नागरिकों के जीवन मे खुशहाली लाकर मुझे अपना जीवन सार्थक बनाना है- मुख्यमंत्री श्री चौहान

भोपाल.Desk/ @www.rubarunews.com>>मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि गाँव और नगर के विकास के लिये हर नागरिक को संकल्प लेना होगा। सभी को विकास में भागीदारी करनी होगी। राष्ट्रकवि दादा माखनलाल चतुर्वेदी एक भारतीय आत्मा थे, उन्होंने इस माटी की सुगंध को पूरी दुनिया में फैलाया है। उनके जन्म-दिवस को गौरव दिवस के रूप में मना रहे हैं। ऐसा ही गौरव दिवस हर शहर एवं गाँव में मनाया जाए। गौरव दिवस की परिकल्पना है कि हम सब अपने गाँव और शहर के विकास में जुट जाएँ। यह सिर्फ सरकारी काम नहीं है। अपना सबका काम है, विकास की ओर बढ़ना है और एक नए मध्यप्रदेश को गढ़ना है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान माखननगर में आयोजित गौरव दिवस कार्यक्रम को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि  हमारा गाँव, अपना शहर कैसे विकसित बने, इसकी कल्पना मिलकर करें। प्रदेश के विकास में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।  माखननगर में सफाई अभियान चलाया है। इसके लिए जिला प्रशासन, जन-प्रतिनिधि एवं क्षेत्र के नागरिकों को बधाई। इंदौर में जनता स्वच्छता अभियान से जुड गई, इसलिए इंदौर स्वच्छता में देश में नंबर वन बन गया है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि हम सबको मिलकर जल-संरक्षण, स्वच्छता और बिजली बचाने के अभियान में भी कार्य करना है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश का तेजी से विकास हुआ है। बीमारू राज्य से विकसित राज्य बन गया है। उन्होंने कहा कि गेहूँ खरीदी शुरू हो गई है। प्रदेश और नर्मदापुरम का गेहूँ विदेश में निर्यात होगा।  गेहूँ एक्सपोर्ट होगा तो किसानों को और अधिक दाम मिलेंगे। हमारे प्रदेश के गेहूँ को गोल्डन ग्रेन, एमपी बीट के नाम से भी जाना जाता है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि गेहूँ की फसल कट गई है। गो-माता की रक्षा के लिए गोशाला खोलो। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने उपस्थित नागरिकों से अपील की कि फसल कटाई के बाद नरवाई न जलाएँ क्योंकि इसके धुएँ से प्रदूषण फैलता है।  नरवाई से भूसा बनाया जाए, जिससे गो-माता की रक्षा हो सके। उन्होंने कहा कि स्वच्छता के क्षेत्र में इंदौर में बहुत कार्य हुआ है। वहाँ कचरे से खाद और सीएनजी बनाई जा रही है। नर्मदापुरम में भी यह कार्य होना चाहिए। स्वच्छता से बीमारी से भी बचाव होता है। गाँव-गाँव तय करें कि स्वच्छता में आगे रहें।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में  सीएम राइज स्कूल खुल रहे हैं, इसमें लाइब्रेरी होगी, स्मार्ट क्लास होंगी। इन स्कूलों में गरीब बच्चे की पढ़ाई भी बेहतर हो सकेगी। उन्होंने कहा कि हम मध्यप्रदेश में नया इतिहास रच रहे हैं। मेडिकल की पढ़ाई अब हिन्दी में होगी। अपने देश में अपनी भाषा में पढ़ा रहे हैं। अंग्रेजी सीखना बुरा नहीं है। निज भाषा की उन्नति होना चाहिए।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि 21 अप्रैल से मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना फिर से शुरू हो रही है। योजना में राशि 51 हजार से बढ़ाकर अब 55 हजार रूपये कर दी गई है। इसमें गड़बड़ी नहीं हो इसके लिए समिति बनाई जाएगी। जिला स्तरीय समिति तय करेगी कि अच्छा सामान बेटी को मिले।  उन्होंने कहा कि 2 मई को लाड़ली लक्ष्मी दिवस मनेगा।  साथ ही तीर्थ-दर्शन यात्रा 19 अप्रैल से शुरू हो रही है।  गरीब और मेधावी बच्चों की मेडिकल कॉलेज की फीस सरकार देगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कुपोषण दूर करना है। आँगनवाड़ी में गरीब बच्चे आते हैं, उन्हें वहाँ अच्छा खाना मिलेगा तो वे कुपोषित नहीं होंगे। किसान भाई आँगनवाड़ी के लिये अनाज दे सकते हैं। गाँव का मेरा बच्चा दुबला, पतला नहीं होना चाहिए।

सब मिलकर करें बिजली पानी की बचत

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि बिजली और पानी की बचत को हमें अपनी आदत में शामिल करना होगा। उन्होंने कहा कि सरकार ने  21 हजार करोड़ रूपये बिजली के लिए दिए हैं, तब गरीब तबके को सस्ती बिजली मिलती है। हम संकल्प लें कि व्यर्थ बिजली नहीं जलाएंगे। फिजूल खर्ची बंद कर दें तो 4 हजार करोड़ बचा सकते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस वर्ष पानी के लिए नल-जल योजना पर 12 हजार करोड़ खर्च किये जा रहे हैं। इसके लिए भी संकल्प लें कि फालतू पानी नहीं बहाएंगे। पानी जितना बचा सकें बचाएँ, पानी बचेगा तो दूसरों के काम आएगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि सरकार जनता के लिए काम करती है। इस काम में जनता को भी सहयोग करना चाहिए। क्षेत्र में हो रहे विकास कार्यों की गुणवत्ता बनी रहे, इसके लिए आमजन भी उसकी निगरानी करें। उन्होंने कहा कि अपराधियों और गुंडे-बदमाश की अवैध जमीन पर बुलडोजर चल रहा है। अन्याय  करने वालों को ऐेसा तोडूंगा कि जीने के लायक नहीं रहेंगे। अन्याय समाप्त करना है। अपराधियों का दमन करना जरूरी है। सभी संकल्प ले कि रिश्वत नहीं देंगे। बुराइयों की समाप्ति के लिए कदम उठाना है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि नशा नाश की जड़ है। नर्मदा किनारे शराब की दुकान नहीं खुलेंगी। प्रदेश में नशा मुक्ति अभियान  चलाना है। सभी संकल्प लें कि अपने गाँव को नशा मुक्त करेंगे। धीरे-धीरे नशा की बुराई को नष्ट करें। हम चाहते हैं कि प्रदेश में राम राज्य आए।

एक सौ करोड़ के विकास कार्यों का लोकार्पण और भूमि-पूजन

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने माखननगर के गौरव दिवस पर 100 करोड़ रूपये के विभिन्न विकास कार्यों का लोकार्पण एवं भूमि-पूजन किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने पं. माखनलाल चतुर्वेदी की स्मृति में माखननगर में ऑडिटोरियम बनाने की घोषण भी की।

नर्मदापुरम जिले के प्रभारी मंत्री श्री बृजेंद्र प्रताप सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री चौहान के नेतृत्व में प्रदेश निरंतर विकास कर रहा है। पिछले दिनों होशंगाबाद जिले का नामकरण नर्मदापुरम किया गया और आज पंडित माखनलाल चतुर्वेदी के जन्म-दिवस पर उनके जन्म स्थान बाबई का नामकरण “माखननगर” किया गया है, जिससे स्थानीय नागरिकों में खुशी का माहौल है।

सांसद श्री उदय प्रताप सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री चौहान प्रतिदिन दौरे करते हैं और क्षेत्र में हुए विकास कार्यों का जायजा लेते हैं। साथ ही प्रतिदिन वीडियो कॉन्फ्रेंस से भी अधिकारियों की बैठक लेकर योजनाओं की प्रगति की समीक्षा करते हैं। उनके प्रयासों से ही हमारा प्रदेश बीमारु प्रदेश की श्रेणी से निकलकर विकसित प्रदेशों की श्रेणी में आ गया है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने भारतीय जनता पार्टी के सबसे लंबे कार्यकाल वाले मुख्यमंत्री होने का गौरव प्राप्त किया है।

विधायक सोहागपुर श्री विजय पाल सिंह ने बाबई का नामकरण माखन नगर किए जाने के लिए मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान का आभार प्रकट किया। उन्होंने क्षेत्र के वन ग्रामों को राजस्व ग्राम बनाने तथा पेयजल समस्या वाले कुछ ग्रामों में नदी पर स्टॉप डेम बनाने का अनुरोध मुख्यमंत्री श्री चौहान से किया। उन्होंने मुख्यमंत्री श्री चौहान से अनुरोध किया कि माखननगर में दादा माखनलाल चतुर्वेदी जी की स्मृति में सांस्कृतिक भवन बनाया जाए। कार्यक्रम में छात्राओं ने  मनमोहक जनजातीय लोक नृत्य प्रस्तुत किया।

माखननगर में रहा उत्सवी माहौल

माखन नगर में राष्ट्रकवि माखनलाल चतुर्वेदी के जन्म-दिवस पर सोमवार को पूरे शहर में सुबह से ही उत्सवी माहौल रहा। पूरे शहर में सुबह से ही स्वच्छता अभियान चलाया गया। दादा माखन लाल चतुर्वेदी की प्रतिमा के पास विशेष साज-सज्जा की गई। पूरे शहर में घर-घर का उत्सव मनाया गया। घर और प्रतिष्ठान को सजाया गया। गौरव दिवस को लेकर हर नागरिक में एक अलग ही उमंग थी। बच्चों से लेकर वरिष्ठजन और महिलाओं के द्वारा गौरव दिवस की खुशी मनाई जा रही थी। शहर में अनेक स्थानों पर आतिशबाजी की गई।

पद्मश्री श्री विजयदत्त श्रीधर ने किया सम्मान

मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान द्वारा बाबई का नाम माखननगर किए जाने पर वरिष्ठ पत्रकार पद्मश्री श्री विजयदत्त श्रीधर ने माधवराव सप्रे राष्ट्रीय समाचार-पत्र संग्रहालय और शोध संस्थान, हिन्दी भवन, तुलसी मानस प्रतिष्ठान और म.प्र. लेखक संघ की ओर से स्मृति-चिन्ह देकर मुख्यमंत्री श्री चौहान का सम्मान किया। गौरव दिवस कार्यक्रम में विधायक, जन-प्रतिनिधि, दादा माखनलाल चतुर्वेदी के परिजन और बड़ी संख्या में नागरिक उपस्थित रहे।