पाइपों में लगी भीषण आग, लाखों के जलकर हुए खाक छ: फायर बिग्रेड ने देर रात पाया काबू

भिण्ड.ShashikantGoyal/ @www.rubarunews.com>> शहर में जलावर्धन योजना के तहत पिछले एक वर्ष से पाइप लाइन बिछाने का कार्य किया जा रहा है और टाटा कंपनी के यह पाइप शहर के जैन कीर्ति स्तंभ के पीछे रखे हुए थे, जिसमें अचानक किसी कारण के चलते शुक्रवार दोपहर आग लग गई और चिंगारी देखते ही देखते तेज लपटों में तब्दील हो गई, आगजनी की सूचना स्थानीय लोगों ने फायर बिग्रेड को दी और तुरंत मौके पर पहुंचकर आग बुझाने का प्रयास किया लेकिन देर शाम तक काबू नहीं पाया गया। इस आग को बुझाने के लिए चार गाडिय़ां मौके पर पहुंची, लेकिन आग इतनी भयानक रूप ले चुकी थी कि देर रात तक आग पर काबू पाया गया। आगजनी की सूचना मिलते ही मौके पर नगरीय व जिला प्रशासन सहित पुलिस बल मौके पर पहुंचा तब तक लाखों रुपये के पाइप जलकर खाक हो चुके थे।

विगत एक वर्ष पहले शहर की गली-मोहल्लों में जलावर्धन योजना के तहत पानी की पाइप लाइन बिछाने का कार्य किया जा रहा है और ठेकेदार द्वारा यह पाइप शहर के जैन कीर्ति स्तंभ के पीछे खाली पड़े ग्राउंड में रख दिये थे, इसके साथ ही विगत तीन से चार दिन से कड़ाके की सर्दी पड़ रही है और अज्ञात कारणों के चलते दोपहर में पाइप आग से जलकर खाक हो गये। जब दूर-दूर से आग की लपटे दिखाई दी तो लोगों ने तुरंत इसकी सूचना स्थानीय प्रशासन को दी, जिसके बाद आग बुझाने के लिए चार दमकल गाडिय़ों को लगाया, लेकिन आग भीषण होने के चलते काबू नहीं पाया जा सका, जेसीबी मशीन की सहायता से पाइपों को अलग-अलग किया गया, तब जाकर देर रात काबू पाया गया, तब तक लाखों रुपये के पाइप आग से जलकर खाक हो गये। ठेकेदारों के द्वारा गली मोहल्लों में प्रोजेक्ट का कार्य तेजी से किया जा रहा था लेकिन सर्दी अधिक होने के कारण कार्य मे रुकावट होने पर ठेकेदार के द्वारा शहर के जैन कीर्ति स्तंभ के पीछे रखे पानी के पाइपो में अचानक भीषड आग लग गई जिसमे लाखों का नुकसान हो गया। सूचना मिलते ही शहर थाना प्रभारी उदयभान सिंह यादव मौके पर दलबल के साथ पहुंचे और मामले की जांच भी कर रहे है कारण खबर लिखे जाने तक स्पष्ट नहीं हो पाया है कि आखिर आगजनी की घटना कैसे घटित हो गई।