गांव में बदमाशों की दहशत, अब ग्रामीण सुरक्षा के लिए रातभर बंदूक से कर रहे रखवाली, गेट पर डाल रहे ताले

-खेतों में खड़ी फसल की कैसे करें किसान रखवाली, चहुंओर
भिण्ड। जिले के एक दर्जन गांव के लोगों का सामना बदमाशों के गिरोह से हो चुका है। वहीं, गुरियांची में अज्ञात बदमाशों द्वारा पूर्व सरपंच की हत्या, किसान पर जानलेवा हमला, इसी तरह पतलोखरी गांव में चोरी की वारदातें, इसी गांव से मजरा पर शादी की तैयारी कर रहे बदमाशों द्वारा वारदात के लिए आने की खबर पहले ही आ चुकी है। इन बदमाशों का मूमेंट की खबर हर रोज पुलिस को मिल रही है। अब तक एक दर्जन गांव में हथियार बंद बदमाश दिख चुके हैं। लोग दिन में घर के गेट पर ताला लगा रहे है। बंदूक लेकर गांव की निगरानी कर रहे हैं।हालांकि पुलिस बदमाशों की तलाश में सर्चिंग कर रही है। जिसके बाद भी अभी तक कोई भी बदमाशों सुराग हाथ नहीं लगा है लगातार खेतों व गांव में ड्रोन की मदद ली जा रही है फिर भी पुलिस को अभी तक किसी तरह की सफलता हाथ नहीं लगी है अब तो ग्रामीण खुद अपनी सुरक्षा के लिए थानों में जमा बंदूकें उठाकर खुद सुरक्षा करने के लिए रातभर रतजगा करना पड़ रहा है। उन्हें डर सता रहा है कहीं किसी की जनहानि न हो जाये, वहीं पुलिस भी पूरी दमखम के साथ गिरोह को खोजने में लगी हुई है यहां तक की एसएएफ की पलाटून भी लगा रखी है जिसकी मदद से बदमाश की खोजबीन जारी है।
सबसे पहले यहां पर घटित हुई वारदात
सबसे पहले मौ थाना क्षेत्र के गुरियांची गांव में 29 जनवरी शनिवार की रात अज्ञात बदमाशों ने पूर्व सरपंच कप्तान सिंह को गोली मारकर हत्या कर दी। इस घटना के बाद पूरे क्षेत्र में फैल गई क्योंकि बुजुर्ग सरपंच का किसी से विवाद न होना बताया गया। इसके बाद इसी गांव के रहने वाले बुजुर्ग किसान रुस्तम सिंह यादव पर जानलेवा हमला हुआ। इन दोनों घटना के दौरान के मेहगांव कस्बे के बरासों थाना क्षेत्र में पतलोखरी चोरी की घटना हुई। इस गांव के नजदीक एक मजारा में किसान के घर बेटी की शादी की तैयारियों के बीच बदमाशों की आहट हुआ। ग्रामीणों का अज्ञात गिरोह से सामना हुआ। इन सबके बीच पुलिस ने सर्चिंग अभियान चलाया। फिर भी कोई खबर नहीं लग सकी।
ग्रामीण बंदूक के साथ कर रहे अपनी निगरानी, डाल रहे मकान में ताले
ज्ञात हो कि बीते दिनों पतलोखरी गांव में ग्रामीणों घर चोरी की वारदात हुई। इस गांव के नजदीक मजरा चूरामन का पुरा गांव में लूट की नीयत से बदमाश गांव में घुसे जिनका सामना ग्रामीणों से हुआ। गांव के लोगों ने फायरिंग कर भगाया। इसके बाद महावर गांव, खैरा, रैंमजा गांव में भी बदमाशा को मूमेंट लोगों को दिखा। टीम ने पतलोखी गांव में जाकर देखा तो यहां बरासों पुलिस सर्चिंग करती हुई मिली। वहीं गांव में दिन के समय घरों के बाहर ताले लगे हुए मिले। जब लोगों से बातचीत की गई तो लोग बदमाश दिखने की जानकारी दे रहे हैं। परंतु कैमरे के सामने आने से हर कोई दूरियां बना रहा है।
यूपी में चुनाव, भिंड में दशहत
ग्रामीणों की मानें शुक्रवार-शनिवार की रात मछंड कस्बे के यूपी सीमा से सटे गांव में बदमाश दिखे। चंदावली गांव व अमायन के ग्रामीणों को बदमाश मिलने की बात बताई जा रही है। मिहोना के काथा गांव और मछरिया,इंदुर्खी, बिरोना के बीच सिहोर की माता के आस पास दिखे। इधर नुन्हाटा गांव के खेतों में भी बदमाशों की आहाट रही।असोना बडेरा गांव में महिला पर हमला हो चुका। ग्रामीणों के एकत्रित होने पर बदमाश भागे। पर्राचय गांव में भी बदमाशों और ग्रामीणों का आमना-सामना हो चुका है।सांदुरीए घौर पर्राचय कैमोखरी बडोनाए गुहीसर गांव में बदमाशों का स्थानीय लोगों से आमना सामना हो चुका है। ग्रामीणों के साथ पुलिस कर रही सर्चिंग।


इनका कहना है:
जहां भी बदमाशों के घूमने की खबर मिल रही है। वहां सर्चिंग कराई जा रही है। परंतु तो कोई भी पुलिस को कुछ भी नहीं बताता है। पुलिस पूरे मामले की पडताल में जुटी हुई है।
-कमलेश कुमार, एएसपी भिण्ड