श्योपुर शहर सहित प्रभावित ग्रामों का पुर्ननिर्माण होगा-सीएम श्री चौहान

.  श्योपुर.Desk/ @www.rubarunews.com-मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान एवं श्योपुर-मुरैना संसदीय क्षेत्र के सांसद एवं केन्द्रीय मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने नगरपालिका के मैरिज गार्डन में बाढ़ प्रभावित लोगो से  मुलाकात कर उन्हे ढांढस बंधाया तथा हर संभव मदद का भरोसा दिलाया। इस अवसर पर जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती कविता मीणा, भाजपा के जिला अध्यक्ष श्री सुरेन्द्र जाट, पूर्व विधायक श्री दुर्गालाल विजय, श्री बृजराज सिंह चौहान, भाजपा के प्रदेश कार्य समिति के सदस्य श्री महावीर सिंह सिसौदिया एवं श्री कैलाशनारायण गुप्ता, पूर्व भाजपा जिला अध्यक्ष श्री अशोक गर्ग सहित प्रशासनिक अधिकारी आदि उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने इस अवसर पर कहा कि श्योपुर शहर सहित सभी प्रभावित ग्रामों का पुर्ननिर्माण कराया जावेगा। उन्होने कहा कि संकट बडा है, पर सरकार आपके साथ खडी है। चिंता की कोई बात नही है। इस संकट से हम जरूर उबरेगे। शासन, प्रशासन सब प्रकार की व्यवस्थाएं सुनिश्चित कर रहा है। उन्होने तात्कालीक रूप से सहायता करने वाले श्योपुर के विभिन्न समाजजनों, व्यापारियों आदि के प्रति धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा कि जिसका भी नुकसान हुआ है, हर एक की मदद की जावेगी। उन्होने कहा कि आप संकट में थे, तो मैं भी चैन की नीद नही सोया।
उन्होने कहा कि नुकसान का सर्वे पारदर्शितापूर्ण तरीके से कराये जाने के निर्देश दे दिये गये है। कोई भी प्रभावित छूटना नही चाहिए। चाहे सर्वे दो बार तीन बार करना पडे। प्रशासन को कहा गया है कि उदारतापूर्वक सर्वे का कार्य किया जावे। जिनके मकान टूटे है अथवा ध्वस्त हो गये है। उन्हे मकान बनाने के लिए 01 लाख 20 हजार रूपयें की राशि दिये जाने का प्रावधान किया है। यह राशि ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्र के प्रभावितों को दी जावेगी। 06-06 हजार रूपयें की राशि तात्कालीक रूप से आवास व्यवस्था तथ गृहस्थी के सामान के लिए 05-05 हजार रूपयें की राशि प्रदाय कर दी गई है। उन्होने कहा कि फसलों के नुकसान के लिए सर्वे कराया जावेगा तथा क्षति का आंकलन कर नुकसान की भरपाई की जावेगी। उन्होने कहा कि किसी भी व्यक्ति की राहत राशि में से कोई भी बैंक किसी भी प्रकार की राशि नही काटेगा। ऐसी व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए उन्होने कलेक्टर श्री शिवम वर्मा को निर्देशित किया। बाढ़ प्रभावित व्यापारियों से चर्चा के बाद उन्होने कहा कि जिन व्यापारियों, दुकानदारों का पानी के कारण नुकसान हुआ है। उनके लिए भी कुछ ना कुछ रास्ता निकाला जावेगा। व्यापार पुर्नः चालू करने के लिए बैंक ऋण उपलब्ध कराये जायेगे तथा ब्याज की राशि शासन द्वारा वहन की जायेगी। शहर की जो निचली बस्तियां एवं ग्रामीण क्षेत्र के ऐसे गांव जो डूब क्षेत्र में संभावित है उन्हे उपयुक्त जमीन देकर बसाने की कार्यवाही की जावेगी। सामुदायिक एवं सामुहिक निर्माण से बाढ़ प्रभावित अपनी स्वैच्छा से शासन द्वारा प्रदत्त राशि के माध्यम से अपने आवास विकसित कर सकते है। जिस कारण निर्माण कार्य में लागत कम आयेगी। उन्होने बाढ़ के समय में क्षेत्रीय सांसद एवं केन्द्रीय मंत्री श्री तोमर के द्वारा उठाये गये कदमों की सराहना करते हुए कहा कि तात्कालीक रूप से उनके द्वारा मशीनरी, उपकरण एवं कर्मचारियों को श्योपुर भेजकर बाढ़ प्रभावितों को राहत पहुंचाई।

इसके पूर्व केन्द्रीय मंत्री  नरेन्द्र सिंह तोमर ने कहा कि श्योपुर एवं शिवपुरी जिलों में अन्य जिलो की अपेक्षा अतिवृष्टि एवं बाढ़ का अधिक प्रभाव रहा है। हजारों लोग प्रभावित हुए है तथा व्यापारियों, दुकानदारों को नुकसान हुआ है। सरकार सबकी मदद कर रही है। उन्होने कहा कि मा. मुख्यमंत्री ने मेरे निवेदन पर तत्काल रूप से इन्दौर, ग्वालियर, मुरैना आदि स्थानों से उपकरण एवं मशीनरी तथा सफाई कर्मचारियों को श्योपुर भेजकर राहत पहुंचाने का कार्य किया है। उन्होने कहा कि स्थिति सामान्य होने में समय लगेगा फिर भी सभी प्रकार की व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जा चुकी है। भोजन, खाद्यान, कपडे, दवाईयां एवं नगद राशि सभी प्रदाय किये जा रहे है। साफ-सफाई का कार्य भी त्वरित गति से कराया जा रहा है।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान एवं श्योपुर-मुरैना संसदीय क्षेत्र के सांसद एवं केन्द्रीय मंत्री  नरेन्द्र सिंह तोमर द्वारा सभी प्रभावितों के बीच पहुंचकर उनकी समस्याओं को सुना तथा हर संभव मदद का भरोसा दिलाते हुए अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। साथ ही अपने साथ लाई गई राहत सामग्री छोटे बच्चों के लिए 05 हजार ड्रेस तथा 10 हजार साड़ियां बाढ़ पीडितो तक पहुंचाने के लिए प्रदाय की गई।
बाढ़ प्रभावित ग्राम सरोदा जाने से पूर्व वीर सावरकर स्टेडियम श्योपुर हेलीपेड पर कांग्रेस के प्रतिनिधि मंडल द्वारा मुख्यमंत्री श्री चौहान एवं केन्द्रीय मंत्री श्री तोमर से चर्चा की।
ललिता, पाना, शंकर एवं फारूक से मिले, बंधाया ढांढस
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान एवं श्योपुर-मुरैना संसदीय क्षेत्र के सांसद एवं केन्द्रीय मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने नगरपालिका के मैरिज गार्डन राहत शिविर में निवास कर रहे बाढ़ प्रभावितों से भेंट की तथा उन्हें हर संभव मदद का भरोसा दिलाते हुए ढांढस बंधाया। इस दौरान उन्होने श्रीमती ललिता बाई पत्नी श्री महावीर रजक निवासी बाल्मिकी मोहल्ला, श्रीमती पाना बाई पत्नी श्री सियाराम निवासी वार्ड 06, श्री शंकर बाल्मिक निवासी हरिजन बस्ती वार्ड 02 एवं श्री फारूक अब्बासी निवासी वार्ड 02 आदि प्रभावितों से मिलकर बातचीत की तथा उनकों शिविर में मिल रही सुविधाओं का अवलोकन किया।
प्रभावित क्षेत्रों में राहत एवं पुर्नवास कार्य जारी -मुख्यमंत्री श्री चौहान
मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान ने श्योपुर तहसील के बाढ़ प्रभावित ग्राम सरोदा में पीडित परिवारों संबोधित करते हुए कहा कि बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में राहत एवं पुर्नवास के कार्य त्वरित गति से चलाये जा रहे है। जिनके अंतर्गत जिला प्रशासन द्वारा 23 करोड़ से अधिक की राशि बाढ़ पीडितो के खाते में आज ही डाली गई है। इसके पूर्व 28 करोड़ रूपयें की राशि प्रभावितो के बैंक खातो में राहत के रूप में भेजी गई है। इस प्रकार कुल 52 करोड़ रूपयें की राशि चंबल एवं ग्वालियर संभाग के प्रभावित जिलों में बाढ़ प्रभावितों की मदद हेतु जारी किये गये है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि सीप एवं अहेली नदियों के बाढ़ प्रभावितो के लिए कोई कोर कसर नही छोडी जावेगी। बडौदा एवं मानपुर क्षेत्र के सभी गांवों में राहत कार्य चलाये जा रहे है। क्षतिग्रस्त सड़कों एवं पुल, पुलियाओ के निर्माण चल रहे है। जिससे आवागमन को सुगम बनाया जा सके। उन्होने कहा कि नदी किनारें बसाहटों के पुर्नवास के लिए योजना बनाई जावेगी। जिसमें ग्रामीणों की सहमति के अनुसार निर्णय लिये जावेगे। उन्होने कहा कि संकट के बीच सरोदा क्षेत्र के ग्रामीणों का दुख, दर्द जानने के लिए आया हूॅ। बाढ़ के दौरान भी बहरावदा के एक व्यक्ति से बात हुई थी।

उन्होने कहा कि बिजली की टूटी हुई लाइनों, मकानो की क्षति हुई थी। इस आश्य की जानकारी भी केन्द्रीय मंत्री श्री तोमर के माध्यम से प्राप्त हुई थी। इसे सुनकर मन को काफी पीडा हुई। इस संकट से बाहर ले जाने के लिए प्रदेश सरकार िंनंरतर कार्य कर रही है। कूनो-सीप नदी के पूल टूटे है। जिन्हे शीघ्र बनवाकर यातायात सुचारू किया जावेगा। उन्होने कहा कि नये कलेक्टर  शिवम वर्मा एवं पुलिस अधीक्षक श्री अनुराग सुजानिया मेहनत से काम कर रहे है। कलेक्टर उदारतापूर्वक सर्वे कार्य को पारदर्शिता के साथ करावे। जिसमें कोई भी व्यक्ति छूटना नही चाहिए। साथ ही निचला अमला भी सर्वे के दौरान गलत जानकारी नही लिखे। फसलो के सर्वे कार्य राजस्व, पंचायत एवं कृषि विभाग के माध्यम से कराया जावेगा। सर्वे की सूची पंचायत भवनों पर चस्पा की जावेगी। सूची में पात्र किसान छूटने नही चाहिए। बाढ़ के कारण खेतों में जमा हुई शिल्ट को सरकारी खर्चे पर हटाने की कार्यवाही की जावेगी। उन्होने कहा कि चंबल नहर जिन स्थानो पर क्षतिग्रस्त हुई है। उसकी मरम्मत का कार्य कराया जावेगा। जिससे किसानों को सिंचाई में कोई परेशानी नही आयेगी।

श्योपुर-मुरैना संसदीय क्षेत्र के सांसद एवं केन्द्रीय मंत्री  नरेन्द्र सिंह तोमर ने कहा कि मप्र सरकार बाढ़ पीडित परिवारों के साथ है। अतिवर्षा से आई बाढ़ के कारण ग्वालियर-चंबल संभाग के कई गांव प्रभावित हुए है। राहत एवं पुर्नवास कार्य लगातार चल रहे है। श्योपुर जिले मे अधिक नुकसान हुआ है। उन्होने कहा कि जब-जब आपदा से नुकसान होता है। तब-तब मप्र सरकार उसकी भरपाई करती आई है। अभी हुई बाढ़ से एक-एक प्रभावित की भरपाई की जावेगी। सरोदा के कार्यक्रम में क्षेत्रीय विधायक  बाबू जण्डेल ने मुख्यमंत्री  को बाढ़ प्रभावितों की समस्याओ सें संबंधित ज्ञापन दिया। संरपच  अशोक त्यागी ने मंच से मुख्यमंत्री  को अवगत कराया कि श्योपुर तहसील के सरोदा क्षेत्र में सीप नदी में आई बाढ़ से कई लोगो के घर तबाह हो गये तथा घरेलू सामान का नुकसान हुआ है। उन्होने मांग की कि सर्वे कार्य इस प्र्रकार से हो कि प्रत्येक प्रभावित को राहत मिल जाये और लोग संतुष्ट रहे। सरोदा कार्यक्रम में मुख्यमंत्री
शिवराज सिंह चौहान एवं केन्द्रीय मंत्री  नरेन्द्र सिहं तोमर द्वारा मंच पर पहुंचाने से पूर्व आसपास के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रो से आये प्रभावितों से भेंटकर चर्चा की गई तथा उनकी समस्याओं को सुना। इस अवसर पर विभिन्न विभागो द्वारा लोगो को राहत पहुंचाने के लिए स्टॉल लगाये गये। जिनके माध्यम से पीडित परिवारों को सुविधाएं उपलब्ध कराई गई।

05 हितग्राहियों को प्रतिकात्मक रूप से स्वीकृति पत्र दिये
मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान एवं केन्द्रीय मंत्री  नरेन्द्र सिंह तोमर ने सरोदा कार्यक्रम में सरोदा एवं बहरावदा के 05 हितग्राही श्यामबाबू, रघुवीर, रामभजन, दिनेश मीणा, कैलाशी बाई को आवास, गृहस्थी का सामान, मकान, किराया आदि के लिए प्रत्येक को 01 लाख, 12 हजार 470 रूपयें की राशि के स्वीकृति पत्र प्रतिकात्मक रूप से प्रदान किये गये। इसके पूर्व श्योपुर एनआईसी कक्ष में अन्य जिलो के साथ श्योपुर जिले के 1869 हितग्राहियों के खाते में 05 करोड़ 40 लाख 69 हजार 900 रूपयें की राशि अतंरित की गई।


सरोदा कार्यक्रम में यह भी रहे उपस्थित
सरोदा कार्यक्रम में संभागायुक्त  आशीष सक्सेना, आईजी चंबल रेज  सचिन अतुलकर, कलेक्टर  शिवम वर्मा, पुलिस अधीक्षक  अनुराग सुजानिया, चंबल संभाग के अपर आयुक्त  अशोक कुमार चौहान, क्षेत्रीय विधायक  बाबू जण्डेल, विजयपुर क्षेत्र के विधायक  सीताराम आदिवासी, भाजपा के जिला अध्यक्ष  सुरेन्द्र जाट, जिला पंचायत की अध्यक्ष श्रीमती कविता मीणा, पूर्व विधायक  दुर्गालाल विजय,  बृजराज सिंह चौहान, भाजपा के प्रदेश कार्य समिति के सदस्य  महावीर सिंह सिसौदिया एवं  कैलाश नारायण गुप्ता, पूर्व भाजपा जिला अध्यक्ष  अशोक गर्ग,  मूलचंद रावत, सीईओ जिला पंचायत  राजेश शुक्ल, मुरैना के एडीएम  नरोत्तम भार्गव, श्योपुर एडीएम  टीएन सिंह, एसडीएम विजयपुर  नीरज शर्मा आदि उपस्थित थे।