राज्य सरकार ने खेलों को बढ़ावा देकर प्रतिभाओं को तराशने का किया काम – शर्मा The state government has done the work of grooming talents by promoting sports – Sharma

बूंदी.KrishnakantRathore/ @www.rubarunews.com>> खेल में हार-जीत होती रहती हैं, लेकिन सभी खिलाडियों को खेल, खेल की भावना से खेलना चाहिए, ऐसा कहना हैं पूर्व वित्त राज्य मंत्री हरिमोहन शर्मा का। जो 66वीं राज्य स्तरीय थ्रो बॉल एवं टेनिस वॉलीबॉल खेल कूद प्रतियोगिता के उद्घाटन समारोह में मुख्यतिथि पद से संबोधित कर रहे थे। इस दौरान शर्मा ने खिलाड़ियों और कोचों को संबोधित करते हुए कहा कि राजस्थान सरकार ने खेलों को हर संभव बढ़ावा दिया है। यहां पर ग्रामीण अंचलों की प्रतिभाओं को तलाशने का काम भी शुरू किया है। इससे गांव गांव-शहर शहर में खिलाड़ियों का हौसला बढ़ रहा है। उन्होंने कहा कि आजादी के बाद गहलोत सरकार ने खिलाड़ियों को नौकरी भी दी। इससे खिलाड़ी खेलों में अपनी भागीदारी निभा रहे हैं।

राज्य सरकार ने खेलों को बढ़ावा देकर प्रतिभाओं को तराशने का किया काम – शर्मा The state government has done the work of grooming talents by promoting sports – Sharma

66वीं राज्य स्तरीय माध्यमिक व उच्च माध्यमिक विद्यालय 17/19 वर्ष छात्र/छात्रा के थ्रो बॉल एवं टेनिस वॉलीबॉल खेल कूद प्रतियोगिता का शुभारंभ आज रविवार को सीनियर सेकेंडरी विद्यालय में हुआ। उद्घाटन समारोह में मुख्य अतिथि पूर्व वित्त राज्य मंत्री हरिमोहन शर्मा रहे।

अध्यक्षीय संबोधन में नगर नगर परिषद सभापति मधु नुवाल ने कहा कि बूंदी जिले में राज्य स्तरीय खेलकूद प्रतियोगिता होना हमारे लिए सौभाग्य की बात है। यहां पर खिलाड़ियों को किसी प्रकार की परेशानी नहीं आने दी जाएगी। उन्होंने बालिकाओं से कहा कि वह हर क्षेत्र में आगे बढ़ चढ़कर कार्य करें और प्रदेश का नाम रोशन करें। समारोह में मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी तेज कंवर, जिला शिक्षा अधिकारी राजेंद्र व्यास ने यहां पर आयोजित खेलकूद प्रतियोगिताओं का प्रतिवेदन पढा। समारोह में बूंदी अरबन बैंक के अध्यक्ष सत्येश शर्मा, भारतीय थ्रोबॉल संघ कोटा के संरक्षक कमल गोस्वामी, उपाध्यक्ष रविशेखर, सचिव शिवराज खींची, उदयलाल मेघवाल, ओम प्रकाश गोस्वामी, चंद्र प्रकाश राठौड़ अतिरिक्त जिला शिक्षा अधिकारी, शारीरिक शिक्षक संघ के जिला अध्यक्ष शिवराज खींची, ऋषि राज शर्मा, सहायक निदेशक धनराज मीणा, बीकानेर से आए पर्यवेक्षक सीताराम बारूपाल, विद्याधर साल्वी, प्रतियोगिता संयोजक ओमप्रकाश वर्मा एवं दिनेश कुमार निंबेल, शारीरिक शिक्षक संयोजक मुक्ति दत्त शर्मा, संयुक्त निदेशक के प्रतिनिधि शिवराज चौधरी, शारीरिक शिक्षक मनोज आर्य, गुरु दत्त शर्मा, मुबारक जावेद, संजय पांडे, संतोष पाटनी, सत्यनारायण सहित कई शारीरिक शिक्षक मौजूद रहे। इससे पूर्व 33 जिलों की टीमों ने मैदान पर मार्च पास्ट किया। इस दौरान स्कूली छात्राओं ने सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी।