दुख की घड़ी में निखिल के परिवार के साथ खड़ा हूं-बिरला

कोटा.KrishnakantRathore/ @www.rubarunews.com- लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने शुक्रवार को युवा व्यवसायी निखिल टेकवानी के घर जाकर परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की। उन्होंने परिजनों से पूरे घटनाक्रम की जानकारी ली तथा उन्हें आश्वस्त किया कि दुख की इस घड़ी में वे उनके साथ खड़े हैं।

लोकसभा अध्यक्ष बिरला ने कहा कि निरपराध युवा व्यवसायी के साथ ऐसी क्रूरता चिंताजनक है। इस मामले में दोषियों के कड़ी सजा दिलाने के साथ इस बात की भी जांच आवश्यक है कि परिजनों की ओर से शिकायत दिए जाने के बाद निखिल को तलाशने में लापरवाही तो नहीं बरती गई। वारदात के तीन दिन बाद भी पुलिस निखिल को नहीं तलाश पाई जो पुलिस की कार्यशैली पर सवाल है।
उन्होंने कहा कि जिस जगह निखिल का शव मिला वह जगह शहर से ज्यादा दूर नहीं है। इससे प्रतीत होता है कि वारदात को अंजाम देने के बाद अपराधी घटना के बाद शव को लेकर शहरी क्षेत्र में ही घूमते रहे। यदि परिजनों की शिकायत को गंभीरता से लेते हुए पुलिस तत्परता से उसकी तलाश करती तो संभवतः यह घटना होती ही नहीं।
लोकसभा अध्यक्ष बिरला ने कानून व्यवस्था पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि वे इस बारे में राज्य सरकार से बात कर मामले में पुलिस की कार्यवाही की जांच के लिए कहेंगे। यदि इस मामले में लापरवाही हुई तो तो दोषियों के खिलाफ कार्यवाही किए जाना और भी अधिक आवश्यक हो जाता है। ऐसा करके ही हम यह सुनिश्चित कर पाएंगे कि किसी अन्य व्यक्ति के साथ ऐसे घटनाक्रम की पुनरावृत्ति नहीं हो।