कोविड अनुकूल व्यवहार के अनुसरण में उदाहरण प्रस्तुत करेगा मंदसौर : मुख्यमंत्री श्री चौहान

भोपाल.Desk/ @www.rubarunews.com>> मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि दुनिया के अनुभव बताते हैं कि मास्क लगाने से कोरोना का खतरा 95 प्रतिशत तक कम हो जाता है। हम लॉकडाउन के कष्ट को जल्दी भूल जाते हैं। लॉकडाउन ने कई लोगों के रोजगार और व्यापार को प्रभावित किया है। मास्क लगाने और दूरी बनाए रखने की सावधानी का पालन करने से संक्रमण को नियंत्रित किया जा सकता है। इससे हम रोजगार और व्यापार की आर्थिक गतिविधियों को जारी रख सकते हैं। अब कोविड अनुकूल व्यवहार का पालन करने में उदाहरण प्रस्तुत करने का मौका है। निश्चित ही “अद्भुत-अद्वितीय मंदसौर” इस दिशा में पहल करेगा।

मुख्यमंत्री श्री चौहान मंदसौर में नवनिर्मित आरटी-पीसीआर लेब का निवास से वर्चुअल लोकार्पण कर रहे थे। वित्त तथा वाणिज्यिक कर मंत्री  जगदीश देवड़ा और विधायक गरोठ-भानपुरा  देवीलाल धाकड़ ने भी कार्यक्रम में मुख्यमंत्री निवास से सहभागिता की। कार्यक्रम में मंदसौर से विधायक मंदसौर  यशपाल सिंह सिसोदिया उपस्थित थे।

 

50 लाख की लागत की लेब

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मंदसौर पहला जिला है जहाँ मेडिकल कॉलेज के अलावा आरटी-पीसीआर लैब स्थापित किये गये। विधायक  यशपाल सिंह सिसोदिया द्वारा विधायक निधि से दिये गये 35 लाख और समाज सेवी तथा उद्योगपति  प्रदीप गनेड़ीवाल द्वारा 15 लाख के सहयोग से कुल 50 लाख रूपये की लागत से यह लेब स्थापित की गई है। यह लेब “जहाँ चाह वहाँ राह” की उक्ति को  चरितार्थ करती है। लेब स्थापना के साथ 250 से अधिक बेड पर सेंट्रल ऑक्सीजन लाईन, 400 ऑक्सीजन कॉन्संट्रेटर, आईसीयू बेड की स्थापना कर जिला चिकित्सालय का कायाकल्प किया गया है, जो मंदसौर की सेवा और सहयोगी भावना को दर्शाता है।

 

तीसरी लहर रोकना है

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि आरटी-पीसीआर लेब की स्थापना से टेस्ट की संख्या बढ़ाने में मदद मिलेगी। जिले के कोने-कोने में टेस्ट किये जायें। कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग, पॉजिटिव लोगों का आईसोलेशन, इलाज और किल कोरोना अभियान निरंतर जारी रहे। लेब स्थापना तथा अस्पतालों में सुविधाओं का विस्तार कोरोना की तीसरी लहर का सामना करने के लिए किया जा रहा है। हमारा कोरोना अनुकूल व्यवहार एैसा हो कि तीसरी लहर प्रदेश को प्रभावित ही नहीं कर सके।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने समाजसेवियों को सराहा

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मंदसौर में एक जिला-एक उत्पाद के अंतर्गत लहसुन की प्रोसेसिंग, गुणवत्ता सुधार और राष्ट्रीय, अंतर्राष्ट्रीय बाजार में बेहतर मार्केटिंग के लिए हरसंभव गतिविधियाँ संचालित की जाएंगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कोरोना काल में सुश्री निर्मिला देवी कालोरिया के साथ जिले के अन्य समाजसेवियों की पहल और सहयोग की सराहना भी की।

 

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने किया “गार्लिक मंदसौर” फिल्म का विमोचन

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश के तहत ”एक जिल-एक उत्पाद” के आधार पर मंदसौर में होने वाले लहसुन की ब्रांडिंग के लिए निर्मित “गार्लिक मंदसौर” फिल्म का विमोचन किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने जिले में पुरातत्व और पर्यटन स्थलों के प्रचार-प्रसार के लिए निर्मित मंदसौर गीत और मंदसौर दर्शन लघु फिल्मों का भी विमोचन किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान द्वारा मुख्यमंत्री कोविड”19 अनुकंपा नियुक्ति योजना में 25 व्यक्तियों तथा मुख्यमंत्री कोविड-19 बाल सेवा योजना में 33 बच्चों को लाभान्वित किया गया।  जन-सहयोग और जन-भागीदारी से 125 बच्चों को प्रतिमाह 2 हजार रूपये की सहयोग राशि का प्रदाय भी आरंभ किया गया।