भाजपा सरकार ने गरीबों को लौटाया उनका हक, जनता तक यह बात पहुंचाएगी पार्टीर्: भगत सिंह कुशवाह

भिण्ड.shashiKantGoyal/ @www.rubarunews.com>> प्रदेश में मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान के नेतृत्व वाली भारतीय जनता पार्टी की सरकार को बने एक साल पूरा हो रहा है। इस एक साल की अवधि में कोरोना की विषम परिस्थितियों के बावजूद प्रदेश सरकार ने गरीबों, किसानों और मजदूरों के कल्याण के लिए भरसक प्रयास किए हैं। कमलनाथ सरकार जहां लोगों की छोटी-छोटी जरूरतों को पैसे न होने की बात कहकर टाल देती थी, वहीं शिवराज सरकार ने खराब आर्थिक स्थिति के बावजूद किसानों, मजदूरों के खातों में 1.18 लाख करोड़ की राशि डाली है। भाजपा सरकार ने बीते एक वर्ष में गरीबों को उनका हक लौटाया है, जिसे कमलनाथ सरकार ने योजनाएं बंद करके छीन लिया था। भारतीय जनता पार्टी प्रदेश सरकार का एक वर्ष पूरा होने पर ‘सेवा का संस्कार, विकास की रफ्तार, अभिनंदन भाजपा सरकारÓ थीम पर प्रदेश भर में 22 से 25 मार्च तक कार्यक्रम आयोजित करेगी और सरकार की उपलब्धियों की जानकारी प्रदेश की जनता को देगी। यह बात भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश मंत्री व पूर्व विधायक भगत सिंह कुशवाह ने भिण्ड सर्किट हाउस पर पत्रकारों को जानकारी देते हुए कहीं। पत्रकारवार्ता में उनके साथ भाजपा जिलाध्यक्ष नाथू सिंह गुर्जर, पूर्व जिलाध्यक्ष कोक सिंह नरवरिया, विधि प्रकोष्ठ के प्रदेश सह संयोजक एडवोकेट राममिलन शर्मा, वरिष्ठ नेता अशोक भारद्वाज, पूर्व मण्डल अध्यक्ष कमल सिंह तोमर, कोविड-19 के टीकाकरण अभियान के प्रभारी डॉ. सुशील गुप्ता, चिकित्सा प्रकोष्ठ के संयोजक डॉ. शिवकुमार राजौरिया, अशोक सिंह कुशवाह, अनिल सिंह कुशवाह, उपेन्द्र राजौरिया, आरबी सिंह बघेल एडवोकेट, राधाकृष्ण शर्मा, उपेन्द्र शर्मा, अमित जैन, अमित चौधरी आदि लोग उपस्थित रहे।




प्रदेश मंत्री भगत सिंह कुशवाह ने पत्रकारों के समक्ष कहा कि सत्ता में आते ही कमलनाथ सरकार ने वैचारिक आक्रमण शुरू कर दिए थे। उस सरकार ने आते ही वल्लभ भवन में प्रत्येक माह की पहली तारीख को गाया जाने वाला वंदेमातरम् गान बंद करवा दिया। श्रद्धा और आस्था के केंद्र मीसाबंदियों की सम्माननिधि को बंद कर दिया। कुशवाह ने कहा कि कांग्रेस के नेता दिग्विजयसिंह राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की शाखाओं पर प्रतिबंध लगाने की बात करते थे और उन्हीं के रास्ते पर चलते हुए कमलनाथ ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ कार्यालय से सुरक्षा हटा दी। प्रदेश मंत्री भगत सिंह कुशवाह ने कहा कि पूर्ववर्ती सरकारें कहती थी उनके पास पैसा नहीं है। लेकिन हमें गर्व है कि कोरोना संकट के बावजूद मध्यप्रदेश सरकार ने किसानों, स्ट्रीट वेंडर्स और अन्य हितग्राहियों के खातों में 1 लाख, 18 हजार करोड़ रूपए की राशि डालकर ऐतिहासिक उपलब्धि हासिल की है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ सरकार प्रधानमंत्री किसान सम्माननिधि योजना के लिए पात्र किसानों की सूची तक केंद्र को नहीं भेज रही थी, लेकिन हमें गर्व कि मध्यप्रदेश में 78 लाख किसानों को 5474 करोड़ रूपए से अधिक राशि किसानों के खातों में डाली गई है। मुख्यमंत्री सम्मान निधि के अंतर्गत 57 लाख किसानों को 1150 करोड़ रूपए का भुगतान मध्यप्रदेश की सरकार ने किया है। अब तक 44 लाख से अधिक किसानों को बीमे की राशि 8800 करोड़ रूपए का भुगतान किया जा चुका है। कुशवाह ने कहा कि प्रदेश सरकार ने चुनौती को अवसर में बदला। सरकार ने 5 महीने के रिकॉर्ड समय में प्रधानमंत्री आवास योजना के मकानों का निर्माण कराया। इसी के चलते पहले देश के प्रधानमंत्री मोदी जी ने 75 हजार घरों में गृह प्रवेश कराया था एवं 2 दिन पहले गृहमंत्री अमित शाह जी ने 1 लाख से ऊपर मकानों में गरीबों का गृह प्रवेश कराया। कुशवाह ने कहा कि झोपड़ी में रहने वाले गरीबों को स्वयं का मकान देने का काम प्रधानमंत्री जी एवं मुख्यमंत्री ने मध्यप्रदेश में किया है।



Umesh Saxena

I am the chief editor of rubarunews.com