जिला अस्पताल में पहुंचे ऑक्सीजन स्टोर सिलेंडर, जल्द ही शुरु हो सकता है प्लांट, मरीजों को मिलेगी राहत

भिण्ड.ShashikantGoyal/ @www.rubarunews.com>> जिला प्रशासन कोरोना संक्रमित से लोगों को बचाने के लिए पूरा दम झौंकने में लगा हुआ है सोमवार को जिला अस्पताल में ऑक्सीजन स्टोर सिलेंंडर पहुंच चुके है जिससे उम्मीद दिखाई दे रही है कि जल्द ही प्लांट शुरु हो सकता है जिसके लिए मालनपुर सहित अन्य जगह से ऑक्सीजन सिलेंंडर मंगाने की जरुरत नहीं पड़ेगी , 24 घंटे जिला अस्पताल के पास पर्याप्त ऑक्सीजन संक्रमित मरीजों को मिल सकेगा। कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए जिला प्रशासन ने तैयारियां शुरू कर दी हैं। जिला अस्पताल के साथ-साथ ग्रामीण अंचल के सामुदायिक एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों को अपग्रेड किया जा रहा है। तीसरी लहर में बच्चों पर अधिक प्रभाव होने की आशंका के चलते जिला अस्पताल के बच्चा वार्ड में 22 पलंग पर सेंट्रल आक्सीजन सप्लाई दे दी गई है। एनआरसी पोषण पुनर्वास केंद्र में भी 22 पलंगों पर सेंट्रल ऑक्सीजन सप्लाई लगा दी गई है।

जिला अस्पताल में अब 300 बिस्तर के अस्पताल में 200 पलंग पर होगी ऑक्सीजन, मरीजों को मिलेगी राहत

कोरोना की जब दूसरी लहर आई तब 300 बिस्तर के जिला अस्पताल में सिर्फ 85 पलंग पर ऑक्सीजन की सुविधा थीए जिसे बाद में बढ़ाकर 125 कर दिया गया था। अब आने वाले दिनों में 200 पलंग ऑक्सीजन सपोर्ट वाले होंगे। इसके लिए अस्पताल के सभी वार्डों में मेटरनिटी को छोड़कर सेंट्रल ऑक्सीजन लाइन बिछाई जा रही है। इसके लिए पॉवर ग्रिड ने सीएसआर फंड से 19 लाख 69 हजार 656 रुपए जिला अस्पताल को दिए हैं। पॉवर ग्रिड के कार्यपालक निदेशक पीसी गर्ग के निर्देश पर वरिष्ठ उप महाप्रबंधक डीके शर्मा और मुख्य प्रबंधक जेएस विर्दी ने इस राशि का चेक सोमवार को कलेक्टर डॉ1 सतीश कुमार एस की मौजूदगी में सीएमएचओ डॉ. अजीत मिश्रा को दिया।

 

जून माह के अंत तक आ सकती है सीटी स्कैन डिजिटल एक्सरे मशीन

अभी तक लोगों को सीटी स्कैन कराने के लिए ग्वालियर सहित पडोसी राज्यो में जाना पड़ता था लेकिन अब इसके लिए परेशान नहीं होना पड़ेगा क्योंकि जिला अस्पताल में जून महीने के अंत तक सीटी स्कैन मशीन भी आ जाएगी। इसके लिए अस्पताल में जरूरी सिविल वर्क शुुरू कर दिया गया है। इसके अलावा कलेक्टर ने शासन से दो पोर्टेबल डिजिटल एक्स-रे मशीन की भी मांग की है। वर्तमान में जिले में तीन पोर्टेबल एक्स-रे मशीन हैं। दो मशीनें मिलने के बाद एक जिला अस्पताल और एक लहार को मिल जाएगी। इससे यह सुविधा होगी कि जो मरीज एक्स-रे मशीन तक जाने में असमर्थ होंगे, उनका मशीन पलंग पर लाकर ही एक्स-रे किया जा सकेगा।

इस सप्ताह चालू हो जाएगा ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट

जिला अस्पताल में ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट लगाने का कार्य नाइट्रोक्स कंपनी ने शुरू कर दिया है। इस प्लांट की मशीनरी सोमवार को अस्पताल परिसर में आ गई थी। इस सप्ताह के अंत तक प्लांट चालू हो जाएगा। इसके बाद जिला अस्पताल की मालनपुर पर निर्भरता खत्म हो जाएगी। इसके बाद लहार के ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट का कार्य शुरू हो जाएगा। लहार के सिविल अस्पताल और गोहदए मेहगांवए लहारए रौनए अटेरए अमायनए मौ के सामुदायिक केंद्रों में ऑक्सीजन सपोर्ट वाले 10-10 पलंग भी तैयार किए जा रहे हैं।

 

डॉक्टर रोटेशन अनुसार करेंगे ड्यूटी

तीसरी लहर में सामुदायिक एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में पदस्थ डॉक्टर जिला अस्पताल में रोटेशन के अनुसार ड्यूटी करेंगे। जिले के सामुदायिक एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर 60 डॉक्टर पदस्थ हैं। 8.8 डॉक्टर एक.एक सप्ताह जिला अस्पताल में सेवाएं देंगे ताकि उनका यह अनुभव बढ़े। इसके अलावा नर्सिंग स्टाफ की पूर्ति के लिए जिले के नर्सिंग कॉलेज में फाइनल ईयर के 410 स्टूडेंट्स की सूची भी कलेक्टर ने संचालकों से ले ली है। वहीं विवेकानंद कॉलेज ने 25 स्टूडेंट्स जिला अस्पताल को दे भी दिए हैं।