विभाग का रहेगा योजनाओ के सुदृढीकरण और नियमितीकरण पर जोर – सीएमएचओ

बून्दी.KrishnakantRathore/ @www.rubarunews.com-  वैश्विक महामारी कोरोना वायरस की वजह से विभागीय कार्यक्रमो के आयोजन मे शिथिलता आ गई थी। जिसे अब सुदृढ और नियमित किये जाने पर विभाग का पूर्ण जोर रहेगा जिससे विभागीय सेवाऐ बाधित ना हो।

 

इसी क्रम मे मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. महेन्द्र कुमार त्रिपाठी ने समस्त खण्ड मुख्य चिकित्सा अधिकारीयो की बैठक लेकर आवश्यक दिशा निर्देश प्रदान किए। उन्होने कहा की स्वास्थ्य कार्यक्रमो का बेहतर तरीके से क्रियान्वयन करने के लिए खण्ड स्तरीय एवं सेक्टर स्तरीय सुदृढीकरण और नियमितीकरण अति आवश्यक है। उन्होने विभाग के राष्ट्रीय कार्यक्रमो की समीक्षा करते हुए बी.सी.एम.ओ. को आवश्यक निर्देश प्रदान करते हुए जिले मे चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की और से चल रहे विभिन्न कार्यक्रमो टीकाकरण, संस्थागत प्रसव, प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान, मौसमी बिमारिया, मुख्यमंत्री निःशुल्क दवा एवं जॉच योजना , परिवार कल्याण , वर्टिकल प्रोगा्रम सहित अन्य सभी कार्यक्रमो पर ब्लॉक चिकित्सा अधिकारीयो कि बैठक लेकर विस्तार से चर्चा की। उन्होने टीकाकरण के लक्ष्यो व संस्थागत प्रसव के आकडो पर भी विस्तार से जानकारी ली। उन्होने मौसमी बिमारीयो की रोकथाम एवं सर्वे कार्य तथ रोगियो की जानकारी के सबंध मे आवश्यक दिशा निर्देश प्रदान किए। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. महेन्द्र कुमार त्रिपाठी ने सभी बी.सी एम.ओ. को कोविड वैक्सीन के वेस्टेज एवं ऑनलाईन व ऑफलाईन डाटा के सबंध मे विस्तार से जानकारी प्राप्त करतें हुए वैक्सीन वेस्टेज को लेकर सख्ती बरतने एवं वैक्सीन का पूर्ण उपयोग करनें के लिए पाबंद किया।

डॉ. त्रिपाठी ने बी.सी.एम.ओ. को अपने खण्ड क्षेत्र की स्वयं मोनिटरिंग कर व्यवस्थाओ को सुधारने के लिए निर्देशित करते हुए निरीक्षण रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश प्रदान किए। बैठक मे जिला प्रजनन एवं शिशु स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. जे.पी.मीणा ने घर-घर सर्वे के अन्तर्गत आशा सहयोगिनियो द्वारा लाईन लिस्ट बनाकर कोविड वैक्सीन की पहली डोज लेने वाले प्रत्येक नागरिक को टीके की दुसरी डोज 84 दिन के अन्तराल पर लेने पर सबंधित संस्थान पर पहुॅचने के लिए प्रेरित करते हुए ड्यु लिस्ट तैयार कर सत्र स्थ्ल पर भिजवाने के निर्देश प्रदान किए। जिसका मुख्य उद्देश्य कोविड के दौरान आमजन को अनआवश्यक परेशानी से बचाना है। उन्होने कोविड केयर सेन्टर एवं वैक्सीनेशन सेन्टर पर पर्याप्त सुविधाऐ प्रदान करने के निर्देश देते हुए कहा कि हमारा उद्देश्य जिले मे कोरोना संक्रमण के फैलाव को रोकना एवं संक्रमितो को पूरा उपचार प्रदान करना है। जिले मे शत प्रतिशत वैक्सीनेशन करवाना हमारी पहली प्राथमिकता है।