बच्चों ने गुंजन सक्सैना-कारगिल गर्ल देख ली जीवन में लक्ष्य निर्माण की प्रेरणा

बून्दी.KrishnakantRathore/ @www.rubarunews.com– अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस कार्यक्रमों की श्रंखला में महिला अधिकारिता विभाग द्वारा मनाए जा रहे बालिका सशक्तिकरण पखवाड़े के तहत गुरुवार को ग्राम उलेडा में किशोरी स्वास्थ्य परिचर्चा व प्रश्नोत्तरी तथा बरुन्धन में बालिकाओं को मोटिवेशन फ़िल्म का प्रदर्शन किया गया। इस अवसर पर उमंग संस्थान के सचिव कृष्ण कान्त राठौर, एक्शनएड संस्था के मांगी लाल शेखर और संगीता शर्मा मुख्य वक्ता थे।
संभागियों को संबोधित करते हुए कृष्ण कान्त राठौर ने मानसिक स्वास्थ्य, तनाव और संवेदनशीलता विषय पर जानकारी देंते हुए तनाव प्रबंधन में कारगर मेडिटेशन व लॉफिंग थेरेपी की भूमिका की जानकारी दी। मांगी लाल शेखर – शिक्षा, बाल अधिकार और लैंगिक समानता पर प्रकाश डाला। संगीता शर्मा ने स्वच्छता, हाईजीन, पोषण स्वास्थ्य पर अपने विचार रखे । सम्भागी विष्णु कान्ता सुमन और आयुशी सहित अन्य बालिकाओं ने अपने विचार व्यक्त किए । मोहन लाल रेगर ने अतिथियों का स्वागत किया तथा प्रमोद सिखवाल ने आभार जताया।

गुंजन सक्सेना के जीवन से प्रेरणा लेकर करे लक्ष्य निर्माण ….

इसी प्रकार राउमावि बरुन्धन मे कारगिल युद्घ में फ़ाईटर जेट उडाने वाली गुंजन सक्सेना पर आधारित मोटिवेशन फ़िल्म “गुंजन सक्सेना-कारगिल गर्ल” का प्रदर्शन किया गया।
प्राचार्य अशफ़ाक गौरी और उमंग की ज्ञानार्थ प्रभारी शोभा कंवर ने बालिकाओ को गुंजन सक्सेना के जीवन पर प्रकाश डालते हुए जीवन प्रेरणा व लक्ष्य निर्माण हेतु प्रेरित किया, इन्होंने कहा कि मंजिल उन्ही को मिलती है जिनके हौसले बुलंद होते हैं। गुंजन से हमे यही प्रेरणा मिलती है।
फ़िल्म देख कर नेहा बैरवा, टीना वर्मा, हिना मेघवाल, दिव्या चित्तोड़ा, ज्योति ने एक सुर मे कहा कि यह फ़िल्म हमे सिखाती है कि सपने देखो और पूरे जोर शोर से उसे पूरा करने में लग जाओ, जरूर सच होंगे। कोई कितना भी हतोउत्साहित करे हार नही माननी चाहिए। इस अवसर पर देवराज बैरवा, रणजीत मीणा सहित स्टाफ़ सदस्य और सम्भागी बालिकाएं मौजुद रही।