सभी वंचित परिवारों का चिरंजीवी में करवाएं पंजीकरण – डॉ. सामर Get all the deprived families registered in Chiranjeevi – Dr. Samar

बून्दी.KrishnakantRathore/ @www.rubarunews.com>> चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना की प्रगति की समीक्षा वीडियो कॉन्फेसिंग के माध्यम से सीएमएचओ डॉ. ओ. पी. सामर की अध्यक्षता में की गई। सीएमएचओ डॉ. सामर ने सभी खण्ड स्तरीय अधिकारी को निर्देश देते हुए कहा कि कोई भी पात्र परिवार योजना से वंचित नहीं रहना चाहिए। जो परिवार योजना से जुडे हुए नहीं है उन्हें समझाइश  कर योजना से जुडने के लिए प्रोत्साहित किया जाए। सभी खण्ड स्तरीय अधिकारी योजना की प्रगति की प्रतिदिन मॉनिटरिंग कर समीक्षा करना सुनिश्चित करते हुए चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना के अंतर्गत चयनित सामाजिक आर्थिक जाति जनगणना 2011 के परिवारों के सदस्यों का आयुष्मान-चिरंजीवी कार्ड तैयार कारवाए। जिले में 4 लाख 38 हजार 261 नागरिकों का आयुष्मान-चिरंजीवी कार्ड में पंजीकरण करवाया जाना है। जिले में 31 अक्टूबर 2022 से आयुष्मान-चिरंजीवी कार्ड पंजीकरण का कर्य शुरु कर दिया गया था। 25 दिसम्बर तक सभी वंचित परिवारों का रजिस्ट्रेशन सहित चिरंजीवी कार्ड बनाने और ई-वेरिफिकेशन करवाये जाने हेतु निर्देशित किया गया। वीडियो कॉन्फेसिंग में डिप्टी सीएमएचओ डॉ कमलेश शर्मा, डीपीएम राहुल माथुर, डीपीसी डॉ. उगता मीणा सहित सभी बीसीएमओ, चिकित्सा अधिकारी प्रभारी, खण्ड कार्यक्रम प्रबंधक एवं खण्ड हैल्थ सुपरवाईजर, सीएचओ उपस्थित रहे।

सभी वंचित परिवारों का चिरंजीवी में करवाएं पंजीकरण – डॉ. सामर Get all the deprived families registered in Chiranjeevi – Dr. Samar

चिरंजीवी योजना में 10 लाख का स्वास्थ्य बीमा और 5 लाख दुर्घटना बीमा

सीएमएचओ डॉ. ओ. पी. सामर ने बताया कि मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना में पंजीकरण करवाने वाले परिवारों को 10 लाख रुपए तक का निःशुल्क स्वास्थ्य बीमा और 5 लाख रुपए तक का दुर्घटना बीमा दिया जा रहा है। आयुष्मान चिरंजीवी कार्ड बनवाने के बाद जिले के नागरिक राजस्थान के अन्य किसी राज्य के एम्पैनेल्ड हॉस्पीटल में पांच लाख रुपए तक का निःशुल्क स्वास्थ्य लाभ ले सकते हैं। चिकित्सा विभाग के आशा सहयोगिनियों, आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं, आशा सुपरवाइजर, सीएचओ द्वारा घर-घर जाकर सामाजिक आर्थिक जाति जनगणना 2011 के परिवारों के सदस्यों का आयुष्मान-चिरंजीवी कार्ड तैयार किया जा रहा है। आमजन स्वयं भी पीएमजेएवाई मोबाइल ऐप के माध्यम से स्वयं भी आयुष्मान-चिरंजीवी कार्ड में अपना पंजीकरण करवा सकते हैं। उन्होंने आमजन से आग्रह किया कि जल्द से जल्द आयुष्मान-चिरंजीवी कार्ड में पंजीकरण करवाएं ताकि जरूरतमंदों को जिले के बाहर भी स्वास्थ्य लाभ मिल सके।