गरड़िया महादेव धर्मस्थल पर शुल्क वसूली के विरोध में उतरा संत समाज

कोटा.KrishnakantRathore/ @www.rubarunews.com- हाड़ौती संत समाज की बैठक रामधाम सेवा आश्रम ट्रस्ट पर संपन्न हुई। बैठक में हाड़ौती के विभिन्न मठ, मंदिर व आश्रमों पर असामाजिक तत्वों द्वारा अतिक्रमण कर साधु संतों को परेशान करने पर चर्चा हुई और इस पर रोक लगाने के लिए प्रशासन की लापरवाही पर रोष व्यक्त किया गया।

बैठक की अध्यक्षता बड़ा भक्तमाल के पीठाधीश्वर स्वामी अवधेशाचार्य जी महाराज ने की। इस अवसर पर स्वामी अवधेशाचार्य जी महाराज ने कहा कि हाड़ौती संभाग में कई जगहों पर संत समाज के सामने आज मंदिर, मठ की जमीनों को अतिक्रमियों से बचाने के लिए संघर्ष करना पड़ रहा है। प्रशासन की ढिलाई के चलते अतिक्रमियों के हौंसले बुलंद हैं। उन्होंने कहा कि यदि प्रशासन ने इस पर ध्यान नहीं दिया गया तो संत समाज प्रदेश व्यापी आंदोलन को मजबूर होगा। साथ ही बैठक में सनातन धर्म मंे आ रही कमी पर भी विचार व्यक्त किये गये। स्वामी अवधेशाचार्य जी महाराज ने कहा कि आजकल अनेक मत के लोग यहां आकर सनातनधर्मियों को बरगला रहे हैं, जिस पर भी अंकुश लगाने की आवश्यकता है।

 

गरड़िया महादेव दर्शन करने पहंुचे संतों से मांगा शुल्क, जताया आक्रोश
बैठक में चर्चा के दौरान ही जब संतों को गरड़िया महादेव में श्रद्धालुओं से शुल्क वसूली की जानकारी मिली, तो बड़ा भक्तमाल के पीठाधीश्वर स्वामी अवधेशाचार्य जी महाराज की अगुवाई मंे हाड़ौती संत समाज के संत महात्मा दर्शन करने के लिए गरड़िया महादेव पहुंचे, तो वहां पर उनसे भगवान के दर्शन के लिए शुल्क मांगा गया, जिस पर संतों ने आश्चर्य व्यक्त करते हुए कहा कि रोष व्यक्त किया। अवधेशाचार्य जी महाराज ने कहा कि हिन्दू समाज के धार्मिक स्थलों पर कब्जा कर शुल्क वसूली की जा रही है। वन विभाग वहां पहले भी था, पहले तो शुल्क नहीं वसूला जाता था, फिर आज यह शुल्क वसूली क्यों हो रही है। इस दौरान संतों के आने की सूचना पर पहुंचे अधिकारियों के समक्ष विरोध जताते हुए स्वामी अवधेशाचार्य जी महाराज ने कहा कि गरड़िया महादेव लाखों श्रद्धालुओं की आस्था का केन्द्र है, श्रद्धालु यहां आकर भगवान के दर्शन और पूजा पाठ करते हैं, ऐसे में यहां हिन्दू धर्म मंे आस्था रखने वाले श्रद्धालुओं से पूजा करने का शुल्क वसूलने से संतों मंे आक्रोश है, उन्होंने इस शुल्क को बंद करने को कहा।

इस अवसर पर उन्होंने कहा कि इस संबंध में कल सोमवार को दोपहर 12 बजेे हाड़ौती संत समाज द्वारा जिला कलेक्टर के माध्यम से वनमंत्री, मुख्यमंत्री, राज्यपाल, प्रधानमंत्री एवं राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा जाएगा।
इस अवसर पर हाड़ौती संत समाज के संरक्षक स्वामी अवधेशकुमार दास जी, महामंडलेश्वर विष्णु स्वामी अखाड़े के महंत विजेन्द्रदास जी महाराज, पूर्व अध्यक्ष महामंडलेश्वर हरिनारायणदास जी, अध्यक्ष महामंडलेश्वर रामनरेशदास जी, राधेबाबा, कमलदास जी, मंझले मुरारी जी, महेन्द्र बूंदी नोताड़ा, लक्ष्मणदास जी महाराज, समाजसेवी हिम्मतसिंह हाड़ा, प्रमोद चतुर्वेदी, समेत अन्य संत मौजूद थे।