आप अपने आप मे विशिष्ट हैं स्वयं को स्वीकारें – तिवारी

बून्दी.KrishnakantRathore/ @www.rubarunews.com-युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय भारत सरकार के तत्वावधान में ग्राम सिलोर में युवाओं के आमुखीकरण कार्यक्रम के अंतर्गत जनचेतना कार्यशाला का आयोजन किया गया । कार्यशाला में मुख्य वक्ता अंतर्राष्ट्रीय व्यक्तित्व उन्नयन कार्यक्रम फ्री बीइंग मी के जिला समन्वयक असिस्टेंट प्रोफेसर सर्वेश तिवारी सहित एक्शन ऐड यूनिसेफ के जोनल कोऑर्डिनेटर मांगीलाल शेखर, ट्रेनिंग काउंसर हंसराज चौधरी मंचासीन रहे। कार्यशाला के उद्घाटन के अवसर पर सरपंच मुकेश सैनी मुख्य अतिथि रहे अध्यक्षता शिक्षक महावीर प्रसाद शर्मा ने की। कार्यक्रम में जल संरक्षण पर नुक्कड़ नाटक व अन्य प्रतियोगिताओं की विजेता बालिकाओं को पुरस्कार एवं सिलाई प्रशिक्षण प्राप्त करने वाली प्रशिक्षणार्थियों को ट्रेनिंग प्रमाण पत्र द्वारा सम्मानित किया गया जिन्हें पाकर उनके चेहरे खिल उठे।

मुख्य वक्ता के रूप में संबोंधित करते हुए मोटिवेटर सर्वेश तिवारी ने कहा कि आप कहां हैं व कैसे हैं इससे कोई फर्क नहीं पड़ता, फर्क इस बात से पड़ता है कि आप अपने बारे में कैसे सोचते हैं आप जैसे भी हैअपने आप मे विशिष्ट है स्वयं को स्वीकारें । उन्होंने कहा कि महिलाएं अपने भय व झिझक से उभर कर अपनी अंतर्निहित शक्ति को जागृत करें और सरकारी योजनाओं से जुड़कर आगे बढ़ने का प्रयास करें । उन्होंने कार्यक्रम में सभी महिलाओं को अति उपयोगी आई.एम.शक्ति योजना , शिक्षा सेतु योजना पर विस्तार से जानकारी प्रदान की एवं घूघट मुक्त राजस्थान अभियान हेतु सभी महिलाओं को प्रेरित किया। तिवारी ने संभागियों को शिक्षा प्राप्ति के साथ स्वरोजगार के माध्यम से आत्मनिर्भरता के गुर सिखाए ।

भारत स्काउट गाइड के ट्रेनिंग काउंसर हंसराज चौधरी ने जानकारी देते हुए डिजिटलीकरण के बारे में बताया कि किस प्रकार से हम यूट्यूब व सोशल नेटवर्किंग के माध्यम से किसी चीज को सीख सकते हैं व अपने व्यापार का प्रचार-प्रसार भी कर सकते हैं ।

कोऑर्डिनेटर मांगीलाल शेखर ने महिलाओं को बताया कि राजस्थान सरकार के द्वारा स्वरोजगार को बढ़ावा देते हुए स्टार्टअप प्रारंभ किये जा सकते हैं। उसका क्या प्रोसेस होता है किस प्रकार से हम लोन ले सकते हैं और एप्स के माध्यम से हम अपने छोटे से बुटीक को पूरे सोशल नेटवर्क में प्रसारित करके अच्छे से अच्छा कार्य कर सकते हैं इसकी जानकारी दी गयी। सभी को प्रेरित करते हुए बताया कि हमें एक ही मार्ग को न चुनकर अपने लक्ष्य तक पहुंचने के लिए अलग-अलग मार्ग का उपयोग करना चाहिए हमें अपने प्रोडक्ट को अगर व्यक्तियों तक पहुंचाना है तो हम दुकान के माध्यम से ही नहीं ऑनलाइन और सोशल नेटवर्किंग से भी कार्य कर सकते हैं ग्राम सरपंच मुकेश सैनी ने अतिथियों का स्वागत करते हुए कहा कि महिलाओं को निशुल्क सिलाई मशीन वितरण के लिए प्रयास किये जायेंगे व महिलाएं प्रशिक्षण के बाद अपना कुछ ना कुछ कार्य जरूर सुचारु रुप से चालू रखें जिससे वे अपने जीवन में आगे बढ़ सके। अध्यापक महावीर प्रसाद शर्मा जी ने नेहरू युवा केंद्र के प्रतिनिधियों का आयोजन हेतु स्वागत किया व सभी को आत्म निर्भर होकर अपने जीवन का लक्ष्य चुनने व उसे प्राप्त करने के लिए प्रेरित किया। परिचर्चा में भाग लेकर सम्भागी चित्रा नामा,कीर्ति राठौर व किरण शाक्यवाल ने संवाद प्रस्तुत किया ।

राष्ट्रीय युवा स्वयं सेविका संतोष रेगर द्वारा युवाओं के आमुखीकरण कार्यक्रम में महिला बाल विकास और महिला अधिकार के द्वारा महिलाओं के अधिकारों के लिए चलाए जा रहे कार्यक्रमो के बारे में विस्तार से अपने वक्तव्य के माध्यम से जानकारी उपलब्ध करवाई एवं 90 दिवसीय सिलाई सेंटर प्रशिक्षण का समापन कार्यक्रम भी करवाया जिसमें प्रशिक्षित महिलाओं को प्रमाण पत्र वितरित किए व विभिन्न प्रतियोगिताओं में सहभागी रहे बच्चों को अतिथियों ने पुरुस्कृत किया व संभागियोंको फोल्डर किट वितरित किए गए । सामाजिक कार्यकर्ता मायाराम वर्मा ने आयोजन को सफल व जीवनोपयोगी सार्थक प्रयास बताते हुए आभार प्रकट किया ।

सरस्वती पूजन वह तालियों की गड़गड़ाहट के साथ शुरू हुए कार्यक्रम का संचालन राष्ट्रीय युवा स्वयंसेविका संतोष रेगर ने किया । कार्यक्रम में सिलाई केंद्र प्रशिक्षिका मंजू राठौर,आंगनबाड़ी सहयोगिनी अनिता जोशी, महिला मंडल अध्यक्ष योगिता नामा सहित सभी मंडल सदस्य, प्रशिक्षणार्थी व ग्रामीण उपस्थित रहे।