सांभर झील क्षेत्र में अतिक्रमण का स्थायी समाधान खोजें – मुख्य सचिव

जयपुर.K.K.Rathore/ @www.rubarunews.com>> मुख्य सचिव निरंजन आर्य(Chief Secretary Niranjan Arya) ने कहा कि सांभर झील राष्ट्रीय महत्व का महत्वपूर्ण रामसर क्षेत्र है। उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र में बार- बार होने वाले गैर कानूनी अतिक्रमणों का स्थायी समाधान खोजा जाना जरूरी है।

मुख्य सचिव सांभर झील के प्रबन्धन की स्टैंडिंग कमेटी की बुधवार को यहां शासन सचिवालय में  वीडियो कॉफ्रेंस  के माध्यम से आयोजित विभिन्न विभागाें की बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे ।

श्री आर्य ने कहा कि सांभर झील(Sambhar Lake) के संरक्षण को लेकर राज्य सरकार गंभीर है। झील क्षेत्र में बार – बार होने वाले अतिक्रमण , अवैध बिजली कनेक्शन और अवैध  कब्जे रोकने के लिये स्थानीय जिला प्रशासन ,विभिन्न विभागाें और सांभर सॉल्ट लिमिटेड को समन्वित रूप से प्रयास  करने होंगे। मुख्य सचिव  ने विभिन्न विभागाें के समन्वय से एक टास्क फॉर्स गठित करने के निर्देश देते हुए कहा कि क्षेत्र की निरंतर पेट्रोलिंग आवश्यक है ताकि अवैध बोरवैलों को तुरंत तोड़ा जा सके और बिजली केबलाें को जब्त किया जा सके। श्री आर्य ने अतिक्रमण करने वालाें पर दंडात्मक कार्यवाही करने के निर्देश भी दिये।

इस अवसर पर वन एवं पर्यावरण विभाग की प्रमुख शासन सचिव श्रीमती श्रेया गुहा(Principal Secretary of Government, Mrs. Shreya Guha) ने कहा कि झील क्षेत्र में अतिक्रमण की घटनाएं बार – बार नहीं  हो , इसके लिए संसाधनाें की कमी नहीं आने दी जायेगी और समय – समय पर विशेष अभियान चलाये जायेंगे ताकि अतिक्रमण करने वालों के मन में भय व्याप्त हो।

बैठक में नागौर और अजमेर जिला कलक्टरों ने अतिक्रमण करने वालों के खिलाफ की गई कार्यवाही के बारे मे बताया कि यदि कोई व्यक्ति कृषि भूमि का उपयोग नमक बनाने में कर रहा है तो उसके खिलाफ एफ आइ आर दर्ज की जाती है। जिला कलक्टरों ने बताया कि सांभर झील के काफी बडे भू भाग मे अवैध बोरवैल तोडे गये हैं और पम्प सैट भी जब्त किये गये है। साथ ही अवैध बिजली केबलाें को भी हटाया गया है।

बैठक में सांभर झील क्षेत्र की प्रबंधन योजना की क्रियान्वित की समीक्षा भी की गई। इस दौरान जल संसाधन  विभाग के प्रमुख सचिव  नवीन महाजन,राजस्व विभाग के प्रमुख सचिव  आनन्द कुमार, स्वायत्त शासन विभाग के सचिव  भवानी सिंह देथा, पशुपालन विभाग की सचिव श्रीमती आरूषि मलिक,पंचायती राज की सचिव श्रीमती मंजू राजपाल, उद्योग विभाग के सचिव  आशुतोष पेडणेकर, भूजल विभाग की विशिष्ट सचिव श्रीमती उर्मिला राजौरिया सहित  सांभर झील प्रबन्धन की स्टेंडिग़ कमेटी में सम्मिलित विभागों के उच्चधिकारियों ने वीडियो कॅान्फ्रेन्स  के माध्यम से भाग लिया ।