जलीय जीवों की तस्करी करने वाले तस्कर गिरफ्तार

भिण्ड.ShashikantGoyal/ @www.rubarunews.com>> चंबल नदी से दुर्लभ प्रजाति की मछली व कछुआ की तस्करी लंबे समय से हो रही है। यह सूचना पर वन विभाग की एसडीओ श्रद्धा पांडेय ने शुक्रवार की रात गश्त दी। इस दौरान दो तस्करों को रंगे हाथों दबोचा। पकड़े गए आरोपियों को न्यायालय में पेश कर जेल भेज दिया गया। चंबल का बरही घाट। यहां दुर्लभ प्रजाति की मछलियां व विलुप्त प्रजाति के मांसभक्षी कछुए पाए जाते है। चंबल नदी के पुल से बाएं ओर लंबे समय से तस्करों की आवाजाही बनी हुई थी। यह जानकारी भिंड की प्रभारी(मुरैना में पदस्थ) एसडीओएफ श्रद्धा पांडेय को लगी। यह सूचना पर भिंड जिले के चंबल नदी के तट पर गश्त पर जवानों के साथ निकली। रात करीब नौ बजे एसडीओएफ पांडेय जब चंबल नदी के किनारे पहुंची।

 

यह सूचना तस्करों को लग गई। यह सूचना पर तस्कर भाग निकले। फॉरेस्ट जवानों की घेराबंदी से संजय यादव निवासी बरही और रंजीत बाल्मीक निवासी बरही को मौके पर रंगे हाथों पकड़ लिया। पकड़े गए आरोपियों से जिंदा मछलियां बरामद हुई। जिनका पंचनामा तैयार कर वन अमले ने नदी में छुड़वाया। इसके बाद आरोपियों को दबोच कर जलीय जीवों के आखेट की धाराएं लगाई गई। दोनों आरोपियों को शनिवार को न्यायालय में पेश कर जेल भेज दिया है। पूरे मामले में दैनिक भास्कर से बातचीत करते हुए स्ष्ठह्रस्न पांडेय ने बताया कि चंबल नदी में तीस प्रजाति की दुर्लभ मछलियां पाई जाती है। इन मछलियों का आखेट करना पूर्णत: प्रतिबंधित है। आरोपियों से यह मछलियां जब्त की थी। जोकि जिंदा थी उन्हें नदी में छोड़ दिया गया। आरोपियों से आखेट का सामान जब्त किया गया है।