शत-प्रतिशत टीकाकरण कराने वाली 45 ग्राम पंचायतों के सरपंच सम्मानित

भोपाल.Desk/ @www.rubarunews.com>>मुख्यमंत्री शिवराज सिंह  चौहान ने कहा कि उज्जैन जिले को उद्योगों एवं विज्ञान की नगरी बनायेंगे। उद्योग और विज्ञान के क्षेत्र में उज्जैन देश का मार्गदर्शन करेगा। उज्जैन धर्म, विज्ञान, पुरातत्व, विद्वानों तथा शिप्रा की अदभुत नगरी है। सभी दिशाओं में उज्जैन का नक्षत्र चमकता रहेगा।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आज कालिदास अकादमी उज्जैन में आयोजित कार्यक्रम में डोंगला में स्थित नव-निर्मित वेधशाला के ऑडिटोरियम का ई-लोकार्पण किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने माधव नगर चिकित्सालय एवं नागदा में स्थापित पाँच ऑक्सीजन प्लांट, चरक अस्पताल में 50 बिस्तरीय चाइल्ड केयर वार्ड का लोकार्पण और उज्जैन स्मार्ट सिटी के 8 कार्यों का भूमि-पूजन भी किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने शत-प्रतिशत टीकाकरण कराने वाली 45 ग्राम पंचायतों के सरपंचों को सम्मानित करते हुए उन्हें प्रमाण-पत्र देकर सम्मानित भी किया।

 

पुन: उद्योगों की स्थापना प्रारंभ

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि आजादी के पूर्व उज्जैन जिले में बड़ी-बड़ी कपड़ा मिलें थीं। हजारों लोगों को रोजगार मिला हुआ था, लेकिन किसी कारणवश ये मिलें बन्द करना पड़ीं। आज पुन: उज्जैन जिले में उद्योगों की स्थापना का शुभारम्भ किया जा रहा है।

वेधशाला मार्गदर्शन करेगी

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि खगोल विज्ञान के क्षेत्र में डोंगला में स्थापित वेधशाला देश का मार्गदर्शन करेगी और इसका लाभ जनता को भी मिलेगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि उज्जैन धर्म एवं आध्यात्म की नगरी है। सिंहस्थ के दौरान यहाँ अनेक निर्माण कार्य किये गये थे। निर्माण कार्यों का सिलसिला अभी भी जारी है।

 

महाकाल प्रांगण का विस्तार

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि महाकाल के प्रांगण का विस्तार किया जा रहा है। इसके तहत बेगमबाग के लोगों को अन्यत्र शिफ्ट कर उस क्षेत्र को ऐसा विकसित किया जायेगा, जहाँ से वह सभी दिशाओं से न्यारा दिखे।

स्वास्थ्य के क्षेत्र में उज्जैन होगा अग्रणी

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि स्वास्थ्य के क्षेत्र में भी हमें उज्जैन जिले को अग्रणी बनाना है। कोरोना की तीसरी लहर से बचाव के लिये अभी से प्रयास करने होंगे। यह निश्चिंत होकर बैठने का समय नहीं है। महाराष्ट्र में कोरोना की लहर बरकरार है और महाराष्ट्र की सीमा हमारे प्रदेश से लगती है। कोरोना का वायरस बहुरूपिया है, आये दिन नये-नये रूप बदलता रहता है। प्रदेश में प्रतिदिन 70 से 80 हजार कोरोना के टेस्ट किये जा रहे हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने जिला प्रशासन को भी निर्देश दिये कि कोरोना की टेस्टिंग में कोई कसर बाकी न रखी जाये। जन-प्रतिनिधि जनता को कोरोना का टेस्ट कराने के प्रति जागरूक करें।

 

60% टीकाकरण की सराहना

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने लोगों से अपील की कि कोविड के संक्रमण को रोकने के लिये अनुकूल व्यवहार करें, मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग और सेनेटाइज का उपयोग करते रहें। उन्होंने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी को धन्यवाद ज्ञापित किया कि उनके मार्गदर्शन में पूरे देश में नि:शुल्क टीकाकरण का कार्यक्रम संचालित किया जा रहा है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने उज्जैन जिले में अब तक हुए 60 प्रतिशत टीकाकरण के कार्य की सराहना करते हुए निर्देश दिये कि इसे शीघ्र ही शत-प्रतिशत किया जाये।

डोंगला भविष्य की ग्रीनविच बनेगा

उच्च शिक्षा मंत्री डॉ.मोहन यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आज जिले को अनेकों सौगात दी हैं। डोंगला वेधशाला भविष्य की ग्रीनविच बनने वाली है। सच्चे अर्थों में समय की गणना उज्जैन के डोंगला से होगी। आज भारत की ज्ञान परम्परा को पुन: स्थापित किया गया है। इस वेधशाला में सभी संसाधन जुटाये गये हैं। अत्याधुनिक सभागार बनाया गया है। वेधशाला फिजिक्स एवं गणित का केन्द्र बनेगी। पहले की ही तरह उज्जैन से समय की गणना होगी। साइंस सिटी के रूप में उज्जैन को पहचान दिलाई जायेगी। थ्रीडी के माध्यम से वेधशाला से नक्षत्रों की गणना की जायेगी। उन्होंने कहा कि वराहमिहिर एवं आर्यभट्ट के युग को वापस लाने का काम मुख्यमंत्री श्री चौहान ने किया है।

 

उज्जैन नए युग का साक्षी

लघु, सूक्ष्म एवं मध्यम उद्यम और विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री  ओमप्रकाश सखलेचा ने कहा कि आज उज्जैन एक नये युग का साक्षी बना है। ऑडिटोरियम की स्थापना हो या वेधशाला की स्थापना हो, चाहे अधोसंरचना विकास हो, आज जिले में इस क्षेत्र में बहुत कार्य हुआ है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान आज के भागीरथ

सांसद  अनिल फिरोजिया ने कहा कि मुख्यमंत्री ने आज टेक्सटाईल उद्योग की स्थापना कर एक अच्छी शुरूआत की है। मुख्यमंत्री श्री चौहान आज के भगीरथ हैं। वे नर्मदा का जल शिप्रा में लाए। ऑक्सीजन प्लांट की स्थापना से कोरोना लड़ाई में मदद मिलेगी। सिंहस्थ के दौरान जो विकास कार्य हुए थे, वे आज भी जारी हैं। उद्योगों की स्थापना से जिले में 25 हजार लोगों को रोजगार मिलने की राह खुली है।

कार्यक्रम में विधायक  बहादुरसिंह चौहान, पूर्व केन्द्रीय मंत्री डॉ.सत्यनारायण जटिया, पूर्व सांसद  चिन्तामणि मालवीय आदि उपस्थित रहे। आभार प्रदर्शन विधायक  पारस जैन ने किया।