नन्हे बालकों ने रंगों से दिया पर्यावरण बचाने का संदेश.

बून्दी.KrishnakantRathore/ @www.rubarunews.com- उमंग संस्थान द्वारा पर्यावरण दिवस पर आयोजित ऑनलाइन स्वर्गीय प्रतिपाल कौर स्मृति राष्ट्रीय पर्यावरण मित्र पोस्टर प्रतियोगिता मैं बच्चे और बड़ों सभी ने बढ़ चढ़कर भाग लेते हुए पर्याव्रण संरक्षण औश्र आवश्यकता का संदेश दिया।

 

प्रतिभागियों के कार्य की सराहना करते हुए संस्थान की अध्यक्ष सविता लौरी ने कहा कि ऐसे आयोजनों से बालक बालिकाओं सहित सभी को अपनी प्रतिभा दिखाने का अवसर प्राप्त होता है और उनकी सृजनात्मकता की पहचान भी होती हैं। बालक बालिकाओं की अभिव्यक्ति से पर्यावरणीय सरोकारों के लिए उनकी लगन का पता चलता हैं।

पर्यावरण संरक्षण की बात करते हुए प्रतिपाल मेमोरियल ट्रस्ट के अध्यक्ष गुरमीत सिंह ने कहा कि अभी भी हमारे पास प्रकृति को संवारने और संजोने का समय हैं जिसका सदुपयोग हमें पर्यावरण संरक्षण और संवर्धन में करना चाहिए। अन्यथा प्राकृतिक संपदा और पशु पक्षी और जैव विविधता केवल किताबी पन्नों में मिलेंगी।

संस्थान के सचिव कृष्णकांत राठौर ने बताया कि उमंग द्वारा आयोजित इस राष्ट्रीय पर्यावरण मित्र पोस्टर प्रतियोगिता में राजस्थान, गुजरात, दिल्ली, आसाम, कर्नाटक, पश्चिम बंगाल, बिहार, उत्तर प्रदेश, छतीसगढ़, मध्य प्रदेश समेत 12 राज्यों के 175 बालक बालिकाओं ने अपने पर्यावरणीय विचारों को रंगो से अभिव्यक्त किया। इनमें सभी आयुवर्ग के प्रतिभागियों ने अपना उत्कृष्ट प्रदर्शन करते हुए अपने विचारों को तूलिका के माध्यम से बताने का प्रयास किया है।

प्रतियोगिता के की प्रभारी लोकेश ने जानकारी देते हुए बताया कि प्रतिपाल कौर स्मृति राष्ट्रीय पर्यावरण मित्र पोस्टर प्रतियोगिता के पर्यवीक्षक डाॅ.युवराज सिंह, नन्दप्रकाश नंजी, समन्वयक सर्वेश तिवारी, संयोजक रेहाना चिश्ति, सहसंयोजक महेश श्रृंगी प्रतियोगतिा के परिणाम को अंतिम रूप देने में लगे हुए है।