चाय का असली स्वाद एण्ड टीवी के मिर्जा के साथ!

मुंबईDesk/ @www.rubarunews.com>>  एण्डटीवी के ‘और भई क्या चल रहा है?‘ के जफर अली मिर्जा (पवन सिंह) की चाय की दुकान- लखनऊ टी हाउस है मशहूर पूरे शहर में! खाने की चाहे कोई भी चीज हो चाय उसका सही साथी होता है। वह किसी के साथ भी रम जाता है, जैसे मिर्जा के साथ सकीना (अकांशा शर्मा)। चाय तो ऐसा पेय है जिस पर आप पूरी तरह निर्भर होते हैं, यह कभी भी गलत नहीं होता। यह जितनी मीठी होती है उतनी ही अच्छी होती जाती है।

आपने कभी किसी व्यक्ति को चाय की शिकायत करते हुए सुना है? मैं कह सकता हूं आपने नहीं सुना होगा! पवन सिंह उर्फ जफर अली मिर्जा कहते हैं, ‘‘एक चाय की दुकान के मालिक के किरदार में पूरी तरह डूबने के लिये मैंने चाय स्टाॅल्स को काफी करीब से देखा। जहां हमेशा ही लोगों का जमघट लगा रहता है और वे राजनीति, क्रिकेट और ना जाने कितनी चीजों को लेकर चर्चाएं करते रहते हैं। चाय का स्टाॅल सिर्फ एक बिजनेस नहीं होता, बल्कि यह आपको अलग-अलग लोगों से बातें करने का मौका देता है। यह काफी मजेदार है! और मैं इस भूमिका में परफेक्शन लाने की कोशिश  कर रहा हूं। यह एक बहुत बड़ी पहेली है, ग्राहकों से बातचीत करना, उनके लिये गरमागरम चाय तैयार करना और ऐसा स्नैक देना जो उसके साथ मेल खाता हो। मुझे इस तरह की गहमागहमी पसंद आती है, इससे स्टाॅल में रौनक लगी रहती है। हाथ में चाय का कप लेकर लोगों को घर का अहसास होता है। भारतीयों को उनकी चाय भाती है,मसाला हो या फिर ग्रीन टी बस गरम चाय की चुस्की लो और मोहल्ले में क्या हो रहा है, उसके बारे में जानो! मुझे भी अदरक, इलायची और सौंफ वाली चाय अच्छी लगती है।’’ परफेक्ट चाय मंत्रा के बारे में पवन कहते हैं, ‘‘यह एक रेसिपी है और मैंने अपने जीवन की तीन सबसे महत्वपूर्ण महिलाओं- मां, सास और पत्नी को किचन में इसे बनाते हुए देखकर सीखा है। उन्हें एक कप परफेक्ट चाय बनाने में मुश्किल से 10 मिनट का समय लगता है, लेकिन मैं उसकी हर घूंट का मजा लेने में थोड़ा ज्यादा वक्त बिताता हूं। मैंने सीखा कि किस तरह अदरक की उस खुशबू के लिये कूटने से ज्यादा कीसा जाता है, परफेक्ट मेल के लिये दो इलायची के पाॅड और चाय को नैचुरल तरीके से मिठास देने के लिये सौंफ मिलायी जाती है। जब किसी दिन कोई थका-हारा सा महसूस करता है तो चुस्ती लाने के लिये मेरी यही रेसिपी होती है। कभी-कभी मैं दालचीनी, लौंग और तुलसी भी मिलाता हूं, क्योंकि ये गुणकारी होते हैं। जिस तरह हर किसी की अपनी अलग पर्सनालिटी होती है, उसी तरह हर किसी की चाय में अपनी पसंद होती है।‘‘

Umesh Saxena

I am the chief editor of rubarunews.com