों की पहचान आदि चरण मौजूद व्याप्त रहेंगे। बैठक में उपस्थित पीतांबरा पीठ ट्रस्ट के प्रबंधक श्री महेश दुबे द्वारा मंदिर गेट पर भिक्षावृत्ति करने वाले बच्चों की निगरानी के लिए कैमरे लगाने की सहमति जताई व मंदिर परिसर में फिट फैसिलिटी हेतु भवन उपलब्ध कराने के लिए जानकारी देने की बात कही।
बैठक में सुश्री दिव्या सिंह डीएसपी, जिला बाल संरक्षण समिति सदस्य व बालमित्र रामजीशरण राय, जिला बाल संरक्षण समिति सदस्य देवेंद्र बौद्ध, श्रम अधिकारी दीक्षा दाँगी, वन स्टॉप सेंटर प्रशासक श्रीमती कमला साहू, जिला बाल संरक्षण अधिकारी धीरसिंह कुशवाहा, ब्रजेन्द्र कौरव, चाइल्ड लाइन दतिया की टीम व आकाश श्रीवास्तव, राजीव चौबे, हेमंत नामदेव, घनश्याम सहित अन्य विभागीय अधिकारी आदि उपस्थित रहे। उक्त जानकारी धीरसिंह कुशवाहा बाल संरक्षण अधिकारी द्वारा दी गई।