छात्र जीवन ही राजनीति की पहली सीढी – चन्द्रकान्ता मेघवाल Student life is the first step in politics – Chandrakanta Meghwal

बूंदी.KrishnakantRathore/ @www.rubarunews.com>> छात्र जीवन ही राजनीति की पहली सीढी होती हैं, जहाँ छात्र जीवन मे राजनीति की शुरुआत करता है। ऐसा केशवराय पाटन विधायक चन्द्रकान्ता मेघवाल ने राजकीय कन्या महाविद्यालय बून्दी में छात्र संघ पदाधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा। मेघवाल ने कहा कि छात्र एक नेता के रूप में अपने सभी साथियों की समस्याओं को लेकर आंदोलन करते हैं और समस्याओं का समाधान भी कराते हैं। छात्र नेता महाविद्यालय से निकलकर ग्राम पंचायत, नगर पालिका, नगर परिषद, विधानसभा, लोकसभा क्षेत्रों में पहुंचकर स्वच्छ राजनीति करते हैं और क्षेत्र के आमजन को कल्याणकारी योजनाओं से लाभान्वित करते हैं।

छात्र जीवन ही राजनीति की पहली सीढी – चन्द्रकान्ता मेघवाल Student life is the first step in politics – Chandrakanta Meghwal

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद को छात्रों का एक स्वच्छ संगठन बताते हुए मुख्य वक्ता संजय सिंह ने कहा कि एबीवीपी में सभी छात्र- छात्राएं मिलकर संगठन की रीति नीति को संचालित करते हैं और संगठन के बताएं मार्ग का अनुसरण करते हुए संगठन को आगे बढ़ने और मजबूत करने में अपना सहयोग प्रदान करते हैं। राजकीय कन्या महाविद्यालय में मंगलवार को छात्र संघ का शपथ ग्रहण समारोह के,पाटन विधायक चंद्रकांता मेघवाल के मुख्यातिथ्य में सम्पन्न हुबा, जिसकी अध्यक्षता ओमेंद्र सिंह हाडा ने की तथा मुख्य वक्ता संजय सिंह रहे। विशिष्ट अतिथि के रूप में  हिण्ड़ोली प्रधान कृष्णा माहेश्वरी, पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष लोकेश शर्मा, महिला मोर्चा जिला अध्यक्ष नूपुर मालव, छात्र नेता ओम धगाल मंचासीन रहे। प्राचार्य डॉ. आर. एन. सोनी ने महाविद्यालय की गतिविधियों का परिचय देते हुए प्रतिवेदन प्रस्तुत किया। इस मौके पर अतिथियों ने छात्र संघ कार्यालय का फीता काटकर उद्घाटन करते हुए छात्रसंघ पदाधिकारियों को पदस्थापित कराया। मुख्य अतिथि विधायक मेघवाल ने छात्रसंघ अध्यक्ष निशा हाडा, उपाध्यक्ष लक्ष्मी मीणा, महासचिव निशा शर्मा, संयुक्त सचिव रसीला गुर्जर को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई। छात्रसंघ अध्यक्ष निशा हाडा और पदाधिकारियों ने महाविद्यालय की समस्याओं से अतिथियों को अवगत कराया। विधायक चन्द्रकांता मेघवाल ने महाविद्यालय विकास के लिए छात्र संघ पदाधिकारियों के आग्रह पर 10 लाख की अनुशंसा की। कार्यक्रम के दौरान महाविद्यालय के व्याख्याता और छात्राएं मौजूद रहे। कार्यक्रम का संचालन वीरमदेव व चंपा अग्रवाल ने किया।