रीट परीक्षा शांतिपूर्ण संपन्न- खेल राज्यमंत्री अशोक चांदना ने लिया व्यवस्थाओं का जायजा- दिन भर अधिकारियों की रही कड़ी निगरानी

बूंदी.KrishnakantRathore/ @www.rubarunews.com-  माध्यमिक शिक्षा बोर्ड राजस्थान अजमेर द्वारा अध्यापक पात्रता (रीट) परीक्षा 2021 रविवार को जिलेभर में 104 परीक्षा केन्द्रों पर दो पारियों में सम्पन्न हुई। परीक्षा केन्द्रों पर परीक्षार्थियों से कोविड-19 गाइड लाइन की पालना करवाई गई। परीक्षा शांतिपूर्ण संपन्न हुई। जिला प्रशासन स्तर पर हुई बेहतर व्यवस्थाओं के लिए अभ्यर्थी साधुवाद देते हुए विदा हुए।

खेल राज्यमंत्री ने बूंदी पहुंचकर लिया जायजा
अध्यापक पात्रता (रीट) परीक्षा 2021 के आयोजन का रविवार को खेल राज्यमंत्री श्री अशोक चांदना ने बूंदी पहुंचकर जायजा लिया। उन्होंने राज्य सरकार की मंशानुरूप अभ्यर्थियों के लिए की गई व्यवस्थाओं के बेतहरीन क्रियान्वयन के लिए प्रशासन के प्रयासांे को सराहा। श्री चांदना ने राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में अभ्यर्थियों आवागमन के लिए की गई परिवहन साधनों की व्यवस्थाएं देखी एवं अभ्यर्थियों से बातचीत कर उनके अनुभव जाने। इस दौरान जिला कलक्टर रेणु जयपाल ने परीक्षार्थी को उपलब्ध करवाई गई सुविधाओं एवं व्यवस्थाओं के बारे में जानकारी दी।
पूरे दिन जिला कलेक्टर रेणु जयपाल, पुलिस अधीक्षक शिवराज मीणा एवं अन्य अधिकारी परीक्षा व्यवस्था पर निगरानी रखे रहे। देर रात तक जिला कलेक्टर एडीएम एयू खान, सीईओ मुरलीधर प्रतिहार, नगर परिषद आयुक्त महावीर सिंह ने मौके पर मौजूद रहकर अभ्यर्थियों की वापसी की व्यवस्थाओं को संभाला।
अभ्यर्थियों की वापसी के लिए व्यापक स्तर पर वाहनों का प्रबंध किया गया था। भोजन के पैकेट भी वितरित किए गए। कोटा, भीलवाड़ा, चित्तौड़गढ़, अजमेर आदि स्थानों के लिए वाहनों से अभ्यर्थी रवाना हुए। जिला परिवहन अधिकारी भगवान करमचंदानी ने बताया कि 50 रोडवेज बस, 70 प्राइवेट बस और लगभग 100 टैक्सियों की व्यवस्था अभ्यर्थियों के लिए की गई।

पहली पारी में 6781, दूसरी में 6680 रहे अनुपस्थित…..
नियंत्रण कक्ष से प्राप्त जानकारी के अनुसार प्रथम पारी सुबह 10 बजे से दोपहर 12.30 बजे तक (द्वितीय स्तर) कक्षा 6 से 8 तक परीक्षा में 6 हजार 781 अनुपस्थित रहे। वहीं द्वितीय पारी दोपहर 2.30 बजे से सांय 5.00 बजे तक (प्रथम स्तर) कक्षा 1 से 5 तक में 6680 अनुपस्थित रहे।

डमी अभ्यर्थी पकडा, मामला दर्ज…..
रीट-2021 परीक्षा के दौरान राजकीय महाविद्यालय के परीक्षा केंद्र पर एक डमी परीक्षार्थी को किसी अन्य अभ्यर्थी के स्थान पर परीक्षा देते हुए पकड़ा गया। केंद्र अधीक्षक महाविद्यालय प्राचार्य डॉ.सतीश सारस्वत ने बताया कि पर्यवेक्षक को अभ्यर्थी के फोटो पर संदेह हुआ, जिस पर केंद्र अधीक्षक और फिर फ्लाइंग स्क्वाड एवं पुलिस ने तहकीकात की जिस पर यह खुलासा हुआ। पकड़े गए अभ्यर्थी के खिलाफ पुलिस में मामला दर्ज करा दिया गया है ।